1. हिन्दी समाचार
  2. क्रिकेट
  3. भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज पार्थिव पटेल ने सभी फाॅर्मेट से लिया संन्यास

भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज पार्थिव पटेल ने सभी फाॅर्मेट से लिया संन्यास

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर और बल्लेबाज पार्थिव पटेल ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के संन्यास ले लिया है। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए इसकी जानकारी दी है। 35 वर्षीय पटेल ने भारत के लिए 25 टेस्ट, 38 एकदिवसीय और दो टी-20 इंटरनेशनल में प्रतिनिधित्व किया था। गुजरात के लिए 194 प्रथम श्रेणी मुकाबले खेलने वाले पार्थिव का घरेलू क्रिकेट में रिकॉर्ड जबरदस्त है।

पढ़ें :- अयोध्या में भगवान विष्णु के नाम पर यज्ञ कर इसको प्रभु राम को समर्पित करना अपने आप में गौरव का विषय है : सीएम योगी

इस साल के शुरुआत में रणजी ट्रॉफी में गोवा के खिलाफ उन्होंने 27वां प्रथम श्रेणी शतक भी लगाया था, जिसके बूते 11 हजार प्रथम श्रेणी रन भी पूरे किए। बता दें कि, पार्थिव पटेल ने 2002 में भारतीय क्रिकेट टीम में डेब्यू किया था और इसी के साथ वह टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने वाले सबसे कम उम्र के विकेटकीपर बने थे।

पढ़ें :- Punjab Election 2022: अकाली दल को बड़ा झटका, BJP में शामिल हुए मनजिंदर सिंह सिरसा

उन्होंने 17 साल और 153 दिन की उम्र में डेब्यू किया था। पार्थिव ने टेस्ट क्रिकेट में 31.13 की औसत से 934 रन बनाए हैं। वहीं, वनडे में 23.7 औसत से 736 रन बनाए हैं. पार्थिव के करियर की शुरुआत अच्छी रही थी, लेकिन 2004 में दिनेश कार्तिक और महेंद्र सिंह धोनी के उदय के बाद उन्होंने अपना स्थान गंवा दिया।

सबसे युवा विकेटकीपर टेस्ट बल्लेबाज
2002 में पहली बार भारतीय टीम के लिए चुने गए पार्थिव पटेल ने 17 साल 153 दिन की उम्र में इंटरनेशनल डेब्यू किया, जो अपने आप में रिकॉर्ड है। बाद में वह एकदिवसीय टीम के भी स्थायी विकेटकीपर बल्लेबाज बन गए, लेकिन बाद में दिनेश कार्तिक और फिर महेंद्र सिंह धोनी की एंट्री के बाद 2004 में अपनी जगह गंवा दी। अमूमन भारतीय टीम का रास्ता रणजी ट्रॉफी से होकर गुजरता है, लेकिन दिलचस्प है कि टेस्ट डेब्यू के दो साल दो माह बाद 2004 में इस खिलाड़ी ने अपना पहला प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...