1. हिन्दी समाचार
  2. फर्जी कागजात पर नेपाल की नागरिकता लेने वाले भारतीयों की जांच शुरु

फर्जी कागजात पर नेपाल की नागरिकता लेने वाले भारतीयों की जांच शुरु

Indians Who Take Citizenship Of Nepal On Fake Papers Begin Investigation

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

महराजगंज: गोपनीय सूचना के बाद नेपाल में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नेपाली नागरिकता हासिल करने वाले भारतीय,बांग्लादेशी और पाकिस्तान के नागरिकों की खोजबीन में नेपाल सरकार जुट गई है।

पढ़ें :- किसान आंदोलन मे कंगना के ट्वीट का दिलजीत दोसांझ ने दिया जवाब, कह डाली ये बात

जिला प्रशासन और खुफिया विभाग भारत व नेपाल सहित दोनों देशों की नागरिकता लिए लोगों की खोजबीन करते हुए कार्रवाई का सिलसिला शुरू हो गया है।

इस दौरान नेपाल के विभिन्न जिलों में फर्जी तरीके से नेपाल की नागरिकता लेने वाले कई भारतीय नागरिकों की नागरिकता रदद् करते हुए उनके खिलाफ विधिक कार्यवाही किया गया।

रविवार को एक प्रेस वार्ता कर नेपाल संचार व सूचना विधिक मंत्रालय के प्रवक्ता गोकुल बास्कोटा ने बताया कि नेपाल में फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर भारत सहित कई देशों के नागरिकों ने नेपाल की नागरिकता लिया है।

जांच व पड़ताल के बाद कई लोगो की नागरिकता रदद् करते हुए पुलिस ने कार्यवाही किया है। नेपाल के सप्तरी जिले में जीवन कुमार सिंह, धनुषा जिले में धर्मेंद्र ठाकुर व अजय कुमार ठाकुर नामक व्यक्तियों की नागरिकता मंत्री परिषद की बैठक के बाद खारिज की गई है। इसके बाद यमुना सिंह व कृपाली रावत की भी नागरिकता खारिज हुई है।

पढ़ें :- फिर बढ़े पेट्रोल और डीजल के दाम, जानिए क्‍या रहे 4 महानगरों में भाव...

भारत नेपाल सीमा से सटे जिले रुपंदेही ,नवलपरासी व कपिलवस्तु जिले में सबसे अधिक व्यक्ति जांच के दायरे मिले हैं। तीनो जिलों में करीब चार हजार लोगों का पहचान किया गया है। जिनके पास दोहरी नागरिकता है। जिसमें अधिकतर सफेदपोश व गुजरात, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के बड़े व्यापारी शामिल हैं।

भैरहवा पुलिस डीएसपी धर्म राज भंडारी ने बताया कि शासन के निर्देश पर दोहरी नागरिकता लिए लोगो की पहचान किया जा रहा है। सभी के खिलाफ कार्यवाही किया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...