सीमा पर सेना की तैनाती से घबराया चीन, कहा- रिश्‍ते हो सकते हैं खराब 

india army , भारतीय सेना , भारत चाइना विवाद
सीमा पर सेना की तैनाती से घबराया चीन, कहा- रिश्‍ते हो सकते हैं खराब 
नई दिल्ली। डोकलाम विवाद के बाद भारत और चीन के बीच संबंधों को सामान्‍य करने की कई कोशिशें हो रही हैं लेकिन इन सबके बीच एक चीनी विशेषज्ञ की मानें तो दोनों देशों के बीच जो आपसी भरोसा कायम हुआ है वह खत्‍म हो सकता है।  चीन के एक विश्लेषक ने यह बात कही है। इससे पहले भारत के अधिकारियों ने बताया था कि डोकलाम जैसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए भारत, चीन, म्यामां के ट्राई- जंक्शन क्षेत्र में…

नई दिल्ली। डोकलाम विवाद के बाद भारत और चीन के बीच संबंधों को सामान्‍य करने की कई कोशिशें हो रही हैं लेकिन इन सबके बीच एक चीनी विशेषज्ञ की मानें तो दोनों देशों के बीच जो आपसी भरोसा कायम हुआ है वह खत्‍म हो सकता है।  चीन के एक विश्लेषक ने यह बात कही है। इससे पहले भारत के अधिकारियों ने बताया था कि डोकलाम जैसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए भारत, चीन, म्यामां के ट्राई- जंक्शन क्षेत्र में गश्त बढ़ाने के लिए हिमालय क्षेत्र में सैनिकों की तैनाती की गई है।

भारत-चीन संबंध होंगे कमजोर

सीमा पर भारतीय सैनिकों की तैनाती में वृद्धि पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए शंघाई इंस्टीट्यूट फॉर इंटरनेशनल स्टडीज में सेंटर फॉर एशिया पैसिफिक स्टडीज के निदेशक झाओ गांचेंग ने कहा कि सीमा पर भारत के‘‘ उकसावे’’ से पारस्परिक विश्वास की नींव‘‘ ध्वस्त’’ होगी और द्विपक्षीय संबंध कमतर होंगे। उन्होंने कहा कि भारत सीमा पर अपनी सैन्य तैनाती बढ़ा रहा है क्योंकि उसे कभी यह विश्वास नहीं हुआ कि सीमावर्ती क्षेत्र शांतिपूर्ण रहेगा। झाओ ने कहा कि पारस्परिक सैन्य अविश्वास अंतत: राजनयिक, अर्थव्यवस्था और सांस्कृतिक आदान- प्रदान सहित सभी क्षेत्रों में भारत-चीन संबंधों को कमजोर करेगा।

{ यह भी पढ़ें:- कुलगाम मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, एक जवान शहीद }

भारत ने बढ़ाई है सेना

एक और सीनियर आर्मी ऑफिसर की ओर से कहा गया था कि चीनी सेना अक्‍सर डोकलाम में दाखिल नहीं होती लेकिन उसने यहां पर सड़क का निर्माण कर लिया है। इस निर्माण कार्य की वजह से उनके सैनिको को यहां पर आने में आसानी हो सकेगी। भारत और चीन की सेनाएं 16 जून से 73 दिनों तक डोकलाम में आमने-सामने थीं। यह विवाद 28 अगस्‍त को जाकर खत्‍म हो सका था। डोकलाम पर चीन अपना हक जताता है और भूटान इसे अपना हिस्‍सा बताता है। चीन ने पिछले वर्ष इस विवादित हिस्‍से पर सड़क निर्माण की कोशिश की थी और भारत ने चीनी सैनिकों को रोकने के लिए अपने सैनिकों को यहां पर भेजा था। डोकलाम विवाद के बाद से ही भारत ने डोकलाम में सेना बढ़ा दी है और गश्‍त बढ़ा दी है।

Loading...