भारत ने राष्ट्रहित के चलते ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स का वीजा किया निरस्त, किया था आर्टिकल 370 का समर्थन

British MP Debbie Abraham
भारत ने राष्ट्रहित के चलते ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स का वीजा किया निरस्त, किया था आर्टिकल 370 का समर्थन

नई दिल्ली। भारत ने राष्ट्रहित के चलते ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स का वीजा निरस्त कर दिया है। भारत सरकार ने ‘राष्ट्रहित के खिलाफ गतिविधियों में शामिल होने के चलते ऐसा कदम उठाया है। आपको बता दें कि ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स सरकार के अनुच्छेद 370 को लेकर उठाए गए कदम की आलोचना करती रही हैं। उन्हें सोमवार को भारत में लैंड करने के बाद दिल्ली एयरपोर्ट में एंट्री देने से मना कर दिया गया था और इसीलिए उन्हें वापस दुबई भेज दिया गया था।

India Canceled Visa Of British Mp Debbie Abraham Due To National Interest Supported Article 370 :

सरकारी सूत्रों की माने तो इस बात की जानकारी उन्हे 14 फरवरी को ही दे दी गयी थी । सूत्रों ने बताया, “डेबी अब्राहम को 7 अक्टूबर, 2019 को ई-बिजनेस वीजा जारी किया गया था। यह वीजा 5 अक्टूबर, 2020 तक बिजनेस मीटिंग में शामिल होने के लिए वैध था। उनका ई-बिजनेस वीजा 14 फरवरी, 2020 को उनके भारत के राष्ट्रीय हित के खिलाफ गतिविधियों में शामिल होने के चलते निरस्त कर दिया गया। ई-बिजनेस वीजा के खारिज होने के बारे में उन्हें 14 फरवरी को ही सूचना दे दी गई थी।

बताया गया कि ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स ने अपने वीजा में दावा किया था कि वो अपने परिवार वालों से मिलना चाहती हैं। जबकि एयरपोर्ट पर ब्रिटेन के नागरिकों के लिए वीजा ऑन अराइवल की कोई सुविधा नहीं है। किसी भी मामले में, पहले जारी किए गए ई-बिजनेस वीजा, बिजनेस मीटिंग में शामिल होने के लिए होते हैं, इनका इस्तेमाल परिवार और दोस्तों से मिलने के लिए नहीं किया जा सकता है, जैसा कि उन्होंने दावा किया था।

नई दिल्ली। भारत ने राष्ट्रहित के चलते ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स का वीजा निरस्त कर दिया है। भारत सरकार ने 'राष्ट्रहित के खिलाफ गतिविधियों में शामिल होने के चलते ऐसा कदम उठाया है। आपको बता दें कि ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स सरकार के अनुच्छेद 370 को लेकर उठाए गए कदम की आलोचना करती रही हैं। उन्हें सोमवार को भारत में लैंड करने के बाद दिल्ली एयरपोर्ट में एंट्री देने से मना कर दिया गया था और इसीलिए उन्हें वापस दुबई भेज दिया गया था। सरकारी सूत्रों की माने तो इस बात की जानकारी उन्हे 14 फरवरी को ही दे दी गयी थी । सूत्रों ने बताया, "डेबी अब्राहम को 7 अक्टूबर, 2019 को ई-बिजनेस वीजा जारी किया गया था। यह वीजा 5 अक्टूबर, 2020 तक बिजनेस मीटिंग में शामिल होने के लिए वैध था। उनका ई-बिजनेस वीजा 14 फरवरी, 2020 को उनके भारत के राष्ट्रीय हित के खिलाफ गतिविधियों में शामिल होने के चलते निरस्त कर दिया गया। ई-बिजनेस वीजा के खारिज होने के बारे में उन्हें 14 फरवरी को ही सूचना दे दी गई थी। बताया गया कि ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स ने अपने वीजा में दावा किया था कि वो अपने परिवार वालों से मिलना चाहती हैं। जबकि एयरपोर्ट पर ब्रिटेन के नागरिकों के लिए वीजा ऑन अराइवल की कोई सुविधा नहीं है। किसी भी मामले में, पहले जारी किए गए ई-बिजनेस वीजा, बिजनेस मीटिंग में शामिल होने के लिए होते हैं, इनका इस्तेमाल परिवार और दोस्तों से मिलने के लिए नहीं किया जा सकता है, जैसा कि उन्होंने दावा किया था।