लाइव: भारत ने टॉस जीत लिया बल्लेबाजी का फैसला, 2019 विश्वकप के लिए यह मैच अहम

team

नई दिल्ली। भारत-श्रीलंका के बीच चल रहे पांच एक दिवसीय मैचों के सीरीज का चौथा मैच आरपीएस स्टेडियम कोलंबो में खेला जा रहा है। इस मैच में भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया है। पांच मैचों की वनडे सीरीज में भारत 3-0 की अजेय बढ़त लिए हुए है। चौथा वन-डे जीतते हुए भारत की नजरें क्लीन स्वीप की तरफ एक कदम और आगे बढाने की रहेगी।

India Win The Toss And Elected To Bat First :

भारत ने टेस्ट सीरीज में श्रीलंका के खिलाफ 3-0 से क्लीन स्वीप की थी और अब वह वनडे सीरीज में भी इस उपलब्धि से दो मैच दूर है। दूसरी ओर श्रीलंकाई टीम लगातार हार के कारण खुद का आत्मविश्वास बढ़ा ही नहीं पा रही है और निरंतर उसकी गलतियां जारी हैं। श्रीलंका के लिए इस सीरीज में कम से कम 2 मैच जीतना 2019 विश्वकप के लिए सीधे क्वालीफाई करने के लिहाका से भी अनिवार्य था लेकिन वह अपने घरेलू मैदान पर भी इस मकसद को पूरा नहीं कर सकी है।

वहीं टीम इंडिया ने वनडे में अपनी युवा ब्रिगेड के साथ भी बेहतरीन प्रदर्शन दिखाते हुए जीत दर्ज की है। भारत ने पल्लेकेल में तीसरा वनडे छह विकेट से जीता था जहां एक बार फिर ‘मिस्टर फिनिशर’ पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी सारी वाहवाही लूट ले गए। सीरीज से पहले तक टीम में अपनी जगह को लेकर सवालों से घिरे धोनी ने नाबाद 67 रन की पारी से जीत में योगदान दिया तो दूसरे वनडे में भी उनकी नाबाद 45 रन की पारी मैच विजेता पारी रही थी।

36 वर्षीय धोनी निश्चित ही टीम के अनुभवी और सबसे उपयोगी खिलाड़ी हैं और उनकी फार्म ने उनपर सवाल उठाने वालों की बोलती बंद कर दी है। लेकिन खुद विकेटकीपर बल्लेबाका पर भी खुद की लय बनाये रखने का दबाव जरूर है और कोलंबो में जब वह अपने करियर के 300वें वनडे मैच में उतरेंगे तो इसे यादगार बनाने के लिये निश्चित ही उनसे बड़े धमाके की उम्मीद की जा सकती है।

नई दिल्ली। भारत-श्रीलंका के बीच चल रहे पांच एक दिवसीय मैचों के सीरीज का चौथा मैच आरपीएस स्टेडियम कोलंबो में खेला जा रहा है। इस मैच में भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया है। पांच मैचों की वनडे सीरीज में भारत 3-0 की अजेय बढ़त लिए हुए है। चौथा वन-डे जीतते हुए भारत की नजरें क्लीन स्वीप की तरफ एक कदम और आगे बढाने की रहेगी।भारत ने टेस्ट सीरीज में श्रीलंका के खिलाफ 3-0 से क्लीन स्वीप की थी और अब वह वनडे सीरीज में भी इस उपलब्धि से दो मैच दूर है। दूसरी ओर श्रीलंकाई टीम लगातार हार के कारण खुद का आत्मविश्वास बढ़ा ही नहीं पा रही है और निरंतर उसकी गलतियां जारी हैं। श्रीलंका के लिए इस सीरीज में कम से कम 2 मैच जीतना 2019 विश्वकप के लिए सीधे क्वालीफाई करने के लिहाका से भी अनिवार्य था लेकिन वह अपने घरेलू मैदान पर भी इस मकसद को पूरा नहीं कर सकी है।वहीं टीम इंडिया ने वनडे में अपनी युवा ब्रिगेड के साथ भी बेहतरीन प्रदर्शन दिखाते हुए जीत दर्ज की है। भारत ने पल्लेकेल में तीसरा वनडे छह विकेट से जीता था जहां एक बार फिर ‘मिस्टर फिनिशर’ पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी सारी वाहवाही लूट ले गए। सीरीज से पहले तक टीम में अपनी जगह को लेकर सवालों से घिरे धोनी ने नाबाद 67 रन की पारी से जीत में योगदान दिया तो दूसरे वनडे में भी उनकी नाबाद 45 रन की पारी मैच विजेता पारी रही थी।36 वर्षीय धोनी निश्चित ही टीम के अनुभवी और सबसे उपयोगी खिलाड़ी हैं और उनकी फार्म ने उनपर सवाल उठाने वालों की बोलती बंद कर दी है। लेकिन खुद विकेटकीपर बल्लेबाका पर भी खुद की लय बनाये रखने का दबाव जरूर है और कोलंबो में जब वह अपने करियर के 300वें वनडे मैच में उतरेंगे तो इसे यादगार बनाने के लिये निश्चित ही उनसे बड़े धमाके की उम्मीद की जा सकती है।