ये है भारत का पहला सुपर कंप्यूटर Param Shivay, पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

param-shivay-super-computer
ये है भारत का पहला सुपर कम्प्युटर Param Shivay, पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के बनारस में मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (BHU) में सुपर कम्प्यूटर Param Shivay का उद्धाटन कर दिया है। इन कंप्यूटरों की खास बात ये है कि इसमें 833 टेराफ्लॉप की क्षमता दी गई है। इस कंप्यूटर को पूर्ण रूप से भारत में बनाया गया है। इससे डिजिटल इंडिया और मेक इन इंडिया योजना को एक नया आयाम मिलेगा। ये कंप्यूटर इतना कारगर होगा कि अब कोई भी रिसर्च ज्यादा समय नहीं लेगा।

Indias First Supercomputer Param Shivay :

वहीं, सुपर कम्प्यूटिंग मशीन (NSM) के तहत यह सुविधा IIT-BHU में शुरू की गई है। IIT के निदेशक प्रोफेसर प्रमोद कुमार जैन ने बताया कि सेंटर फॉर डेवलेपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग ने NSM के तहत 833 टेराफ्लॉप कैपेसिटी वाले पहले सुपर Param Shivay का निर्माण किया है।

बता दें कि सुपर कंप्यूटर का लाभ IIT-BHU की फैक्लटी, वैज्ञानिकों और रिसर्च के छात्रों को मिलेगा। इनके साथ पूर्वी यूपी के आसपास क्षेत्रों के इंजीनियरिंग कॉलेज के रिसर्च छात्रों के साथ सरकारी रिसर्च लैबोरेट्रीज में चल रही  परियोजनाओं को Param Shivay कम्प्यूटर लाभ पहुंचाएगा। वहीं, 40 फीसद कंप्यूटर पावर नवोदय विद्यालय के छात्रों द्वारा इस्तेमाल किया जाएगा।

Param Shivay के फीचर्स-

भारत का ये सुपर कम्प्युटर Param Shivay में 1 पेटा बाइट सेकेंडरी स्टोरेज दी गई है। साथ ही इसमें ओपन सोर्स सिस्टम मौजूद है और 223 प्रोसेसर नोड्स, 384 जीबी प्रति नोड्स DDR4 रैम, पैरेलल फाइल सिस्टम समेत CPU औप GPU शामिल हैं। ये भारत का पहला सुपर कंप्यूटर Param 8000 को वर्ष 1991 में लॉन्च किया गया था।

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के बनारस में मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (BHU) में सुपर कम्प्यूटर Param Shivay का उद्धाटन कर दिया है। इन कंप्यूटरों की खास बात ये है कि इसमें 833 टेराफ्लॉप की क्षमता दी गई है। इस कंप्यूटर को पूर्ण रूप से भारत में बनाया गया है। इससे डिजिटल इंडिया और मेक इन इंडिया योजना को एक नया आयाम मिलेगा। ये कंप्यूटर इतना कारगर होगा कि अब कोई भी रिसर्च ज्यादा समय नहीं लेगा। वहीं, सुपर कम्प्यूटिंग मशीन (NSM) के तहत यह सुविधा IIT-BHU में शुरू की गई है। IIT के निदेशक प्रोफेसर प्रमोद कुमार जैन ने बताया कि सेंटर फॉर डेवलेपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग ने NSM के तहत 833 टेराफ्लॉप कैपेसिटी वाले पहले सुपर Param Shivay का निर्माण किया है। बता दें कि सुपर कंप्यूटर का लाभ IIT-BHU की फैक्लटी, वैज्ञानिकों और रिसर्च के छात्रों को मिलेगा। इनके साथ पूर्वी यूपी के आसपास क्षेत्रों के इंजीनियरिंग कॉलेज के रिसर्च छात्रों के साथ सरकारी रिसर्च लैबोरेट्रीज में चल रही  परियोजनाओं को Param Shivay कम्प्यूटर लाभ पहुंचाएगा। वहीं, 40 फीसद कंप्यूटर पावर नवोदय विद्यालय के छात्रों द्वारा इस्तेमाल किया जाएगा। Param Shivay के फीचर्स- भारत का ये सुपर कम्प्युटर Param Shivay में 1 पेटा बाइट सेकेंडरी स्टोरेज दी गई है। साथ ही इसमें ओपन सोर्स सिस्टम मौजूद है और 223 प्रोसेसर नोड्स, 384 जीबी प्रति नोड्स DDR4 रैम, पैरेलल फाइल सिस्टम समेत CPU औप GPU शामिल हैं। ये भारत का पहला सुपर कंप्यूटर Param 8000 को वर्ष 1991 में लॉन्च किया गया था।