भारत की दक्षिण अफ्रीका पर विराट जीत, टूटे-बने कई रिकॉर्ड्स

cricket
भारत की दक्षिण अफ्रीका पर विराट जीत, टूटे-बने कई रिकॉर्ड्स

नई दिल्ली। भारत ने रांची में खेले गए तीन टेस्ट की सीरीज के आखिरी मैच में दक्षिण अफ्रीका को पारी और 202 रन से करारी शिकस्त दी है। इस जीत के साथ टीम इंडिया ने सीरीज 3-0 से क्लीन स्वीप कर ली। यह श्रृंखला अपने नाम करते ही टीम इंडिया को फ्रीडम ट्रॉफी सौंपी गई। यह टेस्ट इतिहास में पहला मौका है जब भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका का सूपड़ा साफ किया हो।

Indias Great Victory Over South Africa Many Records Broken :

टीम इंडिया ने पिछले ही मैच में उसे पारी और 137 रन से हराया था। भारत ने सीरीज के पहले टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका को 203 रन और दूसरे टेस्ट में एक पारी और 137 रन से हराया था। रोहित शर्मा को मैन ऑफ द सीरीज और मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड दिया गया। उन्होंने 4 पारियों में 132.25 की औसत से 529 रन बनाए।

टीम इंडिया ने पहली पारी में 9 विकेट पर 497 रन बनाए थे। दक्षिण अफ्रीकी टीम पहली पारी में 162 रन पर सिमट गई थी। वहीं दूसरी पारी में अफ्रीकी टीम ने 133 रन पर ही आलआउट हो गई। उसके लिए थिउनिस डी ब्रुईन ने 30 और जॉर्ज लिंडे ने 27 रन बनाए। भारत के लिए मोहम्मद शमी ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए। शहबाज नदीम और उमेश यादव को 2-2 विकेट मिले।

इससे पहले कोई भी भारतीय कप्तान साउथ अफ्रीका को टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप नहीं कर पाया है। इसके अलावा विराट साउथ अफ्रीका को लगातार दो टेस्ट मैचों में फॉलोऑन देकर पारी और रन के अंतर से जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान बन गए हैं।

अफ्रीकी टीम 83 साल बाद किसी सीरीज में दो या उससे ज्यादा टेस्ट पारी की अंतर से हारी। पिछली बार 1935-36 में उसे ऑस्ट्रेलिया नेन लगातार तीन टेस्ट में पारी के अंतर से हराया था। अफ्रीकी टीम 1990 के बाद तीसरी बार 3+ टेस्ट की सीरीज में सभी मुकाबले हारी। इससे पहले 2001/02 में उसे ऑस्ट्रेलिया, 2005/06 में भी ऑस्ट्रेलिया और 2019/20 में भारत ने 3-0 से हराया।

मैदान पर लौटे चोटिल साहा

भारतीय विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा तीसरे दिन उंगली में चोट के कारण मैदान से बाहर हो गए थे। उनकी जगह ऋषभ पंत ने कीपिंग की जिम्मेदारी संभाली। चौथे दिन साहा ने वापसी मैदान पर वापसी की।

घरेलू मैदान में सबसे ज्यादा जीत का रिकार्ड

इस टेस्ट सीरीज को जीतने के साथ ही भारत ने घरेलू सरजमीं पर लगातार सबसे ज्यादा टेस्ट सीरीज जीतने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया है। भारतीय टीम ने एमएस धोनी, अजिंक्य रहाणे और विराट कोहली की कप्तानी में अब तक घरेलू सरजमीं पर कुल 11 सीरीज जीत ली हैं। इस मामले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पीछे छोड़ दिया है जिन्होंने दो बार 10-10 टेस्ट सीरीज लगातार अपने देश में जीती हैं।

नई दिल्ली। भारत ने रांची में खेले गए तीन टेस्ट की सीरीज के आखिरी मैच में दक्षिण अफ्रीका को पारी और 202 रन से करारी शिकस्त दी है। इस जीत के साथ टीम इंडिया ने सीरीज 3-0 से क्लीन स्वीप कर ली। यह श्रृंखला अपने नाम करते ही टीम इंडिया को फ्रीडम ट्रॉफी सौंपी गई। यह टेस्ट इतिहास में पहला मौका है जब भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका का सूपड़ा साफ किया हो। टीम इंडिया ने पिछले ही मैच में उसे पारी और 137 रन से हराया था। भारत ने सीरीज के पहले टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका को 203 रन और दूसरे टेस्ट में एक पारी और 137 रन से हराया था। रोहित शर्मा को मैन ऑफ द सीरीज और मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड दिया गया। उन्होंने 4 पारियों में 132.25 की औसत से 529 रन बनाए। टीम इंडिया ने पहली पारी में 9 विकेट पर 497 रन बनाए थे। दक्षिण अफ्रीकी टीम पहली पारी में 162 रन पर सिमट गई थी। वहीं दूसरी पारी में अफ्रीकी टीम ने 133 रन पर ही आलआउट हो गई। उसके लिए थिउनिस डी ब्रुईन ने 30 और जॉर्ज लिंडे ने 27 रन बनाए। भारत के लिए मोहम्मद शमी ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए। शहबाज नदीम और उमेश यादव को 2-2 विकेट मिले। इससे पहले कोई भी भारतीय कप्तान साउथ अफ्रीका को टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप नहीं कर पाया है। इसके अलावा विराट साउथ अफ्रीका को लगातार दो टेस्ट मैचों में फॉलोऑन देकर पारी और रन के अंतर से जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान बन गए हैं। अफ्रीकी टीम 83 साल बाद किसी सीरीज में दो या उससे ज्यादा टेस्ट पारी की अंतर से हारी। पिछली बार 1935-36 में उसे ऑस्ट्रेलिया नेन लगातार तीन टेस्ट में पारी के अंतर से हराया था। अफ्रीकी टीम 1990 के बाद तीसरी बार 3+ टेस्ट की सीरीज में सभी मुकाबले हारी। इससे पहले 2001/02 में उसे ऑस्ट्रेलिया, 2005/06 में भी ऑस्ट्रेलिया और 2019/20 में भारत ने 3-0 से हराया।

मैदान पर लौटे चोटिल साहा

भारतीय विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा तीसरे दिन उंगली में चोट के कारण मैदान से बाहर हो गए थे। उनकी जगह ऋषभ पंत ने कीपिंग की जिम्मेदारी संभाली। चौथे दिन साहा ने वापसी मैदान पर वापसी की।

घरेलू मैदान में सबसे ज्यादा जीत का रिकार्ड

इस टेस्ट सीरीज को जीतने के साथ ही भारत ने घरेलू सरजमीं पर लगातार सबसे ज्यादा टेस्ट सीरीज जीतने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया है। भारतीय टीम ने एमएस धोनी, अजिंक्य रहाणे और विराट कोहली की कप्तानी में अब तक घरेलू सरजमीं पर कुल 11 सीरीज जीत ली हैं। इस मामले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पीछे छोड़ दिया है जिन्होंने दो बार 10-10 टेस्ट सीरीज लगातार अपने देश में जीती हैं।