अंडर-19 वर्ल्ड कप: बदसलूकी मामले में टीम इंडिया से नाराज हैं भारतीय दिग्गज, BCCI से की कार्रवाई की मांग

cricket
अंडर-19 वर्ल्ड कप: बदसलूकी मामले में टीम इंडिया से नाराज हैं भारतीय दिग्गज, BCCI से की कार्रवाई की मांग

नई दिल्ली। अंडर-19 वर्ल्ड कप की उपविजेता भारतीय टीम से दिग्गज खिलाड़ी एवं पूर्व कप्तान कपिल देव और मोहम्मद अहरुद्द्दीन दोनों ही बेहद नाराज हैं। फाइनल में भारतीय खिलाड़ियों द्वारा बांग्लादेशी खिलाड़ियों के खिलाफ किए गए दुर्व्यवहार और बुरे बर्ताव की वजह से दोनों ही पूर्व कप्तान हैरान हैं। इन दोनों ने बीसीसीआई से भारतीय टीम के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।  

Indian Giants Are Angry With Team India In Misconduct Case Demand Action From Bcci :

कपिल देव की नसीहत, मर्यादा नहीं लांघ सकते

कपिल देव (Kapil Dev) ने कहा, ‘मैं बीसीसीआई (BCCI) को खिलाड़ियों के खिलाफ कड़ा कदम उठाते हुए देखना चाहूंगा ताकि मिसाल पेश की जा सके। क्रिकेट विपक्षी खिलाड़ियों को गाली देने भर का खेल नहीं है। मुझे लगता है कि इस बात की पर्याप्त वजह है, जिसके आधार पर बीसीसीआई इन युवा खिलाड़ियों से सख्ती से निपटेगी। मैं आक्रामकता का स्वागत करता हूं, इसमें कुछ भी गलत नहीं है। मगर ये नियंत्रित आक्रामकता होनी चाहिए। प्रतिस्पर्धी होने के नाम पर आप मर्यादा नहीं लांघ सकते। मैदान पर युवा खिलाड़ियों का ऐसा व्यवहार बिल्कुल भी स्वीकार नहीं किया जा सकता।’

अजहर का सवाल-सपोर्ट स्टाफ क्या कर रहा है?

इस मामले में पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन (Mohammad Azharuddin) ने भी अपनी राय जाहिर की। उन्होंने कहा, ‘मैं तो निश्चित रूप से अंडर 19 क्रिकेटरों के खिलाफ एक्‍शन लेता, लेकिन मैं ये भी जानना चाहता हूं कि आखिर सपोर्ट स्टाफ ऐसे युवा खिलाड़ियों को जागरूक करने के लिए क्या कदम उठा रहे हैं। इससे पहले कि देर हो जाए, अभी सख्त कदम उठाने की जरूरत है। खिलाड़ियों को अनुशासित होना ही चाहिए।’

बांग्लोदश के तीन और भारत के दो खिलाड़ियों को सजा, रवि बिश्नोई दो मामलों में दोषी

आईसीसी (ICC) ने बांग्लादेश के तीन और भारत के दो खिलाड़ियों को खेल की साख को ठेस पहुंचाने का दोषी करार दिया है। बांग्लादेश के मोहम्मद तौहीद रिदय, शमीम हुसैन और रकीबुल हसन को आईसीसी की आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाया गया है, जबकि भारत के दो खिलाड़ियों आकाश सिंह (Akash Singh) और रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) को भी दोषी पाया गया है। भारतीय स्पिनर और वर्ल्ड कप में सर्वाधिक 17 विकेट लेने वाले रवि बिश्नोई को विकेट लेने के बाद आक्रामक प्रतिक्रिया व्यक्त करने के एक और मामले में दोषी करार दिया गया है।

मैच के बाद भारतीय खिलाड़ियों से उलझ गए थे बांग्लादेशी क्रिकेटर्स

फाइनल जीतते ही बांग्लादेश (Bangladesh) के खिलाड़ी जश्न मनाने के लिए पिच पर पहुंच गए। मगर इनमें से कुछ खिलाड़ी भारतीय क्रिकेटर्स (Indian Cricketers) पर आपत्तिजनक कमेंट करने लगे। भारतीय खिलाड़ियों ने इस पर ऐतराज जताया, जिसके बाद बांग्लादेश के खिलाड़ी और आक्रामक हो गए। बांग्लादेशी खिलाड़ी भारतीय क्रिकेटर्स से धक्का-मुक्की करने लगे और उन्हें गालियां दीं। यहां तक कि कुछ खिलाड़ी तो बल्ला और स्टंप लेकर भारतीय क्रिकेटरों की ओर बेहद आक्रामक तरीके से बढ़े।  

नई दिल्ली। अंडर-19 वर्ल्ड कप की उपविजेता भारतीय टीम से दिग्गज खिलाड़ी एवं पूर्व कप्तान कपिल देव और मोहम्मद अहरुद्द्दीन दोनों ही बेहद नाराज हैं। फाइनल में भारतीय खिलाड़ियों द्वारा बांग्लादेशी खिलाड़ियों के खिलाफ किए गए दुर्व्यवहार और बुरे बर्ताव की वजह से दोनों ही पूर्व कप्तान हैरान हैं। इन दोनों ने बीसीसीआई से भारतीय टीम के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।   कपिल देव की नसीहत, मर्यादा नहीं लांघ सकते कपिल देव (Kapil Dev) ने कहा, 'मैं बीसीसीआई (BCCI) को खिलाड़ियों के खिलाफ कड़ा कदम उठाते हुए देखना चाहूंगा ताकि मिसाल पेश की जा सके। क्रिकेट विपक्षी खिलाड़ियों को गाली देने भर का खेल नहीं है। मुझे लगता है कि इस बात की पर्याप्त वजह है, जिसके आधार पर बीसीसीआई इन युवा खिलाड़ियों से सख्ती से निपटेगी। मैं आक्रामकता का स्वागत करता हूं, इसमें कुछ भी गलत नहीं है। मगर ये नियंत्रित आक्रामकता होनी चाहिए। प्रतिस्पर्धी होने के नाम पर आप मर्यादा नहीं लांघ सकते। मैदान पर युवा खिलाड़ियों का ऐसा व्यवहार बिल्कुल भी स्वीकार नहीं किया जा सकता।' अजहर का सवाल-सपोर्ट स्टाफ क्या कर रहा है? इस मामले में पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन (Mohammad Azharuddin) ने भी अपनी राय जाहिर की। उन्होंने कहा, 'मैं तो निश्चित रूप से अंडर 19 क्रिकेटरों के खिलाफ एक्‍शन लेता, लेकिन मैं ये भी जानना चाहता हूं कि आखिर सपोर्ट स्टाफ ऐसे युवा खिलाड़ियों को जागरूक करने के लिए क्या कदम उठा रहे हैं। इससे पहले कि देर हो जाए, अभी सख्त कदम उठाने की जरूरत है। खिलाड़ियों को अनुशासित होना ही चाहिए।' बांग्लोदश के तीन और भारत के दो खिलाड़ियों को सजा, रवि बिश्नोई दो मामलों में दोषी आईसीसी (ICC) ने बांग्लादेश के तीन और भारत के दो खिलाड़ियों को खेल की साख को ठेस पहुंचाने का दोषी करार दिया है। बांग्लादेश के मोहम्मद तौहीद रिदय, शमीम हुसैन और रकीबुल हसन को आईसीसी की आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाया गया है, जबकि भारत के दो खिलाड़ियों आकाश सिंह (Akash Singh) और रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) को भी दोषी पाया गया है। भारतीय स्पिनर और वर्ल्ड कप में सर्वाधिक 17 विकेट लेने वाले रवि बिश्नोई को विकेट लेने के बाद आक्रामक प्रतिक्रिया व्यक्त करने के एक और मामले में दोषी करार दिया गया है। मैच के बाद भारतीय खिलाड़ियों से उलझ गए थे बांग्लादेशी क्रिकेटर्स फाइनल जीतते ही बांग्लादेश (Bangladesh) के खिलाड़ी जश्न मनाने के लिए पिच पर पहुंच गए। मगर इनमें से कुछ खिलाड़ी भारतीय क्रिकेटर्स (Indian Cricketers) पर आपत्तिजनक कमेंट करने लगे। भारतीय खिलाड़ियों ने इस पर ऐतराज जताया, जिसके बाद बांग्लादेश के खिलाड़ी और आक्रामक हो गए। बांग्लादेशी खिलाड़ी भारतीय क्रिकेटर्स से धक्का-मुक्की करने लगे और उन्हें गालियां दीं। यहां तक कि कुछ खिलाड़ी तो बल्ला और स्टंप लेकर भारतीय क्रिकेटरों की ओर बेहद आक्रामक तरीके से बढ़े।