गोरखा सैनिकों की मदद के लिए सोनौली पहुंचे भारतीय सेना के जवान

WhatsApp-Image-2020-06-28-at-05.26.49

महराजगंज । इंडो-नेपाल बार्डर के सोनौली कस्बे में शनिवार को भारतीय आर्मी के जवान अफसरों संग पहुंचे। सीमा पर एसएसबी व पुलिस के अफसरों के साथ बैठक कर नेपाल से भारत आने वाले गोरखा सैनिकों के बारे में जानकारी ली।

Indian Army Soldiers Reached Sonauli To Help Gorkha Soldiers :

यह पूछा कि सीमा पर उन्हें कोई दिक्कत तो नहीं हो रही है? पूछा कि नेपाल में बसों का संचलन नहीं हो रहा है तो गोरखा सैनिकों को सीमा पर कैसे लाया जाए? बैठक में आर्मी अफसरों ने बताया कि 29 जून को आर्मी होटल निरंजना में एक हेल्प डेस्क बनाएगी। गोरखा सैनिकों को अपने पोस्ट तक जाने के लिए सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। अभी तक गोरखा सैनिक अपने ही प्राइवेट वाहन कर गोरखपुर के कूड़ाघाट तक जा रहे हैं और वहां से उन्हें उनके पोस्ट तक भेजने की व्यवस्था की जा रही है। आर्मी ने सोनोली स्थित आदिवासी जनजाति स्कूल को एक हफ्ते के लिए लिया है। इसी स्कूल में जवान व अधिकारी रुके हुए हैं।

राजू कुमार साव, सीओ-नौतनवा ने बताया कि इंडियन आर्मी के लोग सोनौली आए हैं। गोरखा सैनिकों की मदद के लिए आए हैं ताकि उन्हें उनके पोस्ट तक पहुंचने में दिक्कत न हो।

महराजगंज । इंडो-नेपाल बार्डर के सोनौली कस्बे में शनिवार को भारतीय आर्मी के जवान अफसरों संग पहुंचे। सीमा पर एसएसबी व पुलिस के अफसरों के साथ बैठक कर नेपाल से भारत आने वाले गोरखा सैनिकों के बारे में जानकारी ली। यह पूछा कि सीमा पर उन्हें कोई दिक्कत तो नहीं हो रही है? पूछा कि नेपाल में बसों का संचलन नहीं हो रहा है तो गोरखा सैनिकों को सीमा पर कैसे लाया जाए? बैठक में आर्मी अफसरों ने बताया कि 29 जून को आर्मी होटल निरंजना में एक हेल्प डेस्क बनाएगी। गोरखा सैनिकों को अपने पोस्ट तक जाने के लिए सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। अभी तक गोरखा सैनिक अपने ही प्राइवेट वाहन कर गोरखपुर के कूड़ाघाट तक जा रहे हैं और वहां से उन्हें उनके पोस्ट तक भेजने की व्यवस्था की जा रही है। आर्मी ने सोनोली स्थित आदिवासी जनजाति स्कूल को एक हफ्ते के लिए लिया है। इसी स्कूल में जवान व अधिकारी रुके हुए हैं। राजू कुमार साव, सीओ-नौतनवा ने बताया कि इंडियन आर्मी के लोग सोनौली आए हैं। गोरखा सैनिकों की मदद के लिए आए हैं ताकि उन्हें उनके पोस्ट तक पहुंचने में दिक्कत न हो।