पीएम मोदी के आग्रह का भारतीय कर रहे पालन, लक्ष्मण रेखा खींचकर ले रहे सब्जी

taking vegetables by drawing Laxman Rekha
पीएम मोदी के आग्रह का भारतीय कर रहे पालन, लक्ष्मण रेखा खींचकर ले रहे सब्जी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ते कहर को लेकर पीएम मोदी ने देश को तीन हफ्तों के लिया लॉकडाउन कर दिया है। इस दौरान पीएम मोदी ने देश की जनता से लक्ष्मण रेखा खींचने का जिक्र किया था, उनका मतलब था कि आप जो भी करते हैं उसमें उचित दूरी बनाये रखें। पीएम मोदी की पहल का देश वासियों ने स्वागत किया है। इसका असर आज कई जगह दिखाई भी दिया जब लोग सब्जी या कोई अन्य सामान खरीदने के लिए घरों से निकले तो लक्ष्मण रेखा खींचकर एक संदेश दिया। आपको बता दें कि कोरोना वायरस ने दुनियाभर में 19 हजार से ज्यादा लोगों की जान ले ली है।

Indians Are Following Pm Modis Request And Are Taking Vegetables By Drawing Laxman Rekha :

पीएम मोदी ने जोर देकर कहा कि घर में रहें, घर में रहें और एक ही काम करें कि अपने घर में रहें। उन्होंने कहा था कि साथियों, आज के फैसले ने देशव्यापी लॉकडाउन ने आपके घर के दरवाजे पर एक लक्ष्मण रेखा खींच दी है। उन्होने यह भी कहा कि अगर आप 21 दिन तक घरों में नही रहे तो देश 21 साल तक पीछे चला जायेगा। उन्होने इशारो इशारो में यह भी कह दिया था कि अगर लोग उल्लंघन करते नजर आये तो कड़ी कार्रवाई भी की जायेगी।

जरूरी सामान उपल्बध रहेगा

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के मददेनजर देशभर में मंगलवार की रात 12 बजे से अगले तीन सप्ताह तक पूर्ण लॉकडाउन रहेगा, लेकिन इस दौरान भी राशन, दूध, सब्जी, फल आदि मूलभूत जरूरत की चीजों की दुकानों के साथ-साथ, बैंक, बीमा कंपनियों के दफ्तर, एटीएम, प्रिंट एंव इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिष्ठान खुले रहेंगे। वहीं सेना, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल, कोषागार, पेट्रोलियम, सीएनजी, पीएनजी, एलजीपी समेत पब्लिक युटिलिटीज, आपदा, प्रबंधन, उजार् उत्पादन व वितरण इकाइयां, डाकघर, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, पूर्व चेतावनी देनेवाली ऐजेंसियों की सेवा जारी रहेगी।

इसी प्रकार, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सरकारी और स्वायशासी निकायों व सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के दफ्तर बंद रहेंगे लेकिन पुलिस, गृह रक्षक, नागरिक सुरक्षा, अग्निशमन एवं आपातकालीन सेवाएं, आपदा प्रबंधन व कारागार की सेवाएं चालू रहेंगी। इसके अलावा, जिला प्रशासन, कोषागार, बिजली, पानी, सफाई संबंधी सेवाएं जारी रहेंगी। गृह मंत्रालय के आदेश के अनुसार, अस्पताल और संबंधित चिकित्सा प्रतिष्ठानों जिनमें सरकारी एवं निजी विनिमार्ण व वितरण इकाइयां शामिल हैं वे खुली रहेंगी। मतलब केमिस्ट की दुकानों से लेकर लैब, डिस्पेंसरी बंद नहीं हैं। रोगीवाहन सेवा भी जारी रहेगी और मेडिकल, पैरा मेडिकल व अस्पतलाओं के कर्मचारियों के लिए परिवहन को भी अनुमति है।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ते कहर को लेकर पीएम मोदी ने देश को तीन हफ्तों के लिया लॉकडाउन कर दिया है। इस दौरान पीएम मोदी ने देश की जनता से लक्ष्मण रेखा खींचने का जिक्र किया था, उनका मतलब था कि आप जो भी करते हैं उसमें उचित दूरी बनाये रखें। पीएम मोदी की पहल का देश वासियों ने स्वागत किया है। इसका असर आज कई जगह दिखाई भी दिया जब लोग सब्जी या कोई अन्य सामान खरीदने के लिए घरों से निकले तो लक्ष्मण रेखा खींचकर एक संदेश दिया। आपको बता दें कि कोरोना वायरस ने दुनियाभर में 19 हजार से ज्यादा लोगों की जान ले ली है। पीएम मोदी ने जोर देकर कहा कि घर में रहें, घर में रहें और एक ही काम करें कि अपने घर में रहें। उन्होंने कहा था कि साथियों, आज के फैसले ने देशव्यापी लॉकडाउन ने आपके घर के दरवाजे पर एक लक्ष्मण रेखा खींच दी है। उन्होने यह भी कहा कि अगर आप 21 दिन तक घरों में नही रहे तो देश 21 साल तक पीछे चला जायेगा। उन्होने इशारो इशारो में यह भी कह दिया था कि अगर लोग उल्लंघन करते नजर आये तो कड़ी कार्रवाई भी की जायेगी। जरूरी सामान उपल्बध रहेगा कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के मददेनजर देशभर में मंगलवार की रात 12 बजे से अगले तीन सप्ताह तक पूर्ण लॉकडाउन रहेगा, लेकिन इस दौरान भी राशन, दूध, सब्जी, फल आदि मूलभूत जरूरत की चीजों की दुकानों के साथ-साथ, बैंक, बीमा कंपनियों के दफ्तर, एटीएम, प्रिंट एंव इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिष्ठान खुले रहेंगे। वहीं सेना, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल, कोषागार, पेट्रोलियम, सीएनजी, पीएनजी, एलजीपी समेत पब्लिक युटिलिटीज, आपदा, प्रबंधन, उजार् उत्पादन व वितरण इकाइयां, डाकघर, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, पूर्व चेतावनी देनेवाली ऐजेंसियों की सेवा जारी रहेगी। इसी प्रकार, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सरकारी और स्वायशासी निकायों व सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के दफ्तर बंद रहेंगे लेकिन पुलिस, गृह रक्षक, नागरिक सुरक्षा, अग्निशमन एवं आपातकालीन सेवाएं, आपदा प्रबंधन व कारागार की सेवाएं चालू रहेंगी। इसके अलावा, जिला प्रशासन, कोषागार, बिजली, पानी, सफाई संबंधी सेवाएं जारी रहेंगी। गृह मंत्रालय के आदेश के अनुसार, अस्पताल और संबंधित चिकित्सा प्रतिष्ठानों जिनमें सरकारी एवं निजी विनिमार्ण व वितरण इकाइयां शामिल हैं वे खुली रहेंगी। मतलब केमिस्ट की दुकानों से लेकर लैब, डिस्पेंसरी बंद नहीं हैं। रोगीवाहन सेवा भी जारी रहेगी और मेडिकल, पैरा मेडिकल व अस्पतलाओं के कर्मचारियों के लिए परिवहन को भी अनुमति है।