भुगतान के लिए ज्यादा से ज्यादा करें डेबिट, क्रेडिट और इंटरनेट बैंकिग का इस्तेमाल: PM

Indiapm Appeals To People To Use Debit Credit Cards More Often

नई दिल्ली। प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 की नोट पर अंकुश लगा कर कालेधन पर कड़ा प्रहार दिया है। रविवार को एक कार्यक्रम के दौरान पी एम मोदी ने लोगों से अपील की है कि आपलोग नोटों से निर्भरता कम करके डेबिट या क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करें। मोदी ने कार्यक्रम में कहा कि मेरा सभी लोगों से अपील है कि भुगतान के और वैकल्पिक साधनों जैसे क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड मोबाइल बैंकिंग, इन्टरनेट बैंकिंग आदि का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें। मैं देश के लोगों से अपील करता हूँ कि प्रचलित मुद्रा पर ज्यादा निर्भरता की बजाय ‘प्लास्टिक मनी’ का अधिक से अधिक इस्तेमाल करें।



उन्होंने कहा, मेरी सरकार उन लोगों पर 31 दिसम्बर के बाद उन लोगों पर कठोर कार्यवाही करेगी जिन्होंने अपनी संपत्ति की घोषणा नहीं की है या फिर कालेधन को बदलने के लिए अवैध तरीकों का इस्तेमाल किया है। मोदी ने गरीबों को जनधन खाते का डेबिट कार्ड का अधिक प्रयोग करके नोटों का प्रयोग कम करने की अपील करते हुए कहा कि ग्रामीण आबादी के अधिक शिक्षित होने की स्थिति में इसका अधिक इस्तेमाल हो सकता है।




मोदी ने कहा, बड़े नोटों को बंद किए जाने से गरीब और मध्यमवर्ग पर कोई असर नहीं पड़ेगा। वे सरकार के पूरे समर्थन में हैं। इस योजना से यह वर्ग प्रभावित नहीं होगा। बैंकों में लंबी कतारों में लगने के बावजूद वे कोई शिकायत नहीं कर रहे हैं लेकिन कालेधन का इस्तेमाल करने वाले निश्चित तौर पर मुश्किल में आ जाएंगे। हम ऐसे सभी लोगों को पकड़ेंगे। मोदी ने गरीबों के जनधन खाते का डेबिट कार्ड का अधिक इस्तेमाल करके नोटों का प्रयोग कम करने के लिए अपील करते हुए कहा कि ग्रामीण आबादी के अधिक शिक्षित होने की स्थित में इसका इस्तेमाल हो सकता है।

आस्था सिंह की रिपोर्ट
 

नई दिल्ली। प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 की नोट पर अंकुश लगा कर कालेधन पर कड़ा प्रहार दिया है। रविवार को एक कार्यक्रम के दौरान पी एम मोदी ने लोगों से अपील की है कि आपलोग नोटों से निर्भरता कम करके डेबिट या क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करें। मोदी ने कार्यक्रम में कहा कि मेरा सभी लोगों से अपील है कि भुगतान के और वैकल्पिक साधनों जैसे क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड मोबाइल बैंकिंग, इन्टरनेट बैंकिंग आदि का ज्यादा…