IT की छापेमारी में सिंचाई विभाग के एक्सईएन के यहां मिले 17 लाख के नए नोट और 2.50 करोड़ के पुराने नोट

मेरठ। उतर प्रदेश के मेरठ जिले में सोमवार को आयकर विभाग की टीम ने सिंचाई विभाग के एग्जिक्युटिव इंजीनियर आर के जैन के कार्यालय और आवास और बैंक के लाकरों पर छापेमारी कर 2.67 करोड़ रूपये और 30 चांदी की सिल्लिया जप्त किए।




मेरठ आयकर विभाग के संयुक्त आयकर आयुक्त (अनुसंधान) एम के जैन ने मीडिया को बताया कि एई आरके जैन के मेरठ और गाजियाबाद के वसुंधरा स्थित आवासों पर सोमवार सुबह एक साथ छापामारी कर जैन के मेरठ स्थित सरकारी आवास से 22 लाख रुपये नकद मिले और इसमें से करीब 17 लाख के 2 हजार के नये नोट थे। और 5 लाख के पुराने 1000 के नोट थे।

संयुक्त आयकर आयुक्त एम के जैन के निर्देश पर देर रात तक चली कार्रवाई में आयकर विभाग ने जब गहन जांच की तो लॉकर से मिली पुरानी करेंसी और चांदी की सिल्लिया। इनकम टैक्स डिपार्मेंट की टीम ने उनके ईव्ज चौराहे से आगे शिवपुरी में स्थित सिंडीकेंट बैंक के लॉकर खुलवाए। यहां मौजूद दो लॉकरों के अंदर से छापेमारी कर रही टीम को 2 करोड़ 50 लाख रुपये की पुरानी करेंसी मिली। ये सभी नोट पुराने 1000 रुपये के हैं।




इसके अलावा लॉकर में रखी 30 किलो चांदी मिली। इतनी बड़ी रकम लॉकर से मिलने के बाद अब तक टीम को गुमराह करने का प्रयास कर रहे आरके जैन चुप्पी साध गए। फिलहाल इनकम टैक्स डिपार्मेंट की टीम अभी उनसे बरामद नकदी के बारे में पूछताछ कर रही है।