इंदौर टेस्ट: बांग्लादेश 150 रन पर आलआउट, खेलने उतरी टीम इंडिया को लगा पहला झटका, रोहित शर्मा आउट

indore test
इंदौर टेस्ट: बांग्लादेश 150 रन पर आलआउट, खेलने उतरी टीम इंडिया को लगा पहला झटका, रोहित शर्मा आउट

इंदौर। इंदौर के होलकर क्रिकेट स्टेडियम में भारत और बांग्लादेश के बीच पहला टेस्ट मैच खेला जा रहा है। भारतीय गेंदबाजों के शानदार आक्रमण से बांग्लादेशी टीम महज 150 रन पर ही सिमट गई। जवाब में खेलने उतरी टीम इंडिया को बड़ा झटका लगा और रोहित शर्मा 6 रन बनाकर आउट हो गए।

Indore Test Bangladesh All Out For 150 Runs First Blow To Team India Rohit Sharma Out :

इसके पहले बांग्लादेश के नए कप्तान मोमिनुल हक ने टॉस बल्लेबाजी का फैसला किया। हालांकि मोमिनुल का यह फैसला गलत साबित हुआ और 30 रन पर ही उनके तीन खिलाड़ी पवेलियन लौट गए। इसके बाद पूरी टीम संभल नहीं पाई और 150 रन पर ही ढेर हो गई।

पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश की टीम की तरफ से कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल पाया और एक के बाद एक पवेलियन लौटता रहा। बांग्लादेश की तरफ से मुश्फिकुर रहीम ने सर्वाधिक 43 रन बनाए। वहीं भारत की तरफ से मोहम्मद शमी ने सर्वाधिक तीन और इशांत-अश्विन-उमेश ने दो-दो विकेट चटकाए।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की टीम को छठे ही ओवर में उमेश यादव ने पहला झटका दिया। ओवर की आखिरी गेंद पर उमेश ने इमरुल को रहाणे के हाथों कैच करवाया। इससे पहले कि मेहमान टीम संभल पाती उन्हें अगले ही ओवर में इशांत शर्मा ने भी करारा झटका दे दिया।

इशांत ने सातवें ओवर की आखिरी गेंद पर शादमान इस्लाम को विकेटकीपर रि​द्धिमान साहा के हाथों कैच करवाया। इस्लाम 24 गेंदों में छह रन बनाकर पवेलियन लौटे। दो विकेट गिरने के बाद मोहम्मद मिथुन ने कप्तान मोमिनुल के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाना शुरू किया और कुछ रन भी जोड़े, लेकिन 18वें में शमी ने इस साझेदारी को तोड़ दिया। ओवर की आखिरी गेंद पर शमी ने मिथुन को 13 रन के स्कोर पर एलबीडब्ल्यू आउट किया।

टीम ने विश्व चैंपियनशिप में अभी तक पांच मुकाबले खेले हैं और सभी में जीत दर्ज की और अंकतालिका में 240 अंकों के साथ शीर्ष पर है। सीमित ओवरों के क्रिकेट में बेहतर प्रदर्शन करने वाली बांग्लादेशी टीम पारंपरिक प्रारूप में हमेशा कमजोर साबित हुई है। टीम इंडिया इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 3-0 से सीरीज क्लीन स्वीप कर घर में लगातार 11 टेस्ट सीरीज जीतने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुकी है और इसे और मजबूत करना चाहेगी। वहीं पिछली सीरीज में दक्षिण अफ्रीका को हराने वाली भारतीय टीम के पास अब तक का सर्वश्रेष्ठ तेज आक्रमण है।

इंदौर। इंदौर के होलकर क्रिकेट स्टेडियम में भारत और बांग्लादेश के बीच पहला टेस्ट मैच खेला जा रहा है। भारतीय गेंदबाजों के शानदार आक्रमण से बांग्लादेशी टीम महज 150 रन पर ही सिमट गई। जवाब में खेलने उतरी टीम इंडिया को बड़ा झटका लगा और रोहित शर्मा 6 रन बनाकर आउट हो गए। इसके पहले बांग्लादेश के नए कप्तान मोमिनुल हक ने टॉस बल्लेबाजी का फैसला किया। हालांकि मोमिनुल का यह फैसला गलत साबित हुआ और 30 रन पर ही उनके तीन खिलाड़ी पवेलियन लौट गए। इसके बाद पूरी टीम संभल नहीं पाई और 150 रन पर ही ढेर हो गई। पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश की टीम की तरफ से कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल पाया और एक के बाद एक पवेलियन लौटता रहा। बांग्लादेश की तरफ से मुश्फिकुर रहीम ने सर्वाधिक 43 रन बनाए। वहीं भारत की तरफ से मोहम्मद शमी ने सर्वाधिक तीन और इशांत-अश्विन-उमेश ने दो-दो विकेट चटकाए। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की टीम को छठे ही ओवर में उमेश यादव ने पहला झटका दिया। ओवर की आखिरी गेंद पर उमेश ने इमरुल को रहाणे के हाथों कैच करवाया। इससे पहले कि मेहमान टीम संभल पाती उन्हें अगले ही ओवर में इशांत शर्मा ने भी करारा झटका दे दिया। इशांत ने सातवें ओवर की आखिरी गेंद पर शादमान इस्लाम को विकेटकीपर रि​द्धिमान साहा के हाथों कैच करवाया। इस्लाम 24 गेंदों में छह रन बनाकर पवेलियन लौटे। दो विकेट गिरने के बाद मोहम्मद मिथुन ने कप्तान मोमिनुल के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाना शुरू किया और कुछ रन भी जोड़े, लेकिन 18वें में शमी ने इस साझेदारी को तोड़ दिया। ओवर की आखिरी गेंद पर शमी ने मिथुन को 13 रन के स्कोर पर एलबीडब्ल्यू आउट किया। टीम ने विश्व चैंपियनशिप में अभी तक पांच मुकाबले खेले हैं और सभी में जीत दर्ज की और अंकतालिका में 240 अंकों के साथ शीर्ष पर है। सीमित ओवरों के क्रिकेट में बेहतर प्रदर्शन करने वाली बांग्लादेशी टीम पारंपरिक प्रारूप में हमेशा कमजोर साबित हुई है। टीम इंडिया इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 3-0 से सीरीज क्लीन स्वीप कर घर में लगातार 11 टेस्ट सीरीज जीतने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुकी है और इसे और मजबूत करना चाहेगी। वहीं पिछली सीरीज में दक्षिण अफ्रीका को हराने वाली भारतीय टीम के पास अब तक का सर्वश्रेष्ठ तेज आक्रमण है।