भारत‑चीन के सैन्य अधिकारियों की बातचीत से सकारात्मक नतीजे आए सामने

India-China-1

नई दिल्ली । चीन ने कहा है कि पूर्वी लद्दाख के सीमा क्षेत्र के हालात को सुधारने के लिए दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों के बीच बातचीत के सकारात्मक नतीजे सामने आये हैं। चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि भारत और चीन में कूटनीतिक और सैन्य माध्यम से चीन‑भारत सीमा के पश्चिमी सेक्टर (पूर्वी लद्दाख) की स्थिति के बारे में कारगर संपर्क कायम किया है तथा दोनों देश एक सकारात्मक मतैक्य पर पहुंचे हैं। प्रवक्ता का यह बयान सरकारी समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित हुआ है।

India %e2%80%91 Chinese Military Officials Talks Yielded Positive Results :

उल्लेखनीय है कि पूर्वी लद्दाख की सीमा की स्थिति के बारे में दोनों देशों के सैन्य अधिकारी अगले कुछ दिनों में वार्ता करने वाले हैं। यह वार्ता सीमा क्षेत्र के तीन स्थानों गलवां घाटी क्षेत्र (पैट्रोलिंग पॉइंट 14), पैट्रोलिंग पॉइंट 15 और हॉट स्प्रिंग्स (पैट्रोलिंग पॉइंट 17) में आयोजित होगी। इस वार्ता में बटालियन कमांडर स्तर के अधिकारी शामिल होंगे।

दोनों पक्षों के सैन्य अधिकारियों की शनिवार को बैठक हुई थी। इस वार्ता में भारत की ओर से लेफ्टिनेंट जनरल और चीन की ओर से मेजर जनरल ने भाग लिया था। इसके बाद चीनी सेना पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा क्षेत्र में दो से ढाई किलोमीटर तक पीछे लौट गई थी। सूत्रों के अनुसार, चीनी सेना की कार्रवाई के जवाब में भारत ने भी अपनी कुछ सैन्य टुकड़ियों और वाहनों को पीछे कर लिया था।

नई दिल्ली । चीन ने कहा है कि पूर्वी लद्दाख के सीमा क्षेत्र के हालात को सुधारने के लिए दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों के बीच बातचीत के सकारात्मक नतीजे सामने आये हैं। चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि भारत और चीन में कूटनीतिक और सैन्य माध्यम से चीन‑भारत सीमा के पश्चिमी सेक्टर (पूर्वी लद्दाख) की स्थिति के बारे में कारगर संपर्क कायम किया है तथा दोनों देश एक सकारात्मक मतैक्य पर पहुंचे हैं। प्रवक्ता का यह बयान सरकारी समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित हुआ है। उल्लेखनीय है कि पूर्वी लद्दाख की सीमा की स्थिति के बारे में दोनों देशों के सैन्य अधिकारी अगले कुछ दिनों में वार्ता करने वाले हैं। यह वार्ता सीमा क्षेत्र के तीन स्थानों गलवां घाटी क्षेत्र (पैट्रोलिंग पॉइंट 14), पैट्रोलिंग पॉइंट 15 और हॉट स्प्रिंग्स (पैट्रोलिंग पॉइंट 17) में आयोजित होगी। इस वार्ता में बटालियन कमांडर स्तर के अधिकारी शामिल होंगे। दोनों पक्षों के सैन्य अधिकारियों की शनिवार को बैठक हुई थी। इस वार्ता में भारत की ओर से लेफ्टिनेंट जनरल और चीन की ओर से मेजर जनरल ने भाग लिया था। इसके बाद चीनी सेना पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा क्षेत्र में दो से ढाई किलोमीटर तक पीछे लौट गई थी। सूत्रों के अनुसार, चीनी सेना की कार्रवाई के जवाब में भारत ने भी अपनी कुछ सैन्य टुकड़ियों और वाहनों को पीछे कर लिया था।