कश्मीर पर भारत को रूस का साथ, राजदूत बोले- ‘भारत का आंतरिक मामला, हमें शक नहीं’

russia
कश्मीर पर भारत को रूस का साथ, राजदूत बोले- 'भारत का आंतरिक मामला, हमें शक नहीं'

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के आर्टिकल 370 समाप्त किए जाने के फैसले पर भारत को कई देशों से भरपूर समर्थन मिल रहा है। अब रूस के दूत निकोले कुदाशेव ने शुक्रवार को कहा कि रूस को कश्मीर पर भारत के रुख को लेकर कोई शंका नहीं है और यह पूरी तरह से भारत तथा पाकिस्तान के बीच का द्विपक्षीय मामला है। रूसी राजदूत ने संकेत दिया कि कश्मीर पर भारत सरकार की जो भी नीति है, वो उसके साथ खड़ा है. साथ ही कहा है कि ये रूस के लिए मुद्दा नहीं है।  

India Is Supported By Russia On Kashmir Ambassador Said Indias Internal Matter We Do Not Doubt :

कश्मीर पर फैसला भारत का आंतरिक मामला

भारत में रूस के राजदूत निकोल कुदशेव ने विदेशी राजदूतों के कश्मीर दौरे पर भी अपनी राय रखी। उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता है कि कश्मीर के हालात का जायजा लेने के लिए मुझे वहां जाने की जरूरत है। जहां तक जम्मू-कश्मीर पर भारत सरकार का फैसला है यह आपका (भारत) आंतरिक मामला है। यह भारत के संविधान के तहत आता है और उसी आधार पर इसका फैसला होना चाहिए।’

कश्मीर को लेकर रूस को भारत पर शक नहीं

कुछ दिन पहले ही विदेशी राजदूतों ने कश्मीर का दौरा किया था। इस पर पूछे सवाल पर कुशदेव ने कहा, ‘जिन्हें कश्मीर के हालात की चिंता है और जिन्हें कश्मीर की परिस्थितियों को लेकर शक है, वह वहां जाकर खुद देख सकते हैं। अगर वह कश्मीर जाना चाहते हैं तो जा सकते हैं। वो लोग वहां जाकर खुद हालात का जायजा ले सकते हैं। हमने कभी ऐसा (कश्मीर) कोई संदेह जाहिर नहीं किया है।’

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के आर्टिकल 370 समाप्त किए जाने के फैसले पर भारत को कई देशों से भरपूर समर्थन मिल रहा है। अब रूस के दूत निकोले कुदाशेव ने शुक्रवार को कहा कि रूस को कश्मीर पर भारत के रुख को लेकर कोई शंका नहीं है और यह पूरी तरह से भारत तथा पाकिस्तान के बीच का द्विपक्षीय मामला है। रूसी राजदूत ने संकेत दिया कि कश्मीर पर भारत सरकार की जो भी नीति है, वो उसके साथ खड़ा है. साथ ही कहा है कि ये रूस के लिए मुद्दा नहीं है।   कश्मीर पर फैसला भारत का आंतरिक मामला भारत में रूस के राजदूत निकोल कुदशेव ने विदेशी राजदूतों के कश्मीर दौरे पर भी अपनी राय रखी। उन्होंने कहा, 'मुझे नहीं लगता है कि कश्मीर के हालात का जायजा लेने के लिए मुझे वहां जाने की जरूरत है। जहां तक जम्मू-कश्मीर पर भारत सरकार का फैसला है यह आपका (भारत) आंतरिक मामला है। यह भारत के संविधान के तहत आता है और उसी आधार पर इसका फैसला होना चाहिए।' कश्मीर को लेकर रूस को भारत पर शक नहीं कुछ दिन पहले ही विदेशी राजदूतों ने कश्मीर का दौरा किया था। इस पर पूछे सवाल पर कुशदेव ने कहा, 'जिन्हें कश्मीर के हालात की चिंता है और जिन्हें कश्मीर की परिस्थितियों को लेकर शक है, वह वहां जाकर खुद देख सकते हैं। अगर वह कश्मीर जाना चाहते हैं तो जा सकते हैं। वो लोग वहां जाकर खुद हालात का जायजा ले सकते हैं। हमने कभी ऐसा (कश्मीर) कोई संदेह जाहिर नहीं किया है।'