1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. भारत ने पाक से कुलभूषण जाधव के लिए मांगा भारतीय वकील

भारत ने पाक से कुलभूषण जाधव के लिए मांगा भारतीय वकील

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: भारत ने जोर दिया कि वह चाहता है कि जब पाकिस्तान की अदालत में कुलभूषण जाधव की मौत की सजा की समीक्षा याचिका पर सुनवाई हो तो उनका प्रतिनिधित्व भारतीय वकील करें। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने संवाददाताओं से कहा कि भारत राजनयिक माध्यमों के जरिए जाधव से जुड़े मामले में पाकिस्तान से सम्पर्क में है।

अनुराग ने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के फैसले की भावना के अनुरूप स्वतंत्र एवं निष्पक्ष सुनवाई के लिए हमने एक भारतीय वकील द्वारा जाधव का प्रतिनिधित्व करने को कहा है। हालांकि पाकिस्तान को पहले इस मुद्दे के मुख्य बिंदुओं पर ध्यान देना चाहिए और मामले से संबंधित कागजात और जाधव को बेरोकटोक राजनयिक पहुंच प्रदान करनी चाहिए।’ गौरतलब है कि हाल ही में इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने जाधव मामले में तीन वरिष्ठ वकीलों को न्याय मित्र नामित किया था और पाकिस्तान सरकार को आदेश दिया था कि मौत की सजा का सामना कर रहे जाधव के लिए वकील नियुक्त करने का भारत को एक और मौका दे।

ICJ ने पिछले साल दिया था फैसला
आपको बता दें कि भारतीय नौसेना के 49 वर्षीय सेवानिवृत्त अधिकारी को पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने अप्रैल 2017 में ‘जासूसी और आतंकवाद’ के आरोपों में मौत की सजा सुनाई थी। कुछ हफ्ते बाद भारत ने जाधव को राजनयिक पहुंच देने से इनकार करने और उनकी मौत की सजा को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) में चुनौती दी थी। आईसीजे ने पिछले वर्ष जुलाई में फैसला दिया कि पाकिस्तान को जाधव की सजा पर ‘प्रभावी समीक्षा और पुनर्विचार’ करना चाहिए और अविलंब राजनयिक पहुंच मुहैया करानी चाहिए। बीती 16 जुलाई को पाकिस्तान ने जाधव को दूसरी राजनयिक पहुंच भी दी। इसके लिए पुनर्विचार याचिका पर दस्तखत कराने भारतीय राजनयिक जाधव से मिलने पहुंचे थे।

क्या है Consular Access?
दरअसल, 1963 में बनी संयुक्त राष्ट्र संघ की ‘विएना कन्वेन्शन ऑन कॉन्सुलर रिलेशंस’ संधि के मुताबिक अगर किसी देश में किसी दूसरे देश के नागरिक को जासूसी या आतंकवाद के आरोप में गिरफ्तार किया जाता है, तो उसे उसके देश के राजनियक से मिलने की इजाजत नहीं दी जा सकती है। पाकिस्तान इसी के आधार पर भारत को कॉन्सुलर ऐक्सेस की इजाजत नहीं दे रहा था क्योंकि उसका दावा है कि जाधव भारतीय जासूस हैं। हालांकि, भारत इस आरोप को खारिज करता है और इसीलिए कॉन्सुलर ऐक्सेस की मांग करता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...