1. हिन्दी समाचार
  2. रक्षाबंधन 2020: इस राखी पर भाई अपनी बहनों से करें ये वादे

रक्षाबंधन 2020: इस राखी पर भाई अपनी बहनों से करें ये वादे

Instead Of Gifts Do Promises To Your Sisters 2

By आस्था सिंह 
Updated Date

लखनऊ। भाई और बहन के प्यार भरे रिश्ते का प्रतीक है रक्षा बंधन का त्योहार। रक्षा बंधन के दिन बहने अपने भाई की कलाई पर रंग बिरंगी राखियां बांधकर अपनी रक्षा का वचन लेती हैं और भाई बाहों को खूबसूरत गिफ्ट देकर उनका सम्मान करते हैं। राखी के मौके पर बहनों को गिफ्ट देने की परंपरा तो काफी पुरानी हो चुकी है तो इस बार भाइ अपनी बहनों को गिफ्ट देने के बजाय उनके आत्मविश्वास और मनोबल को बढ़ाने के लिए उनसे कुछ खास वादे कर सकते हैं जिसे अपनाकर बहनें अपनी जिंदगी निखार सकती हैं।

पढ़ें :- गणतंत्र दिवस परेडः कैडेट्स और कलाकारों को पीएम मोदी ने किया संबोधित, कहीं ये बातें...

हर हाल में बहनों को दें इमोश्नल सपोर्ट

कई ऐसे मौके आते हैं जब बहनें अपने परिवार से इमोशनल सपोर्ट की आस रखती हैं लेकिन कई बार किन्ही कारणों से ऐसा हो नहीं पता। ऐसे में इस राखी पर आप अपनी बहन को एहसास दिलाएं कि जितना सहयोग उसे आपसे चाहिए, आपको भी उसके साथ की उतनी ही जरूरत है।

अकेले जाना सिखाएं

हमेशा हम देखते हैं कि बहनों को किसी भी काम से बाहर जाना होता है या बाहर का कोई काम करवाना होता है तो बहने सबसे पहले अपनी भाई से उम्मीद करती हैं कि या तो भाई ही काम करवा दें या उसके साथ चले। अगर आपकी बहन भी कुछ ऐसा ही सोचती है तो आप इस राखी उनके मन में आत्मविश्वास पैदा करें।

पढ़ें :- सोनौली:ट्रक में मिला आठ फुट लम्बा जहरीला साँप मचा हड़कंप

बहनो को मजबूत बनाने का वादा करें

अक्सर ऐसा देखा गया है कि भाई अपनी बहनों को काफी कमजोर मानते हैं। ‘रात में अकेले न जाना’, ‘कोई कुछ कहे तो जवाब न देना’, ‘बाहर जा रही हो तो अंजान लोगों से बात न करना’ कुछ ऐसे ही शब्द हैं जो भाई अपनी बहनों को कहते हुए दिखाई देते हैं। लेकिन इस बार आप अपनी बहन को शारीरिक रुप से मजबूती दें। इसके लिए आप अपनी बहन को मार्शल आर्ट्स के क्लासेज ज्वॉइन करा सकते हैं।

फैसले लेने में सक्षम

जब घर में किसी बात की राय या फिर फैसला लेने की होती है तो अक्सर भाई ही अपनी बहनों का फैसला लेने लगते हैं लेकिन आप अपनी बहन को उसके लिए सक्षम बनाएं। तो इस बार बहनों को चाहिए कि वो अपने भाइयों के साथ-साथ पूरे परिवार को इस बात को समझाए कि वो फैसले लेने में उतनी ही सक्षम है।

पढ़ें :- कांग्रेस ने वोट बटोरने के अलावा असम के लिए क्या किया : अमित शाह

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...