अमेरिका में मरीज बन बैठा भारतीय मनोचिकित्सक का हत्यारा

मरीज बन बैठा भारतीय मानोचिकित्सक का हत्यारा

नई दिल्ली। अमेरिका के केंसास में भारतीय मूल के मनोचिकित्सक की हत्या का मामला सामने आया है। मारे गए डाक्टर का नाम अच्युता रेड्डी बताया जा रहा है जो भारत में तेलंगाना से जुड़ाव रखते हैं, हालांकि इस हत्या के आरोप में गिरफ्तार किए गए व्यक्ति की पहचान 21 वर्षीय भारतीय युवक उमर राशिद दत्त के रूप में हुई हैं, जोकि डॉक्टर का मरीज बताया जा रहा है। मृत डॉक्टर केंसास के ईस्ट विचिता में अपना क्लीनिक चलाने के साथ ही कुछ अन्य अस्पतालों में भी अपनी सेवाएं देता था।

मिली जानकारी के मुताबिक डॉक्टर रेड्डी 1986 में नालगोंडा जिले के ओस्मानिया मेडिकल कालेज से मनोचिकित्सक की डिग्री लेने के बाद केंसास के विचिता मेडिकल स्कूल से रिजीडेंट का दर्ज लेने के बाद अपनी प्रैक्टिस शुरू की थी। अपनी दो दशक की प्रैक्टिस के बाद डॉ0 रेड्डी ने अपना होलिस्टिक मनोचिकित्सा क्लीनिक शुरू किया था। जहां योगा और व्यायाम संबन्धित सेवाएं भी दी जातीं थीं।

{ यह भी पढ़ें:- राहुल गांधी ने अमेरिका में तय किए 2019 के चुनावी मुद्दे }

मृत डॉक्टर की पत्नी वीना रेड्डी भी पेशे से डाक्टर हैं और तीन बच्चों की मां हैं। डॉ0 रेड्डी की हत्या पर केंसास की चिकित्सक कम्युनिटी पर शोक जाहिर करते हुए घटना की हत्या पर नाराजगी जाहिर की है।

बताया जा रहा है कि 57 वर्षीय डॉ0 रेड्डी केंसास के बेहतर मनोचिकित्सक के रूप में पहचान रखते थे। उनके एक मरीज ने टीवी चैनल पर दिए अपने साक्षात्कार में उनका नाम लेकर उन्हें अपने जिन्दा होने की वजह करार दिया था।

{ यह भी पढ़ें:- अमेरिका में 'हार्वे' की तबाही का मंजर, तस्वीरों में देखें पानी में तैरती गाड़ियां }

आपको बता दें कि 2017 में यह दूसरा मामला है जब अमेरिका में किसी भारतीय की हत्या की गई हो। इससे पहले तेलंगाना के ही 32 वर्षीय सॉफ्टवेयर इंजीनियर श्रीनिवास की फरवरी में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।