MS Dhoni से प्रेरित होकर विकेटकीपर बनीं तानिया भाटिया, लेकिन फेवरेट विकेटकीपर है काई और

तानिया भाटिया

नई दिल्ली। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की विकेटकीपर तानिया भाटिया ने बताया कि वो किस विकेटकीपर को फॉलो करती हैं। तानिया भाटिया को महज 13 साल की उम्र में ही पंजाब की सीनियर महिला क्रिकेट टीम में चुन लिया गया था और वो पंजाब की तरफ से सीनियर महिला क्रिकेट टीम में चुनी जाने वाली सबसे युवा क्रिकेटर बनी थीं। उन्होंने बताया कि आखिर उन्हें विकेटकीपर बनने की प्रेरणा किनसे मिली।

Inspired By Ms Dhoni Tania Bhatia Became Wicketkeeper But Favorite Wicketkeeper Is Kai And :

तानिया ने बताया कि वो MS Dhoni से प्रेरित होकर विकेटकीपर बनीं, लेकिन वो ऑस्ट्रिेलिया के पूर्व विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट की बहुत बड़ी फैन हैं। उन्होंने कहा कि मेरे लिये एम एस धौनी सबसे बड़ी प्रेरणा हैं, क्योंकि कई लोग कई बार कह चुके हैं कि आप उन्हीं की तरह कीपिंग करती हैं और आपमें उनकी छवि दिखती है। उनके साथ मेरी तुलना का कोई सवाल ही नहीं उठता। मैं धौनी के आंख और हाथ के समन्वय की बहुत बड़ी प्रशंसक हूं। ये मुझे काफी पसंद है और इससे मैं कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित होती हूं। हालांकि बचपन से मेरी प्रेरणा एडम गिलक्रिस्ट रहे हैं और मैं उनसे मिली भी हूं।

गिलक्रिस्ट से हुई मुलाकात के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि वर्ल्ड कप के पहले मुकाबले के दौरान मुझे नहीं पता था कि वो कमेंट्री बॉक्स में हैं और बाद में मुझे ये बात पता चली। मैं उनसे पहली बार तब मिली थी जब 8 या 9 साल की थी। उस वक्त आइपीएल में वो किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलते थे और प्रैक्टिस कर रहे थे। कल्पना करिए कि वो खुद मेरे पास आए और मुझसे कहा कि- हाय, हाउ आर यू। मैं तो उनसे मिलकर कांप रही थी, लेकिन मैंने उनसे कहा कि मैं भी विकेटकीपर हूं।

उन्होंने कहा कि वर्ल्ड कप के उस मैच के दौरान उन्हें शायद ही पता होगा कि मैं वही लड़की हूं जो उनसे पहले मिल चुकी है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उस मैच में मैं चार विकेट गिराने में शामिल थी, वो मेरे पास आए और मेरी विकेटकीपिंग की सराहना की। उन्होंने मुझसे कहा कि आपने अच्छा खेला और उन्होंने मेरा दिन बना दिया। मैं ये कभी नहीं भूल सकती कि उन्होंने मेरी विकेटकीपिंग की सराहना कि थी और ये सचमुच यादगार लम्हा था।

नई दिल्ली। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की विकेटकीपर तानिया भाटिया ने बताया कि वो किस विकेटकीपर को फॉलो करती हैं। तानिया भाटिया को महज 13 साल की उम्र में ही पंजाब की सीनियर महिला क्रिकेट टीम में चुन लिया गया था और वो पंजाब की तरफ से सीनियर महिला क्रिकेट टीम में चुनी जाने वाली सबसे युवा क्रिकेटर बनी थीं। उन्होंने बताया कि आखिर उन्हें विकेटकीपर बनने की प्रेरणा किनसे मिली। तानिया ने बताया कि वो MS Dhoni से प्रेरित होकर विकेटकीपर बनीं, लेकिन वो ऑस्ट्रिेलिया के पूर्व विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट की बहुत बड़ी फैन हैं। उन्होंने कहा कि मेरे लिये एम एस धौनी सबसे बड़ी प्रेरणा हैं, क्योंकि कई लोग कई बार कह चुके हैं कि आप उन्हीं की तरह कीपिंग करती हैं और आपमें उनकी छवि दिखती है। उनके साथ मेरी तुलना का कोई सवाल ही नहीं उठता। मैं धौनी के आंख और हाथ के समन्वय की बहुत बड़ी प्रशंसक हूं। ये मुझे काफी पसंद है और इससे मैं कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित होती हूं। हालांकि बचपन से मेरी प्रेरणा एडम गिलक्रिस्ट रहे हैं और मैं उनसे मिली भी हूं। गिलक्रिस्ट से हुई मुलाकात के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि वर्ल्ड कप के पहले मुकाबले के दौरान मुझे नहीं पता था कि वो कमेंट्री बॉक्स में हैं और बाद में मुझे ये बात पता चली। मैं उनसे पहली बार तब मिली थी जब 8 या 9 साल की थी। उस वक्त आइपीएल में वो किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलते थे और प्रैक्टिस कर रहे थे। कल्पना करिए कि वो खुद मेरे पास आए और मुझसे कहा कि- हाय, हाउ आर यू। मैं तो उनसे मिलकर कांप रही थी, लेकिन मैंने उनसे कहा कि मैं भी विकेटकीपर हूं। उन्होंने कहा कि वर्ल्ड कप के उस मैच के दौरान उन्हें शायद ही पता होगा कि मैं वही लड़की हूं जो उनसे पहले मिल चुकी है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उस मैच में मैं चार विकेट गिराने में शामिल थी, वो मेरे पास आए और मेरी विकेटकीपिंग की सराहना की। उन्होंने मुझसे कहा कि आपने अच्छा खेला और उन्होंने मेरा दिन बना दिया। मैं ये कभी नहीं भूल सकती कि उन्होंने मेरी विकेटकीपिंग की सराहना कि थी और ये सचमुच यादगार लम्हा था।