भारत के इन मंदिरों में पुरूषों की है No Entry

आप ने बहुत से ऐसे धार्मिक स्थानों के विषय में जाना और सुना होगा जहां महिलाओं का प्रवेश वर्जित है। लेकिन आज हम ऐसे धार्मिक स्थानों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां महिलाओं नहीं बल्कि पुरुषों के लिए‘No Entry’ होती हो।

यहाँ है पुरूषों की No Entry

{ यह भी पढ़ें:- अनोखा गांव जहां महिला-पुरूष साल में पांच दिन नहीं करते कोई हंसी मजाक }

1: पुष्कर का ब्रह्मा मंदिर

दुनिया के इकलौते ब्रह्मा मंदिर में पुरुषों को जाने की मनाही है। यहां शादी-शुदा पुरुषों का जाना वर्जित है। वैसे तो ब्रह्मा की पूजा नहीं की जाती लेकिन जिन पुरुषों की शादी हो गई है वे यहां ब्रह्माजी के दर्शन करने भी नहीं आ सकते।

2: कन्याकुमारी मंदिर, तमिलनाडु

{ यह भी पढ़ें:- रहस्य: पांच पतियों की पत्नी, लेकिन फिर भी कुंवारी थीं द्रौपदी }

माता के शाक्ति पीठ में से एक मंदिर में कुंवारे पुरुषों के जाने की मनाही है। मान्यता है कि जब विष्णु भगवान ने देवी सती के शरीर को खंडित किया था तो उनकी रीढ़ की हड्डी इस जगह पर गिरी थी। जिसके कारण ये शक्तिपीठ माना जाता है। माना जाता है कि यहां भगवती देवी का वास है और वो संयासी हैं, इसलिए यहां कुंवारे पुरुषों के जाने की मनाही है।

3: अट्टुकल मंदिर, केरल

केरल के इस मंदिर में पोंगल त्यौहार का सबसे बड़ा आयोजन किया जाता है। जिसमें लगभग 30 लाख से भी ज्यादा महिलाएं शामिल होती हैं। यह त्यौहार यहां 10 दिनों तक मनाया जाता है और इन 10 दिनों के दौरान पुरुषों का यहां आना वर्जित होता है। इस मंदिर का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी शामिल है क्योंकि यह एक ऐसा धार्मिक स्थल है जहां इतनी ज्यादा संख्या में महिलाएं खुद इकट्ठी होती हैं।

इसी तरह और भी कई जगहें जहां पुरुषों के जाने की मनाही है। उन जगहों के बारे में जल्द ही मालूम कर हम आपके लिए अगले हिस्से में लाएंगे।

{ यह भी पढ़ें:- सेल्फी ने खोला दो साल पुराने हत्याकांड का सच }

Loading...