1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. भारत वास्तविक नियंत्रण रेखा पर और मजबूत होगा कम्युनिकेशन सिस्टम,चीन की हर चाल पर नजर

भारत वास्तविक नियंत्रण रेखा पर और मजबूत होगा कम्युनिकेशन सिस्टम,चीन की हर चाल पर नजर

India Will Strengthen Communication System On The Line Of Actual Control Keep An Eye On Every Move Of China

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: चीन से वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चल रहे तनाव के बीच भारत अब हर वो तैयारी दुरुस्त कर रहा है जो अभीतक नहीं हुई थी। सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमिटी (CCS) ने LAC के करीब मजबूत कम्युनिकेशन सिस्टम लगाने की मंजूरी दे दी है। सेना के लिए यह तैयारी काफी अहम मानी जा रही है। 7,800 करोड़ रुपये की इस योजना के लागू होने के बाद दुश्मन देश सीमा पर कोई नापाक कारस्तानी नहीं कर पाएंगे। दुश्मन की हर हरकत पर अब सेना की पैनी नजर होगी।

पढ़ें :- वैश्विक भूख सूचकांक: 94वें नंबर पर भारत, नेपाल-बांग्लादेश और पाकिस्तान की हालत बेहतर

रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि CCS ने लंबे समय से आर्मी स्टेटिक स्वीच्ड कम्युनिकेशन नेटवर्क (ASCON) के फेज चार को स्थापित करने की मांग को मंजूरी दे दी है। इसकी स्थापना इंडियन टेलीफोन इंडस्ट्री करेगी। इस मामले में 7,796 करोड़ रुपये के अनुंबध पर हस्ताक्षर भी हो गया है।

मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि इस प्रोजेक्ट के पूरा होने से किसी भी प्रकार के अभियान के दौरान बेहतर सर्वेक्षण और हाई बैंडविथ मिलेगी और अंतरराष्ट्रीय सीमा के करीब कम्युनिकेशन कवरेज को बढ़ाएगा। अधिकारियों ने बताया कि नेटवर्क के जरिए पूर्वी सेक्टर और पश्चिम सीमा पर दूरदराज के इलाके में हाई बैंडविथ कम्युनिकेशन बढ़ेगा।

सेना को मिलेगी बड़ी बढ़त
बयान में कहा गया है कि इस प्रोजेक्ट से LAC पर सेना को अपने अभियान में बड़ी बढ़त हासिल होगी और संवेदनशील इलाकों में सेना को अपनी तैयारियों में मजबूती मिलेगी। बता दें कि LAC पर भारत भारत और चीन के बीच मई से ही तनातनी चल रही है। भारतीय सेना कई ऊंचाई वाले इलाकों में पैठ बना चुकी है।

पढ़ें :- आखिर क्या है बांग्लादेश से जीडीपी में पिछड़ने का कारण, जानिए किन मामलों में हम हैं पीछे

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...