1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि: जब 1971 में पाकिस्तान को मिली थी करारी शिकस्त

इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि: जब 1971 में पाकिस्तान को मिली थी करारी शिकस्त

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की आज पुण्यतिथि है। पूरे देश में उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है। इस मौके पर देश इंदिरा गांधी के साहसिक फैसले को याद करता है। इंदिरा गांधी ने कुशल नेतृत्व के कारण 1971 में पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी थी। आज भी जब जिक्र होता है तो भारत अपनी छाती चौड़ी करके कहता है कि ये वो समय था जब हमने तुम्हें झुकने पर मजबूर किया था। ये साल पूर्व पीएम इंदिरा गांधी के यादगार निर्णयों की वजह से याद किया जाता है।

पढ़ें :- अब क्षेत्रीय भाषाओं में होगी इंजीनियरिंग और तकनीकी कोर्स की पढ़ाई, अगले शैक्षणिक वर्ष से होगी शुरू

आज यानी 31 अक्टूबर को इंदिरा की पुण्यतिथि है और उनसे जुड़ी उस कहानी से रूबरू करा रहे हैं जिसने उन्हें आयरन लेडी बना दिया था। बता दें कि, 1971 के में पाकिस्तान सरकार और सेना अपने नागरिकों पर जुल्म कर रहा था, जिसके कारण वहां पर विद्रोह शुरू हो गया था। जो इसमें शामिल नहीं हो पा रहे थे वो भारतीय सीमा में दाखिल हो रहे थे।

पाकिस्तान किसी ना किसी बहाने से चीन और अमेरिका की ताकत पर फूलते हुए भारत को गीदड़ धभकियां दे रहा था। 25 अप्रैल 1971 को तो इंदिरा ने थलसेनाध्यक्ष से यहां तक कह दिया था कि अगर पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए जंग करनी पड़े तो करें, उन्हें इसकी कोई परवाह नहीं है। इंदिरा गांधी के कुशल नेतृत्व के कारण पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी थी।

वहीं, इस मौके पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि, ‘हमारी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि।’ कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता इंदिरा गांधी को आज उनकी पुण्यतिथि पर याद कर रहे हैं। बता दें कि इंदिरा गांधी भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री थीं। आज ही के दिन 1984 में उनकी हत्या कर दी गई थी। इंदिरा गांधी जनवरी 1966 से मार्च 1977 तक देश की प्रधानमंत्री रहीं। इसके बाद 1980 में दोबारा वह इस पद पर पहुंचीं। वह वर्ष 1959 से 1960 तक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की अध्यक्ष भी रहीं थीं।

पढ़ें :- किसान अंदोलन: अपनी मांगों पर अड़े किसान, दिल्ली में 9 स्टेडियम को अस्थाई जेल बनाने की तैयारी

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...