योगी आदित्यनाथ का ऑपरेशन क्लीन, एनकाउंटर के डर से अपराध न करने की तख्ती लेकर घूम रहे अपराधी

योगी आदित्यनाथ का ऑपरेशन क्लीन, एनकाउंटर के डर से अपराध न करने की तख्ती लेकर घूम रहे अपराधी
योगी आदित्यनाथ का ऑपरेशन क्लीन, एनकाउंटर के डर से अपराध न करने की तख्ती लेकर घूम रहे अपराधी

Incountor Criminals Roaming In Karana For No Done Crime

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ऑपरेशन क्लीन का असर दिखने लगा है क्योंकि प्रदेश में कल तक जो दूसरों की जान लेते थे वही अब अपनी जान की भीख मांगते नजर आने लगे हैं। योगी राज में दनादन पुलिस मुठभेड़ों से अपराधियों की बोलती बंद हो गयी है। साल भर में 40 बदमाश मारे जा चुके हैं ।

गांव मोहम्मदपुर राई निवासी दो सगे भाई इरशाद व सालिम उर्फ बाबा गुरुवार को एसपी डॉ. अजयपाल शर्मा के पास पहुंचे। दोनों बदमाशों ने एसपी को शपथ पत्र देकर अपराध नहीं करने का विश्वास दिलाया। इन दोनों भाइयों का अनुसरण करते हुए गांव इस्सापुर खुरगान निवासी सरवर व गय्यूर गुरुवार को कोतवाली कैराना पहुंचे और शपथ-पत्र देकर जीवन में कभी भी अपराध न करने की सौगंध खायी।

कैराना में रंगदारी मांगना व विरोध करने पर उन्हें मौत के घाट उतारना आम बात थी। गैंगस्टर मुकीम काला समेत कई बड़े बदमाश व्यापारियों से रंगदारी वसूलते थे। इसी कारण कैराना में व्यापारियों ने पलायन कर अन्य प्रदेशों व जिलों में अपना ठिकाना बना लिया था। दुनिया-देश में कैराना का पलायन मुद्दा सुर्खियों में रहा।

दोनों युवक हम अपराध नहीं करेंगे, मेहनत मजदूरी से परिवार का पालन-पोषण करेंगे, लिखी तख्तियां लेकर कैराना के बाजारों में घूमे। एसपी डॉ. अजयपाल शर्मा से पूछा गया तो उन्होंने ऐसी जानकारी होने से इंकार किया। उन्होंने कहा कि यदि कोई बदमाश अपराध छोड़कर आम शहरी की तरह शांति से रहना चाहता है तो उसे पुलिस सहयोग करेगी। भाजपा सरकार के बाद माहौल में बदलाव आया। शामली व कैराना में बदमाशों के एनकाउंटर के बाद बदमाशों में पुलिस का खौफ सिर चढ़कर बोल रहा है।

भाजपा सरकार के बाद माहौल में बदलाव आया। योगी सरकार में दिसंबर 2017 तक 895 पुलिस एनकाउंटर हो चुके हैं। एक अनुमान के मुताबिक यूपी में रोज 3 एनकाउंटर हो रहे हैं। गोरखपुर जोन में सिर्फ 24 एनकाउंटर दिसंबर 2017 तक हुए हैं। मतलब जनवरी 2018 तक 1 हजार एनकाउंटर के करीब है यूपी पुलिस। एनकाउंटर की इन तस्वीरों को देखकर लगता है योगी का ऑपरेशन क्लीन यूपी में असर कर गया है। कमजोर कानून व्यवस्था वाले उत्तर प्रदेश में अब पुलिस एनकाउंटर मशीन में तब्दील हो गई है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ऑपरेशन क्लीन का असर दिखने लगा है क्योंकि प्रदेश में कल तक जो दूसरों की जान लेते थे वही अब अपनी जान की भीख मांगते नजर आने लगे हैं। योगी राज में दनादन पुलिस मुठभेड़ों से अपराधियों की बोलती बंद हो गयी है। साल भर में 40 बदमाश मारे जा चुके हैं । गांव मोहम्मदपुर राई निवासी दो सगे भाई इरशाद व सालिम उर्फ बाबा गुरुवार को एसपी डॉ. अजयपाल शर्मा के…