1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. भारत के Super Power और Super Economic Power बनने के लिए उन्नत प्रौद्योगिकी जरूरी : राजनाथ सिंह

भारत के Super Power और Super Economic Power बनने के लिए उन्नत प्रौद्योगिकी जरूरी : राजनाथ सिंह

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Union Defense Minister Rajnath Singh) ने शुक्रवार कहा कि भारत सुपर पॉवर (India's super power) और सुपर इकॉनमिक पॉवर (Super Economic Power ) बन सकता है, लेकिन इसके लिए हमें उन्नत प्रौद्योगिकी (Advanced Technology) हासिल करनी होगी। उन्होंने कहा कि उन्नत या आला प्रौद्योगिकी के बिना भारत को एक महाशक्ति बनाना संभव नहीं है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

पुणे। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Union Defense Minister Rajnath Singh) ने शुक्रवार कहा कि भारत सुपर पॉवर (India’s super power) और सुपर इकॉनमिक पॉवर (Super Economic Power ) बन सकता है, लेकिन इसके लिए हमें उन्नत प्रौद्योगिकी (Advanced Technology) हासिल करनी होगी। उन्होंने कहा कि उन्नत या आला प्रौद्योगिकी के बिना भारत को एक महाशक्ति बनाना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि जब हम रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) जैसे संस्थानों के बारे में सोचते हैं तो हमें गर्व की अनुभूति होती है। वे पुणे स्थित डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस टेक्नोलॉजी (DIAT ) में बोल रहे थे।

पढ़ें :- T20 World Cup: क्या इस नो बॉल की वजह से हारा भारत? ट्वीटर पर भारत के प्रशंसक उठा रहे सवाल

केंद्रीय मंत्री ने भारत को महाशक्ति बनाने की दिशा में रक्षा मंत्रालय के तरफ से उठाए गए कदमों का भी उल्लेख करते हुए कहा कि रक्षा मंत्रालय द्वारा कई पहलें की गई हैं, जहां सैन्य, शिक्षाविदों, उद्योग और सरकार के प्रतिनिधि ज्ञान और सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा करने के लिए एक मंच पर एक साथ आ सकते हैं। जो नवाचार (Innovation) के मार्ग का नेतृत्व करने में मदद कर सकते हैं।

पढ़ें :- T20 World Cup: टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन का ऐलान, जानिए कौन-कौन खेल रहा है

राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने रक्षा क्षेत्र के लिए बजट में किए गए आवंटन का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार ने इस वर्ष 1000 करोड़ का बजट iDEX से जुड़ी खरीददारियों के लिए अनुमोदित किया है। डिफेंस और एयरोस्पेस सेक्टर में इनोवेशन को बढ़ावा (Promotion of innovation in defense and aerospace sector) देने के लिए 300 से अधिक स्टार्टअप्स की सहायता के लिए 500 करोड़ अलग से आवंटित किए हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...