स्विस बैंकों में पैसा रखने के मामले में ब्रिटेन सबसे आगे, भारत 74वें स्थान पर पहुंचा

bank
स्विस बैंकों में पैसा रखने के मामले में ब्रिटेन सबसे आगे, भारत 74वें स्थान पर पहुंचा

नई दिल्ली। स्विस बैंकों में पैसा रखने के मामले में ब्रिटेन सबसे आगे है। स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) की रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 में कुल जमा रकम का 26% हिस्सा ब्रिटेन के कारोबारियों का था। यहां भारतीयों के रकम रखने में धीरे-धीरे कमी आ रही है। भारत इस समय 74वें नंबर पर है। पिछले साल भारतीयों की जमा रकम में 6% की कमी आई थी, उस वक्त रैंकिंग 73 थी। स्विस बैंकों में जमा रकम में भारतीयों का हिस्सा 0.07% है।

India Drops Down To 74th Rank In Money Parked In Swiss Banks Uk Maintains Top :

टॉप पांच देशों में अमेरिका भी शामिल

स्विस बैंकों में पैसा रखने वाले शीर्ष 5 देशों में अमेरिका भी शामिल है। उसके बाद वेस्टइंडीज, फ्रांस और हांगकांग का नंबर आता है। इन पांच देशों का हिस्सा कुल जमा रकम में 50% से ज्यादा है। टॉप 10 देशों की बात की जाए तो उनका जमा रकम में हिस्सा दो तिहाई और टॉप 15 देशों का हिस्सा 75% है।

शीर्ष 10 देशों में बहामास, जर्मनी, लक्जमबर्ग, केमैन आइलैंड और सिंगापुर शामिल हैं। भारत और पड़ोसी देश स्विस बैंकों में पैसा जमा कराने के मामले में काफी पीछे हैं। पाकिस्तान 82, बांग्लादेश 89, नेपाल 109, श्रीलंका 141, म्यामांर 187 और भूटान 193 नंबर पर है।

स्विस बैंक में किन देशों का कितना पैसा जमा है ?

स्विस बैंक में जमा धन के मामलों में ब्रिटेन पहले नंबर पर है। वहीं इस रैंकिंग में दूसरे स्थान पर अमेरिका, तीसरे स्थान पर वेस्ट इंडीज, चौथे स्थान पर फ्रांस तथा पांचवें स्थान पर हांगकांग है। ये पांच देश, स्विस बैंक में जमा कुल कालेधन का 50% से अधिक धन रखते हैं। वहीं स्विस बैंक में जमा लगभग एक तिहाई पैसा टॉप 10 देशों के नागरिकों का है। टॉप 10 देशों के अन्य देशों में बहामास, जर्मनी, लक्जमबर्ग, कायमान आइलैंड्स और सिंगापुर शामिल हैं।

ब्रिक्स देशों में सबसे पीछे भारत

स्विस बैंक में धन जमा करने के मामले में ब्रिक्स देशों में भारत सबसे पीछे है, जबकि रूस सबसे ऊपर (20वें स्थान पर), चीन 22वें स्थान पर, दक्षिण अफ्रीका 60वें स्थान पर तथा ब्राजील 65वें स्थान पर है।

अन्य देशों को मिला यह स्थान

मॉरीशस को 71वां स्थान मिला है। न्यू जीलैंड 59वें स्थान पर, वेनेजुएला 52वें स्थान पर, थाईलैंड 39वें स्थान पर, कनाडा 36वें स्थान पर, तुर्की 30वें स्थान पर, इजरायल 28वें स्थान पर, सऊदी अरब 21वें स्थान पर, पनामा 18वें स्थान पर, इटली 15वें स्थान पर और ऑस्ट्रेलिया 13वें स्थान पर है।

नई दिल्ली। स्विस बैंकों में पैसा रखने के मामले में ब्रिटेन सबसे आगे है। स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) की रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 में कुल जमा रकम का 26% हिस्सा ब्रिटेन के कारोबारियों का था। यहां भारतीयों के रकम रखने में धीरे-धीरे कमी आ रही है। भारत इस समय 74वें नंबर पर है। पिछले साल भारतीयों की जमा रकम में 6% की कमी आई थी, उस वक्त रैंकिंग 73 थी। स्विस बैंकों में जमा रकम में भारतीयों का हिस्सा 0.07% है। टॉप पांच देशों में अमेरिका भी शामिल स्विस बैंकों में पैसा रखने वाले शीर्ष 5 देशों में अमेरिका भी शामिल है। उसके बाद वेस्टइंडीज, फ्रांस और हांगकांग का नंबर आता है। इन पांच देशों का हिस्सा कुल जमा रकम में 50% से ज्यादा है। टॉप 10 देशों की बात की जाए तो उनका जमा रकम में हिस्सा दो तिहाई और टॉप 15 देशों का हिस्सा 75% है। शीर्ष 10 देशों में बहामास, जर्मनी, लक्जमबर्ग, केमैन आइलैंड और सिंगापुर शामिल हैं। भारत और पड़ोसी देश स्विस बैंकों में पैसा जमा कराने के मामले में काफी पीछे हैं। पाकिस्तान 82, बांग्लादेश 89, नेपाल 109, श्रीलंका 141, म्यामांर 187 और भूटान 193 नंबर पर है। स्विस बैंक में किन देशों का कितना पैसा जमा है ? स्विस बैंक में जमा धन के मामलों में ब्रिटेन पहले नंबर पर है। वहीं इस रैंकिंग में दूसरे स्थान पर अमेरिका, तीसरे स्थान पर वेस्ट इंडीज, चौथे स्थान पर फ्रांस तथा पांचवें स्थान पर हांगकांग है। ये पांच देश, स्विस बैंक में जमा कुल कालेधन का 50% से अधिक धन रखते हैं। वहीं स्विस बैंक में जमा लगभग एक तिहाई पैसा टॉप 10 देशों के नागरिकों का है। टॉप 10 देशों के अन्य देशों में बहामास, जर्मनी, लक्जमबर्ग, कायमान आइलैंड्स और सिंगापुर शामिल हैं। ब्रिक्स देशों में सबसे पीछे भारत स्विस बैंक में धन जमा करने के मामले में ब्रिक्स देशों में भारत सबसे पीछे है, जबकि रूस सबसे ऊपर (20वें स्थान पर), चीन 22वें स्थान पर, दक्षिण अफ्रीका 60वें स्थान पर तथा ब्राजील 65वें स्थान पर है। अन्य देशों को मिला यह स्थान मॉरीशस को 71वां स्थान मिला है। न्यू जीलैंड 59वें स्थान पर, वेनेजुएला 52वें स्थान पर, थाईलैंड 39वें स्थान पर, कनाडा 36वें स्थान पर, तुर्की 30वें स्थान पर, इजरायल 28वें स्थान पर, सऊदी अरब 21वें स्थान पर, पनामा 18वें स्थान पर, इटली 15वें स्थान पर और ऑस्ट्रेलिया 13वें स्थान पर है।