सुरक्षा उपकरण जुटाने के लिए रेलवे फिर कर सकती है किराये में बढ़ोत्तरी

नई दिल्ली। आने वाले समय में रेलवे एक बार फिर किराये में बढ़ोत्तरी कर सकती है। रेलवे संसाधनों को जुटाने के लिए रेल के किराये में इजाफा करेगी जिससे ट्रेनों में लगने वाले महंगे उपकरण बनाये जायेंगे।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पहले से ही रेलवे के विशेष सुरक्षा कोष के प्रस्ताव को खारिज कर दिया था। प्रस्ताव के अनुसार ट्रैक के आधुनिकीकरण तथा सिग्नल प्रणाली के बेहतर तथा मानवरहित लेवल क्रॉसिंग को देश के सभी जगहों से हटाने के लिए तथा अन्य सुरक्षा संबंधी उपायों के लिए कोष जुटाकर सुरक्षा उपकरण लगाये जाने की तैयारी थी।




रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रेलवे की सुरक्षा प्रणाली से जुड़े सभी चीजो को लेकर राष्ट्रीय रेल सुरक्षा कोष के तहत वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र लिखकर 1,19,183 करोड़ रुपये आवंटित करने की मांग की थी। वित्त मंत्रालय ने इस प्रस्ताव को खारिज करते हुए रेलवे से कहा कि वह किराया बढ़ाकर खुद ही संसाधन जुटाए।




जानकारों के अनुसार रेलवे किराया बढ़ाने के मूड में नही है लेकिन स्लीपर, सेकेंड क्लास और एसी-3 के लिए उपकरणों को बनाने के लिए खर्च ज्यादा आयेगी। जिस पर व्यय कुल खर्च में सरकार ने 25 फीसदी ही पैसे देने की बात कही है। जिसके बाद से अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि रेलवे टिकट के रेटों में बढ़ोतरी कर इसका खर्च निकालेगी। फिलहाल इसके तौर तरीकों पर काम किया जा रहा है जल्दी ही इस पर फैसला आ सकता है।