बड़ी घोषणा: 59 मिनट में 1 करोड़ तक के लोन की मंजूरी, 3 करोड़ दुकानदारों को पेंशन

f

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बनी एनडीए की सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला आम बजट शुक्रवार को संसद में पेश हुआ। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सुबह 11 बजे संसद में बजट पेश किया। इस बार बजट पेश करने को लेकर चली आ रही पुरानी परंपरा से इतर बजट की कॉपी ब्रीफकेस के बजाय लाल रंग के बैग में रखी गई।

India Union Budget 2019 Live Updates Nirmala Sitharaman Budget Speech Big Announcements :

वहीं बजट को इस बार बही खाता नाम दिया गया है। मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम ने कहा है कि यह हमारी भारतीय परंपरा में है। लाल रंग के बैग में रखी बजट की कॉपी पश्चिमी विचारधारा से हमारी मुक्ति को दर्शाता है। इससे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने मंत्रालय के बाहर निकलकर मीडिया को बजट की कॉपी रखा बैग दिखाया। इस बैग पर अशोक चिह्न है। साथ ही पीले रंग के फीते से पूरा बैग लिपटा हुआ है।

इस बार के बजट में क्या रही बड़ी घोषणाएं चलिए हम आपको बताते हैं।
7 करोड़ घरों को बिजली देने का लक्ष्य, 2022 तक गांव के हर परिवार को बिजली।
2022 तक गांव गांव तक बिजली पहुंचाएंगे, 2021 तक 1.95 करोड़ घर देने की योजना।
3 करोड़ दुकानदारों को पेंशन देने का लक्ष्य, 59 मिनट में 1 करोड़ तक के लोन की मंजूरी।
एमएसएमई के लिए के लिए 350 करोड़ रुपये का आवंटन।
बीमा क्षेत्र में 100 प्रतिशत विदेशी निवेेश होगा।
बिजली टैरिफ में सुधार की योजनाए,वन नेशन वन ग्रिड योजना पर पर काम।
छोटो और लघु उद्योगों के लिए ऑनलाइन पोर्टल, बिजली टैरिफ में सुधार की योजना।
रेलवे में पीपीपी मॉडल पर जोर, बुनियादी ढांचे को ठीक करने के लिए 50 हजार करोड़।
एक आदर्श किराया कानून बनाया जाएगा, रेलवे में निजी भागीदारी बढ़ाने पर जोर।
देश के अंदर जलमार्गों पर विकास करना जरूरी है, गंगा नदी पर परिवहन बढ़ाने की कोशिश।
हमारा उद्देश्य देश के लिए मजबूत नागरिक बनाना है।
देश में 210 मेट्रो रूट पर परिचालन शुरू, इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दे रहे है।
देश में लाइसेंस राज के दिन खत्म हो गए है, मेक इन इंडिया से कारोबार बढ़ रहा है।
लोगों तक बुनियादी सुविधाएं पहुंचाने पर जोर देंगे।
बिजनेस कॉरिडॉर से आम आदमी को फायदा मिला है, 2.73 ट्रिलियन डॉलर तक अर्थव्यवस्था पहुंची है7
विदेशी निवेश के लिए देश में बेहतर माहौल है, मुद्रा लोन के जरिए लोगों की जिंदगी बदली है।
खाद्य सुरक्षा पर और दोगुना खर्च किया जाएगा।
प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हर लक्ष्य को पूरा करेंगे, हमने अपनी योजनाओं पर अमल किया है।
यकीन से ही रास्ता निकलता है, देश का हर व्यक्ति बदलाव महसूस कर रहा है।
सरकारी प्रक्रिया को और सरल बनाएंगे।
वर्तमान में भारत विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है पांच साल पहले यह 11वें स्थान पर थी।
बजट में न्यू इंडिया पर जोर।
वित्त मंत्री ने बजट भाषण की शुरुआत में चाणक्य सूत्र और उर्दू के एक का शेर भी पढ़ा।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बनी एनडीए की सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला आम बजट शुक्रवार को संसद में पेश हुआ। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सुबह 11 बजे संसद में बजट पेश किया। इस बार बजट पेश करने को लेकर चली आ रही पुरानी परंपरा से इतर बजट की कॉपी ब्रीफकेस के बजाय लाल रंग के बैग में रखी गई। वहीं बजट को इस बार बही खाता नाम दिया गया है। मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम ने कहा है कि यह हमारी भारतीय परंपरा में है। लाल रंग के बैग में रखी बजट की कॉपी पश्चिमी विचारधारा से हमारी मुक्ति को दर्शाता है। इससे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने मंत्रालय के बाहर निकलकर मीडिया को बजट की कॉपी रखा बैग दिखाया। इस बैग पर अशोक चिह्न है। साथ ही पीले रंग के फीते से पूरा बैग लिपटा हुआ है। इस बार के बजट में क्या रही बड़ी घोषणाएं चलिए हम आपको बताते हैं। 7 करोड़ घरों को बिजली देने का लक्ष्य, 2022 तक गांव के हर परिवार को बिजली। 2022 तक गांव गांव तक बिजली पहुंचाएंगे, 2021 तक 1.95 करोड़ घर देने की योजना। 3 करोड़ दुकानदारों को पेंशन देने का लक्ष्य, 59 मिनट में 1 करोड़ तक के लोन की मंजूरी। एमएसएमई के लिए के लिए 350 करोड़ रुपये का आवंटन। बीमा क्षेत्र में 100 प्रतिशत विदेशी निवेेश होगा। बिजली टैरिफ में सुधार की योजनाए,वन नेशन वन ग्रिड योजना पर पर काम। छोटो और लघु उद्योगों के लिए ऑनलाइन पोर्टल, बिजली टैरिफ में सुधार की योजना। रेलवे में पीपीपी मॉडल पर जोर, बुनियादी ढांचे को ठीक करने के लिए 50 हजार करोड़। एक आदर्श किराया कानून बनाया जाएगा, रेलवे में निजी भागीदारी बढ़ाने पर जोर। देश के अंदर जलमार्गों पर विकास करना जरूरी है, गंगा नदी पर परिवहन बढ़ाने की कोशिश। हमारा उद्देश्य देश के लिए मजबूत नागरिक बनाना है। देश में 210 मेट्रो रूट पर परिचालन शुरू, इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दे रहे है। देश में लाइसेंस राज के दिन खत्म हो गए है, मेक इन इंडिया से कारोबार बढ़ रहा है। लोगों तक बुनियादी सुविधाएं पहुंचाने पर जोर देंगे। बिजनेस कॉरिडॉर से आम आदमी को फायदा मिला है, 2.73 ट्रिलियन डॉलर तक अर्थव्यवस्था पहुंची है7 विदेशी निवेश के लिए देश में बेहतर माहौल है, मुद्रा लोन के जरिए लोगों की जिंदगी बदली है। खाद्य सुरक्षा पर और दोगुना खर्च किया जाएगा। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हर लक्ष्य को पूरा करेंगे, हमने अपनी योजनाओं पर अमल किया है। यकीन से ही रास्ता निकलता है, देश का हर व्यक्ति बदलाव महसूस कर रहा है। सरकारी प्रक्रिया को और सरल बनाएंगे। वर्तमान में भारत विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है पांच साल पहले यह 11वें स्थान पर थी। बजट में न्यू इंडिया पर जोर। वित्त मंत्री ने बजट भाषण की शुरुआत में चाणक्य सूत्र और उर्दू के एक का शेर भी पढ़ा।