राजस्थान के 26 ठिकानों समेत दिल्ली, मुंबई में कई जगह आयकर की छापेमारी

raid_3117965_835x547-m

नई दिल्ली: राजस्थान के कई कारोबारी समूहों के खिलाफ आयकर विभाग की सोमवार को हुई छापेमारी के बाद सीबीडीटी ने बयान जारी किया है। आयकर विभाग ने राजस्थान, दिल्ली, मुंबई में छापेमारी की है। सीबीडीटी ने बयान में कहा कि विभाग ने तीन समूहों के खिलाफ छापेमारी की। ये ऑपरेशंस जयपुर में 20, कोटा में 6, दिल्ली में 8 और मुंबई में 9 ठिकानों पर चलाए गए।

Income Tax Raids In Delhi Mumbai Including 26 Places In Rajasthan :

सीबीडीटी की आधिकारिक प्रवक्ता के अनुसार, जिन समूहों पर छापे डाले गए, उनके कारोबार होटल, हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट्स, मेटल और ऑटो सेक्टर में हैं। विभाग को इन समूहों के खिलाफ अघोषित आय से अचल संपत्ति में निवेश करने का संदेह है। एक समूह सिल्वर / गोल्ड ज्वैलरी और एंटीक सिल्वर आर्टिकल्स के कारोबार में है और इसके कई अन्य देश जैसे ब्रिटेन, अमेरिका आदि में कारोबार है। इसके साथ ही इन देशों में प्रॉपर्टी और बैंक खाते भी हैं। समूह के खिलाफ मुख्य आरोप चांदी के आभूषण कारोबार को लेकर है। वहीं, जिस एक और समूह पर छापा मारा गया, वह होटल के कारोबार में है।

सीबीडीटी ने बयान में आगे कहा है कि छापेमारी के दौरान कागज/ डायरियों / डिजिटल डाटा के रूप में कई स्पष्ट सबूत पाए गए हैं, जो बुलियन में व्यापार, संपत्तियों में नकदी के निवेश आदि का संकेत देते हैं। आगे की जांच जारी है। गौरतलब है कि राजस्थान में छापेमारी ऐसे वक्त हुई है जब राज्य में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच सियासी खींचतान चल रही है। दिल्ली और राजस्थान में कांग्रेस के पार्टी सूत्रों ने छापों के समय को लेकर सवाल उठाए हैं और इस कार्रवाई की निंदा की है।

नई दिल्ली: राजस्थान के कई कारोबारी समूहों के खिलाफ आयकर विभाग की सोमवार को हुई छापेमारी के बाद सीबीडीटी ने बयान जारी किया है। आयकर विभाग ने राजस्थान, दिल्ली, मुंबई में छापेमारी की है। सीबीडीटी ने बयान में कहा कि विभाग ने तीन समूहों के खिलाफ छापेमारी की। ये ऑपरेशंस जयपुर में 20, कोटा में 6, दिल्ली में 8 और मुंबई में 9 ठिकानों पर चलाए गए। सीबीडीटी की आधिकारिक प्रवक्ता के अनुसार, जिन समूहों पर छापे डाले गए, उनके कारोबार होटल, हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट्स, मेटल और ऑटो सेक्टर में हैं। विभाग को इन समूहों के खिलाफ अघोषित आय से अचल संपत्ति में निवेश करने का संदेह है। एक समूह सिल्वर / गोल्ड ज्वैलरी और एंटीक सिल्वर आर्टिकल्स के कारोबार में है और इसके कई अन्य देश जैसे ब्रिटेन, अमेरिका आदि में कारोबार है। इसके साथ ही इन देशों में प्रॉपर्टी और बैंक खाते भी हैं। समूह के खिलाफ मुख्य आरोप चांदी के आभूषण कारोबार को लेकर है। वहीं, जिस एक और समूह पर छापा मारा गया, वह होटल के कारोबार में है। सीबीडीटी ने बयान में आगे कहा है कि छापेमारी के दौरान कागज/ डायरियों / डिजिटल डाटा के रूप में कई स्पष्ट सबूत पाए गए हैं, जो बुलियन में व्यापार, संपत्तियों में नकदी के निवेश आदि का संकेत देते हैं। आगे की जांच जारी है। गौरतलब है कि राजस्थान में छापेमारी ऐसे वक्त हुई है जब राज्य में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच सियासी खींचतान चल रही है। दिल्ली और राजस्थान में कांग्रेस के पार्टी सूत्रों ने छापों के समय को लेकर सवाल उठाए हैं और इस कार्रवाई की निंदा की है।