1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Inflation: उच्चतम स्तर पर पहुंची थोक महंगाई, अप्रैल में बढ़कर 15 फीसदी के पार निकली

Inflation: उच्चतम स्तर पर पहुंची थोक महंगाई, अप्रैल में बढ़कर 15 फीसदी के पार निकली

महंगाई से जूझ रही देश की जनता को एक और बड़ा झटका लगा है। सरकार के महंगाई पर किए जा रहे प्रयास सभी असफल हो रहे हैं। जनता को महंगाई के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बीते दिनों खुदरा मुद्रास्फीति आठ साल के उच्च स्तर पर पहुंच गई। वहीं, अब थोक मुद्रास्फीति में भी वृद्धि देखने को मिल रही है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Inflation: महंगाई से जूझ रही देश की जनता को एक और बड़ा झटका लगा है। सरकार के महंगाई पर किए जा रहे प्रयास सभी असफल हो रहे हैं। जनता को महंगाई के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बीते दिनों खुदरा मुद्रास्फीति आठ साल के उच्च स्तर पर पहुंच गई। वहीं, अब थोक मुद्रास्फीति में भी वृद्धि देखने को मिल रही है।

पढ़ें :- जल्दी बनवा लें अपना घर : आधी हुई सरिया की कीमत, सीमेंट-बालू भी हुआ सस्ता

सरकार की ओर से मंगलवार को जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल में थोक महंगाई दर 15.08 फीसदी के उच्च स्तर पर पहुंच गई। इससे बीते महीने मार्च में यह 14.55 फीसदी पर थी। थोक महंगाई का यह आंकड़ा बीते नौ सालों में सबसे बड़ा है। बता दें कि, थोक महंगाई में बढ़ोत्तरी के बाद खाद्य पदार्थों से लेकर कई अन्य चीजों के दामों में वृद्धि होगी।

खुदरा के बाद थोक महंगाई में हुए इस बड़े इजाफे पर वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि अप्रैल 2022 में मुद्रास्फीति की उच्च दर मुख्य रूप से खनिज तेलों, मूल धातुओं, कच्चे पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, खाद्य पदार्थों, गैर-खाद्य वस्तुओं, खाद्य उत्पादों और रसायनों और रासायनिक उत्पादों की कीमतों में वृद्धि के कारण थी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...