1. हिन्दी समाचार
  2. Indian Constitution Day 2019: तो इस लिए भारत में मनाया जाता है संविधान दिवस

Indian Constitution Day 2019: तो इस लिए भारत में मनाया जाता है संविधान दिवस

Indian Constitution Day 2019 So For This Reason Constitution Day Is Celebrated In India

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली। भारत में संविधान दिवस को राष्ट्र विधि दिवस (या समिधा दिवस) के रूप में हर साल 26 नवंबर को संविधान दिवस मनाया जाता है। इस खास दिन संविधान निर्माता डॉ.भीमराव अंबेडकर को याद किया जाता है। यूजीसी द्वारा देश के सभी विश्वविद्यालयों को 26 नवंबर को ‘संविधान दिवस’ के रूप में मनाने के आदेश दिए गए हैं।

पढ़ें :- नया घर खरीदनें जा रहे है ऋषभ पंत, आपके आस-पास हो अच्छी लोकेशन तो उन्हें जरूर बताएं

दरअसल, भारत के संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर को आज के दिन याद किया जाता है। इन्होंने भारतीय संविधान के रूप में दुनिया का सबसे बड़ा संविधान तैयार किया है। यह दुनिया के सभी संविधानों को परखने के बाद बनाया गया। भारत के इस संविधान में 448 अनुच्छेद, 12 अनुसूचियां और 94 संशोधन शामिल हैं। यह हस्तलिखित संविधान है जिसमें 48 आर्टिकल हैं। इसे तैयार करने में 2 साल 11 महीने और 17 दिन का वक्त लगा था।

बता दें कि 26 नवंबर 1949 को भारतीय संविधान सभा की तरफ से इसे अपनाया गया और 26 नवंबर 1950 को इसे लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया गया। यह वजह है कि 26 नवंबर को संविधान दिवस के तौर पर मनाया जाता है। इसके लिए 29 अगस्त 1947 को भारत के संविधान का मसौदा तैयार करनेवाली समिति की स्थापना की गई थी और इसके अध्यक्ष के तौर पर डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की नियुक्ति हुई थी।

साथ ही संविधान का मसौदा तैयार करने वाली समिति हिंदी और अंग्रेजी दोनों में ही हस्तलिखित और कॉलीग्राफ्ड थी। इसमें किसी भी तरह की टाइपिंग या प्रिंट का इस्तेमाल नहीं किया गया था। संविधान सभा के 284 सदस्यों ने 24 जनवरी 1950 को दस्तावेज पर हस्ताक्षप किए । दो दिन बाद इसे लागू किया गया था।

पढ़ें :- खुफिया विभाग को 20 दिन पहले ही मिली थी ये महत्वपूर्ण जानकारी, अधिकारियों के साथ हुई थी बैठक!

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...