कालाधन रखने वालों से 90 फीसदी टैक्स वसूला जाएगा, आयकर कानून में हो सकता है बदलाव

नई दिल्ली। नोटबंदी के फैसले के बाद खातों में जमा हुई रकम पर सरकार की सीधी नजर है। भ्रष्टाचारियों पर नकेल कसने के लिए सरकार ने पहले से इंतजाम कर रखे हैं। जो लोग कालेधन को सफ़ेद करने के लिए दूसरों के अकाउंट का इस्तेमाल कर रहे हैं, उनकी मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। बेहिसाब रकम रखने वालों को जल्द ही बड़ा झटका लगने वाला है। जल्द ही एक अध्यादेश लाकर सरकार आयकर कानून में बदलाव कर सकती है। जिसके बाद खातों में 30 दिसंबर तक जमा हुई बेहिसाब रकम पर 50 फीसदी आयकर लग सकता है।




PM मोदी की लग चुकी है मुहर—

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई कैबिनेट की मीटिंग में इस कानून में बदलाव को लेकर मुहर लग चुकी है। सूत्रों का कहना है कि यदि किसी भी व्यक्ति ने खाते में जमा की गयी अघोषित राशि का खुलासा आयकर विभाग के अधिकारियों के समक्ष कर देता है, तो उससे 50 फीसदी आयकर वसूला जाएगा। साथ ही 50 फीसदी टैक्स चुकाने के बाद बची हुई राशि में से आधी रकम पर चार वर्ष की लॉक इन अवधि की भी बाध्यता रहेगी।




वहीं अगर कोई भी व्यक्ति अपनी अघोषित रकम का खुलासा नहीं करता है और आयकर विभागा इसका अपता लगा लेता है तो उस पर कुल 90 फीसदी का टैक्स पैनाल्टी वसूला जाएगा।

Loading...