मिसाल: रिटायर्ड एयरफोर्स कर्मी ने रक्षा मंत्रालय को दान किए 1 करोड़

sbr prasad
मिसाल: रिटायर्ड एयरफोर्स कर्मी ने रक्षा मंत्रालय को दान किए 1 करोड़

नई दिल्ली। एयरफोर्स के एक रिटायर्ड कर्मी को अपने काम और अपने विभाग से इतना प्यार हुआ कि उसे अपनी जिंदगी भर की कमाई दान कर दी। एयरफोर्स से रिटायर सीबीआर प्रसाद ने अपने जीवन की पूरी कमाई या कहें बचत रक्षा मंत्रालय को दान कर दी है। दान की गई रकम 1 करोड़ से भी ज्यादा है। दिलचस्प बात ये है कि सीबीआर प्रसाद ने एयरफोर्स में 108 महीने यानी कि मात्र 9 साल काम किया था।

Indian Air Force Employee Cbr Prasad Donates 1 08 Crore To Defence Ministry Rajtanth Gift :

प्रसाद ने बताया कि उन्होंने करीब 9 साल तक एयरफोर्स में काम किया था। उसके बाद वह मुर्गीपालन करने लगे और अपना फार्म खोल लिया। अब पूरी कमाई देने पर प्रसाद ने कहा, ‘जीवन में सारी जिम्मेदारियां पूरी करने के बाद मुझे लगा कि अब रक्षा क्षेत्र के लिए कुछ करना चाहिए।

फिर मैंने 1.08 करोड़ रुपये डोनेट करने का फैसला किया।’ प्रसाद सोमवार को जाकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मिले और उन्हें ही चेक सौंपा। उन्होंने समाज की मदद करने के लिए पॉल्ट्री फार्म में 30 सालों तक कड़ी मेहनत की। बाद में उन्होंने एक स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की भी स्थापना की।

जब उनसे पूछा गया कि उनके परिवार ने इसकी इजाजत दी, तो उन्होंने कहा कि इसमें कोई दिक्कत नहीं है। मैंने अपनी संपत्ति में से बेटी को दो फीसदी, पत्नी को एक फीसदी और शेष 97 फीसदी हिस्सा समाज को लौटा दिया। उन्होंने कहा कि राजनाथ सिंह यह देख कर खुश हुए कि एक छोटे से सिपाही ने जीवन की पूरी जमा पूंजी रक्षा मंत्रालय को दे दी।

नई दिल्ली। एयरफोर्स के एक रिटायर्ड कर्मी को अपने काम और अपने विभाग से इतना प्यार हुआ कि उसे अपनी जिंदगी भर की कमाई दान कर दी। एयरफोर्स से रिटायर सीबीआर प्रसाद ने अपने जीवन की पूरी कमाई या कहें बचत रक्षा मंत्रालय को दान कर दी है। दान की गई रकम 1 करोड़ से भी ज्यादा है। दिलचस्प बात ये है कि सीबीआर प्रसाद ने एयरफोर्स में 108 महीने यानी कि मात्र 9 साल काम किया था। प्रसाद ने बताया कि उन्होंने करीब 9 साल तक एयरफोर्स में काम किया था। उसके बाद वह मुर्गीपालन करने लगे और अपना फार्म खोल लिया। अब पूरी कमाई देने पर प्रसाद ने कहा, 'जीवन में सारी जिम्मेदारियां पूरी करने के बाद मुझे लगा कि अब रक्षा क्षेत्र के लिए कुछ करना चाहिए। फिर मैंने 1.08 करोड़ रुपये डोनेट करने का फैसला किया।' प्रसाद सोमवार को जाकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मिले और उन्हें ही चेक सौंपा। उन्होंने समाज की मदद करने के लिए पॉल्ट्री फार्म में 30 सालों तक कड़ी मेहनत की। बाद में उन्होंने एक स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की भी स्थापना की। जब उनसे पूछा गया कि उनके परिवार ने इसकी इजाजत दी, तो उन्होंने कहा कि इसमें कोई दिक्कत नहीं है। मैंने अपनी संपत्ति में से बेटी को दो फीसदी, पत्नी को एक फीसदी और शेष 97 फीसदी हिस्सा समाज को लौटा दिया। उन्होंने कहा कि राजनाथ सिंह यह देख कर खुश हुए कि एक छोटे से सिपाही ने जीवन की पूरी जमा पूंजी रक्षा मंत्रालय को दे दी।