रेलवे की नई सौगात, अब विधवाओं और किसानों को भी SL क्लास में मिलेगी 50% की छूट

नई दिल्ली: भारतीय रेलवे ने शुक्रवार को यात्रियों की कई श्रेणियों में टिकट खरीद आर 25% से 100% तक की छूट देने की घोषणा की है। इन श्रेणियों में दिव्यांग, मरीज, सीनियर सिटिजन, पुरस्कार विजेता, सैनिकों की विधवाओं, छात्र, किसान और आर्टिस्ट और खिलाड़ी सभी को अलग-अलग तरह की छूट देने का ऐलान किया गया है। रे




रेल राज्य मंत्री राजन गोहाईं ने इन नए बदलावों की जानकारी देते हुए कल राज्यसभा में कहा कि मंत्रालय रेल यात्रा के दौरान सभी तबकों की सहूलियत के लिए ये कदम उठा रहा है।

Indian Railways Extend Travel Concessions For Disabled Senior Citizens War Widow Farmers :

शारीरिक रूप से अक्षम लोगों के लिए 2nd, SL, 1st Class, 3AC, AC chair Car में 75% जबकि 1AC और 2AC में 50% तक की रियायत दी गई है।
दिमागी बीमारियों से पीड़ित और दृष्टिहीन लोगों के लिए राजधानी और शताब्दी जैसी ट्रेन की 3AC और AC Chair Car श्रेणियों में 25% तक की 3 रियायत का ऐलान किया गया है। इस श्रेणी में दिव्यांग को ले जाने वाले एक व्यक्ति के टिकट पर भी ये छूट दी जाएगी।
गूंगे-बहरे दिव्यंगों के लिए भी 2nd, SL और 1st क्लास में 50% तक की रियायत दी गई है।

60 साल से ऊपर के भारतीय पुरुष के लिए ट्रेन की सभी श्रेणियों में 40% की रियायत जबकि 58 साल से ऊपर की भारतीय महिलाओं को 50% की रियायत दी गई है। ये रियायत राजधानी और शताब्दी ट्रेनों पर भी लागू होगी।

पुरस्कार विजेता
इस श्रेणी को पुरस्कार की श्रेणी के मुताबिक विभाजित किया गया है। इसमें 50 से 75% तक की रियायत की व्यवस्था है।




छात्रों के लिए भी राहत
घर जा रहे या किसी एजुकेशनल टुअर पर जा रहे छात्रों के लिए अलग-अलग ट्रेन श्रेणियों में 50 से 75% तक की रियायत दी गई है। इस श्रेणी में रेलवे ने कई सब कैटेगरी भी बनाई है। वैसे सभी सैनिक विधवाओं के लिए 2nd और SL क्लास में 75% की रियायत दी गई है। इसके आलावा पुलिस की विधवाओं और अर्धसैनिक बलों के सैनिकों की विधवाओं के लिए भी यही रियायत लागू होगी।

किसान
इस बार रेलवे ने किसानों का भी पूरा ख्याल रखा है। किसानों को 2nd और SL क्लास में 25 से 50% की छूट दी गई है।

नई दिल्ली: भारतीय रेलवे ने शुक्रवार को यात्रियों की कई श्रेणियों में टिकट खरीद आर 25% से 100% तक की छूट देने की घोषणा की है। इन श्रेणियों में दिव्यांग, मरीज, सीनियर सिटिजन, पुरस्कार विजेता, सैनिकों की विधवाओं, छात्र, किसान और आर्टिस्ट और खिलाड़ी सभी को अलग-अलग तरह की छूट देने का ऐलान किया गया है। रे रेल राज्य मंत्री राजन गोहाईं ने इन नए बदलावों की जानकारी देते हुए कल राज्यसभा में कहा कि मंत्रालय रेल यात्रा के दौरान सभी तबकों की सहूलियत के लिए ये कदम उठा रहा है।शारीरिक रूप से अक्षम लोगों के लिए 2nd, SL, 1st Class, 3AC, AC chair Car में 75% जबकि 1AC और 2AC में 50% तक की रियायत दी गई है। दिमागी बीमारियों से पीड़ित और दृष्टिहीन लोगों के लिए राजधानी और शताब्दी जैसी ट्रेन की 3AC और AC Chair Car श्रेणियों में 25% तक की 3 रियायत का ऐलान किया गया है। इस श्रेणी में दिव्यांग को ले जाने वाले एक व्यक्ति के टिकट पर भी ये छूट दी जाएगी। गूंगे-बहरे दिव्यंगों के लिए भी 2nd, SL और 1st क्लास में 50% तक की रियायत दी गई है।60 साल से ऊपर के भारतीय पुरुष के लिए ट्रेन की सभी श्रेणियों में 40% की रियायत जबकि 58 साल से ऊपर की भारतीय महिलाओं को 50% की रियायत दी गई है। ये रियायत राजधानी और शताब्दी ट्रेनों पर भी लागू होगी।पुरस्कार विजेता इस श्रेणी को पुरस्कार की श्रेणी के मुताबिक विभाजित किया गया है। इसमें 50 से 75% तक की रियायत की व्यवस्था है। छात्रों के लिए भी राहत घर जा रहे या किसी एजुकेशनल टुअर पर जा रहे छात्रों के लिए अलग-अलग ट्रेन श्रेणियों में 50 से 75% तक की रियायत दी गई है। इस श्रेणी में रेलवे ने कई सब कैटेगरी भी बनाई है। वैसे सभी सैनिक विधवाओं के लिए 2nd और SL क्लास में 75% की रियायत दी गई है। इसके आलावा पुलिस की विधवाओं और अर्धसैनिक बलों के सैनिकों की विधवाओं के लिए भी यही रियायत लागू होगी।किसान इस बार रेलवे ने किसानों का भी पूरा ख्याल रखा है। किसानों को 2nd और SL क्लास में 25 से 50% की छूट दी गई है।