मोदी सरकार की बड़ी कूटनीतिक जीत, G20 शिखर सम्मेलन में भारत को मिला गिफ्ट

PM मोदी को मिली बड़ी कूटनीतिक जीत, 2022 का जी-20 शिखर सम्मेलन भारत में
PM मोदी को मिली बड़ी कूटनीतिक जीत, 2022 का जी-20 शिखर सम्मेलन भारत में

नई दिल्ली।  G20 शिखर सम्मलेन में भारत को समूह के अन्य देशों की ओर से गिफ्ट मिला है। यह गिफ्ट मिलना मौजूदा मोदी सरकार की बड़ी कूटनीतिक जीत का संदेश दे रही है। जी-20 दुनिया की 20 बड़ी अर्थव्यवस्थाओं का समूह है। दो दिवसीय शिखर सम्मेलन के समापन समारोह के दौरान प्रधानमंत्री ने इस आशय की घोषणा की। इसी साल भारत की स्वतंत्रता के 75 साल पूरे हो रहे हैं।

India To Host First G20 Summit In 2022 To Coincide With 75th Year Of Independence :

इटली का शुक्रिया जताते हुए मोदी ने कहा, “2022 में भारत अपनी आजादी के 75 साल पूरा कर रहा है। यह हमारे लिए बहुत खास साल है। हम जी-20 के नेताओं का स्वागत करना चाहते हैं। आप भारत आएं, दुनिया की सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था के गौरवशाली इतिहास और विविधता को देखें और भारतीयों को सत्कार को महसूस करें।”


प्रधानमंत्री ने घोषणा के बाद ट्वीट किया, ‘साल 2022 में भारत की आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं। उस विशेष साल में, भारत जी-20 शिखर सम्मेलन में विश्व का स्वागत करने की आशा करता है। विश्व की सबसे तेजी से उभरती सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था भारत में आइए। भारत के समृद्ध इतिहास और विविधता को जानिए और भारत के गर्मजोशी भरे आतिथ्य का अनुभव लीजिए।

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13वें जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए गुरुवार को अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स पहुंचे थे। इस शिखर सम्मेलन में मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्ंरप समेत विश्व के दूसरे नेताओं ने आगामी दशक की नई चुनौतियों से निपटने के तौर तरीकों पर चर्चा की।

रणनीतिक लिहाज से महत्वपूर्ण हिन्द -प्रशांत क्षेत्र में चीन का दबदबा बढ़ने के बीच मोदी ने ट्रंप और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ त्रिपक्षीय बैठक भी की।

नई दिल्ली।  G20 शिखर सम्मलेन में भारत को समूह के अन्य देशों की ओर से गिफ्ट मिला है। यह गिफ्ट मिलना मौजूदा मोदी सरकार की बड़ी कूटनीतिक जीत का संदेश दे रही है। जी-20 दुनिया की 20 बड़ी अर्थव्यवस्थाओं का समूह है। दो दिवसीय शिखर सम्मेलन के समापन समारोह के दौरान प्रधानमंत्री ने इस आशय की घोषणा की। इसी साल भारत की स्वतंत्रता के 75 साल पूरे हो रहे हैं।इटली का शुक्रिया जताते हुए मोदी ने कहा, "2022 में भारत अपनी आजादी के 75 साल पूरा कर रहा है। यह हमारे लिए बहुत खास साल है। हम जी-20 के नेताओं का स्वागत करना चाहते हैं। आप भारत आएं, दुनिया की सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था के गौरवशाली इतिहास और विविधता को देखें और भारतीयों को सत्कार को महसूस करें।'' प्रधानमंत्री ने घोषणा के बाद ट्वीट किया, ‘साल 2022 में भारत की आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं। उस विशेष साल में, भारत जी-20 शिखर सम्मेलन में विश्व का स्वागत करने की आशा करता है। विश्व की सबसे तेजी से उभरती सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था भारत में आइए। भारत के समृद्ध इतिहास और विविधता को जानिए और भारत के गर्मजोशी भरे आतिथ्य का अनुभव लीजिए।बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13वें जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए गुरुवार को अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स पहुंचे थे। इस शिखर सम्मेलन में मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्ंरप समेत विश्व के दूसरे नेताओं ने आगामी दशक की नई चुनौतियों से निपटने के तौर तरीकों पर चर्चा की।रणनीतिक लिहाज से महत्वपूर्ण हिन्द -प्रशांत क्षेत्र में चीन का दबदबा बढ़ने के बीच मोदी ने ट्रंप और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ त्रिपक्षीय बैठक भी की।