नोटबंदी के बाद मिला 142 करोड़ का खजाना

नई दिल्ली। आयकर विभाग ने शुक्रवार को एक्सिस बैंक की चांदनी चौक शाखा में छापेमारी की जहां भारी अनियमितताएं पाई गई हैं। केवाईसी (अपने ग्राहक को जानो) मानक पूरा नहीं करने वाले 44 खातों में 100 करोड़ रुपए जमा पाए गए हैं और अधिकारियों से पूछताछ जारी है। आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार चांदनी चौक शाखा का सर्वे किया गया है जिसमें 15 फर्जी खाता पाए गए हैं। उनमें 70 करोड़ रुपए जमा हैं। नोटबंदी के मद्देनजर 8 नवम्बर के बाद बैंक की इस शाखा में विभिन्न खातों में 450 करोड़ रुपए जमा हुए हैं।




नोटबंदी के बाद कर चोरी मामलों के तलाशी अभियान में लगे आयकर विभाग को शहर के कई स्थानों पर छापों के दौरान बड़ी सफलता हाथ लगी है। विभाग को तलाशी अभियान में 10 करोड़ रुपए के नए नोटों, 127 किलो सोने सहित कुल 142 करोड़ रुपए की अघोषित संपत्ति का बड़ा खजाना हाथ लगा है। सरकार द्वारा आठ नवम्बर को 500 और 1,000 रपए के पुराने नोटों को चलन से बाहर करने के बाद नोटों की जब्ती का यह सबसे बड़ा मामला है। आयकर विभाग की जांच इकाई द्वारा बृहस्पतिवार को चेन्नई में आठ स्थानों पर की गई तलाशी के दौरान यह खजाना पकड़ा गया। यह नकदी तमिलनाडु के रेत खनन समूह से जुड़ी बताई जाती है।




आयकर विभाग के अधिकारियों ने बताया, ‘‘समूह के पास पूरे तमिलनाडु राज्य में रेत खनन का लाइसेंस हैं। उसके छह आवासीय और दो कार्यालयों सहित कुल आठ ठिकानों पर तलाशी अभियान चलाया गया। आयकर विभाग की नीति निर्माता संस्था केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने दिल्ली में जारी एक वक्तव्य में कहा है, ‘‘तलाशी के दौरान 96.89 करोड़ रपए की नकदी पुराने नोटों में और 9.63 करोड़ रूपए की नकदी नए 2,000 रुपए के नोटों में जब्त की गई। इसके अलावा 127 किलो सोने की छड़ें मिलीं जिनकी कीमत 36.29 करोड़ रुपए बैठती है, की अघोषित संपत्ति जब्त की गई।’ इस पूरी संपत्ति का कुल मूल्य 142.81 करोड़ रुपए बैठता है।

Loading...