भारतीय महिला हॉकी टीम का ओलंपिक टेस्ट इवेंट में शानदार आगाज, जापान को हराया

hockey team
भारतीय महिला हॉकी टीम का ओलंपिक टेस्ट इवेंट में शानदार आगाज, जापान को हराया

नई दिल्ली। भारतीय महिला हॉकी टीम ने शनिवार को ओलंपिक टेस्ट इवेंट का शानदार आगाज किया। भारतीय महिला हॉकी टीम ने मेजबान जापान को शिकस्त देते हुए 2—1 से जीत दर्ज की है। भारत ने पेनल्टी कार्नर विशेषज्ञ गुरजीत कौर की मदद से नौंवे ही मिनट में बढ़त बना ली थी। लेकिन मेजबान टीम ने 16वें मिनट में अकी मितसुहासी के मैदानी गोल से 1-1 से बराबरी हासिल कर ली।

Indian Womens Hockey Team Makes A Grand Debut In Olympic Test Event :

हालांकि गुरजीत ने फिर 35वें मिनट में पेनल्टी कार्नर से गोल दाग कर अपनी टीम को 2-1 से आगे कर दिया जो निर्णायक रहा। आक्रामक शुरूआत करते हुए ही भारतीय टीम ने पहले 10 मिनट में ही उसे कुछ मौके मिल गए। दोनों टीमें ओलंपिक खेलों के दिशा निर्देशों के अनुसार 16 खिलाड़ियों के साथ खेल रही थीं। दोनों ने समय समय पर पूरे मैच के दौरान खिलाड़ियों को अंदर बाहर किया।

जापान को खिलाड़ी बदलने का फायदा हुआ और 29 साल की मितसुहासी ने टीम के लिए गोल कर बराबरी दिलाई। भारतीय टीम ज्यादा हमले बोल रही थी, हालांकि दोनों टीमें एक दूसरे की रणनीति को अच्छी तरह समझ रही थी, क्योंकि दोनों पिछले दो वर्षों में आपस में काफी बार खेली हैं। इससे हाफ टाइम तक स्कोर 1-1 रहा।

नई दिल्ली। भारतीय महिला हॉकी टीम ने शनिवार को ओलंपिक टेस्ट इवेंट का शानदार आगाज किया। भारतीय महिला हॉकी टीम ने मेजबान जापान को शिकस्त देते हुए 2—1 से जीत दर्ज की है। भारत ने पेनल्टी कार्नर विशेषज्ञ गुरजीत कौर की मदद से नौंवे ही मिनट में बढ़त बना ली थी। लेकिन मेजबान टीम ने 16वें मिनट में अकी मितसुहासी के मैदानी गोल से 1-1 से बराबरी हासिल कर ली। हालांकि गुरजीत ने फिर 35वें मिनट में पेनल्टी कार्नर से गोल दाग कर अपनी टीम को 2-1 से आगे कर दिया जो निर्णायक रहा। आक्रामक शुरूआत करते हुए ही भारतीय टीम ने पहले 10 मिनट में ही उसे कुछ मौके मिल गए। दोनों टीमें ओलंपिक खेलों के दिशा निर्देशों के अनुसार 16 खिलाड़ियों के साथ खेल रही थीं। दोनों ने समय समय पर पूरे मैच के दौरान खिलाड़ियों को अंदर बाहर किया। जापान को खिलाड़ी बदलने का फायदा हुआ और 29 साल की मितसुहासी ने टीम के लिए गोल कर बराबरी दिलाई। भारतीय टीम ज्यादा हमले बोल रही थी, हालांकि दोनों टीमें एक दूसरे की रणनीति को अच्छी तरह समझ रही थी, क्योंकि दोनों पिछले दो वर्षों में आपस में काफी बार खेली हैं। इससे हाफ टाइम तक स्कोर 1-1 रहा।