चौथा एकदिवसीय: भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 35 रनों से रौंदा, सीरीज बराबर

चेन्नई। भारत एवं दक्षिण अफ्रीका के बीच चेन्नई के एमए चिदम्बरम स्टेडियम में खेले गए चौथे मुक़ाबले में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 35 रनों से हराकर सीरीज 2-2 से बराबर कर ली है। भारत द्वारा मिले 300 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका निर्धारित 50 ओवर में नौ विकेट खोकर 264 रन ही बना सकी। दक्षिण अफ्रीकी कप्तान एबी डिविलियर्स ने भारतीय गेंदबाजों की क्लास लेते हुए शतक जरूर लगाया। लेकिन अपनी टीम को जीत दिलाने में नाकाम  रहे। उधर भारत की ओर से शतक लगाने वाले विराट कोहली को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया।

भारत द्वारा मिले लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका ओपनर हाशिम अमला और क्विंटन डिकॉक ने टीम को तेज शुरूआत दी, डिकॉक ने तो शुरुआत से ही हमला बोल दिया और तेज गेंदबाजों की जमकर पिटाई की। लेकिन यह साझेदारी ज्यादा देर तक मैदान पर टिकी न न रह सकी और अमला छठे ओवर की पहली गेंद पर मोहित शर्मा का शिकार बने। उन्होने सात रन बनाए।

अमला के आउट होने पर फाक डुप्लेसिस बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरे। उधर भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने तेज गेंदबाजों को हटाकर दोनों छोर से स्पिनरों को लगा दिया था।  डुप्लेसिस ने डिकॉक का अच्छा साथ दिया लेकिन डिकॉक अपनी तेज पारी को बहुत आगे तक ले जाने में असमर्थ रहे। वे 12वें  ओवर में हरभजन सिंह की गेंद पर रहाणे को कैच दे बैठे। उन्होने 35 गेंदों में छह चौकों और तीन छक्कों की मदद से 43 रन बनाए। इस समय टीम का स्कोर 67 रन था।

डिकॉक के आउट होने के बाद कप्तान एबी डिविलियर्स मैदान पर उतरे। लेकिन गेंदबाजी संभाल रहे हरभजन सिंह और अक्षर पटेल ने दोनों ही बल्लेबाजों को पूरी तरह से बांध दिया। अभी टीम का स्कोर में 12 रन और जुड़े ही थे कि अक्षर पटेल ने डुप्लेसिस का विकेट झटक कर उन्हे चलता कर दिया। वे 34 गेंदों में 17 रन बनाकर विकेटकीपर कप्तान धोनी के हाथों कैच आउट हुए।

उनके आउट होने पर दक्षिण अफ्रीकी कप्तान का साथ देने के लिए डेविड मिलर मैदान पर आए। लेकिन वह कुछ खास न कर पाये और 88 के कुल योग पर छह रन बनाकर पेवेलियन लौट गए। अब फरहान बेहारदीन मैदान पर थे। वह कप्तान का बखूबी साथ निभा रहे थे। दोनों के बीच पांचवें विकेट के लिए 50 रनों के ज्यादा की साझेदारी हो चुकी थी। यह साझेदारी भारत के लिए खतरनाक साबित होती कि उसके पहले ही अमित मिश्रा ने बेहारदीन को एलबीडबल्यू आउट कर दक्षिण अफ्रीका को पाँचवा झटका दे दिया। उन्होने 22 रनों कि पारी खेली। दोनों बल्लेबाजों के बीच 56 रनों की साझेदारी हुई थी।

बेहारदीन के आउट होने पर मैदान पर आए क्रिस मॉरिस ने कप्तान के साथ मिलकर टीम के स्कोर में 41 रन जोड़े। मॉरिस रहाणे के  थ्रो पर रन आउट हो गये। हालांकि उन्होने सिर्फ नौ रन बनाए। इस समय टीम का स्कोर 185 रन था और उसे अभी भी जीत के लिए 115 रनों की दरकार थी। उधर एबी डिविलियर्स अपना अर्धशतक पूरा कर चुके थे और तेजी से रन बनाने में जुटे थे।

अब कप्तान का साथ देने के लिए आरोन फंगिसों मैदान पर आए। उन्होने कप्तान का साथ मिलकर देते हुए 48 रन जोड़े।  इसी बीच डिविलियर्स ने अपना शतक भी पूरा किया लेकिन वह अपनी इस पारी को अंत तक नहीं ले जा पाये और भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर धोनी को कैच दे बैठे, डिविलियर्स ने 107 गेंदों में 112 रन बनाए। इस समय दक्षिण अफ्रीका का स्कोर सात विकेट के नुकसान पर 233 रन था जबकि उसे अभी भी जीत के लिए 30 गेंदों में 69 रनों की जरूरत थी।

47वां ओवर कप्तान ने भुवनेश्वर कुमार को सौंपा। उन्होने कप्तान के उम्मीदों को जिंदा रखते हुए दक्षिण अफ्रीका के दो बल्लेबाजों को पेवेलियन भेजा जिसमे फंगिसों भी शामिल थी। उन्होने डेल स्टेन को खाता भी नहीं खोलने दिया और पेवेलियन वापस भेज दिया। अब दक्षिण अफ्रीका की हार लगभाग तय हो गयी थी। टीम को आखिरी तीन ओवरों में 49 रनों की जरूरत थी। जबकि उसका एक मात्र विकेट बचा था। उस समय लग रहा था कि दक्षिण अफ्रीकी टीम आल आउट हो जाएगी लेकिन आखिरी दोनों बालेबाजों ने अंत तक बल्लेबाजी की, रबाड़ा आठ और इमरान ताहिर चार रन बनाकर नाबाद लौटे। दक्षिण अफ्रीका की पूरी टीम 50 ओवरों में नौ विकेट खोकर 264 रन ही बना सकी।

भारत की ओर से भुवनेश्वर कुमार ने तीन और हरभजन सिंह ने दो विकेट हासिल किया, इसके अलावा अमित मिश्रा, अक्षर पटेल और मोहित शर्मा को एक-एक विकेट मिला। उन्होने 22 रनों कि पारी खेली।

इससे पहले भारत ने रोहित शर्मा (21) और शिखर धवन (7) के विकेट जल्दी-जल्दी गंवाने के बाद कोहली और अजिंक्य रहाणे (45) तथा कोहली और सुरेश रैना (53) के बीच हुई दो बेहतरीन शतकीय साझेदारियों के बल पर निर्धारित 50 ओवरों में आठ विकेट पर 299 रनों का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। 45वें ओवर तक 266 रन बना चुकी भारतीय टीम हालांकि आखिरी के 31 गेंदों में सिर्फ 33 रन बना सकी और चार विकेट भी गंवाए। दक्षिण अफ्रीका के लिए डेल स्टेन और कैगिसो रबाडा ने तीन-तीन विकेट चटकाए।

यह मैच जीतने के साथ ही भारत ने सीरीज 2-2 से बराबर कर ली है। अब सीरीज का आखिरी मैच 25 अक्तूबर को मुंबई वानखेडे स्टेडियम में खेला जाएगा।