नेपाल में बढ़ी सियासी हलचल, राष्ट्रपति से मिले पीएम ओली, बजट सत्र स्थगित

nepal
नेपाल में बढ़ी सियासी हलचल, राष्ट्रपति से मिले पीएम ओली, बजट सत्र स्थगित

काठमांडू। नेपाल में सियासी हलचल बढ़ गयी है। भारत के खिलाफ बयानबाजी को लेकर प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली पर पद छोड़ने का दबाव बनाया जा रहा है। इस बीच खबर है कि वह देश को संबोधित करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने राष्ट्रपति बिध्या देवी भंडारी से शीतल निवास पर मुलाकात की है।

Increased Political Stir In Nepal Pm Oli Met With President Budget Session Postponed :

वहीं, अब अटकलें तेज हो गयीं कि पीएम केपी शर्मा ओली इस्तीफा दे सकते हैं। वहीं, नेपाल सरकार ने संसद के बजट सत्र को रद करने का फैसला किया है। बता दें कि, प्रधानमंत्री ओली और पूर्व प्रधानमंत्री पुष्पा कमल दहल प्रचंड के बीच विवाद बढ़ने लगा है। ओली के बलूवाटार स्थित सरकारी आवास पर हुई कैबिनेट की बैठक में संसद का बजट सत्र स्थगित करने का फैसला लिया गया है।

राष्ट्रपति ने संसदीय सत्र को रद करने के प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए इसे संसद सचिवालय को भेज दिया है। दूसरी तरफ बलुवाटार में चल रही कम्युनिस्ट पार्टी की स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में केपी शर्मा ओली शामिल नहीं हुए। बता दें कि, नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी के नेता लगातार प्रधानमंत्री से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। पार्टी की स्थायी समिति की बैठक में पुष्प कमल दहल प्रचंड, माधव नेपाल, झलनाथ खनाल और बामदेव गौतम सहित वरिष्ठ नेताओं ने ओली से इस्तीफा देने को कहा था।

पार्टी में विभाजन की खबरों के बीच बुधवार को ओली ने कैबिनेट मंत्रियों सहित अपने प्रमुख विश्वासपात्रों के साथ बैठक की थी। एनसीपी की बुधवार की स्थायी समिति की बैठक के दौरान 17 सदस्यों ने ओली के इस्तीफे की मांग की। यह पहली बार है जब कुल 44 स्थायी समिति के सदस्यों में से 31 ओली के खिलाफ खड़े हुए हैं।

काठमांडू। नेपाल में सियासी हलचल बढ़ गयी है। भारत के खिलाफ बयानबाजी को लेकर प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली पर पद छोड़ने का दबाव बनाया जा रहा है। इस बीच खबर है कि वह देश को संबोधित करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने राष्ट्रपति बिध्या देवी भंडारी से शीतल निवास पर मुलाकात की है। वहीं, अब अटकलें तेज हो गयीं कि पीएम केपी शर्मा ओली इस्तीफा दे सकते हैं। वहीं, नेपाल सरकार ने संसद के बजट सत्र को रद करने का फैसला किया है। बता दें कि, प्रधानमंत्री ओली और पूर्व प्रधानमंत्री पुष्पा कमल दहल प्रचंड के बीच विवाद बढ़ने लगा है। ओली के बलूवाटार स्थित सरकारी आवास पर हुई कैबिनेट की बैठक में संसद का बजट सत्र स्थगित करने का फैसला लिया गया है। राष्ट्रपति ने संसदीय सत्र को रद करने के प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए इसे संसद सचिवालय को भेज दिया है। दूसरी तरफ बलुवाटार में चल रही कम्युनिस्ट पार्टी की स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में केपी शर्मा ओली शामिल नहीं हुए। बता दें कि, नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी के नेता लगातार प्रधानमंत्री से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। पार्टी की स्थायी समिति की बैठक में पुष्प कमल दहल प्रचंड, माधव नेपाल, झलनाथ खनाल और बामदेव गौतम सहित वरिष्ठ नेताओं ने ओली से इस्तीफा देने को कहा था। पार्टी में विभाजन की खबरों के बीच बुधवार को ओली ने कैबिनेट मंत्रियों सहित अपने प्रमुख विश्वासपात्रों के साथ बैठक की थी। एनसीपी की बुधवार की स्थायी समिति की बैठक के दौरान 17 सदस्यों ने ओली के इस्तीफे की मांग की। यह पहली बार है जब कुल 44 स्थायी समिति के सदस्यों में से 31 ओली के खिलाफ खड़े हुए हैं।