1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. खुफिया विभाग को 20 दिन पहले ही मिली थी ये महत्वपूर्ण जानकारी, अधिकारियों के साथ हुई थी बैठक!

खुफिया विभाग को 20 दिन पहले ही मिली थी ये महत्वपूर्ण जानकारी, अधिकारियों के साथ हुई थी बैठक!

Intelligence Department Had Received This Important Information 20 Days Ago A Meeting Was Held With The Officials

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। ट्रैक्टर रैली के दौरान आराजकतत्वों ने पहले ही हिंसा फैलाने की साजिश रच दी थी। दिल्ली पुलिस ने पहले ही इसकी संभावना जताई थी। इसके बाद भी उपद्रवी लाल किले तक पहुंच गए और अपना झंडा लहरा दिए। इसके बाद विपक्ष खुफिया एजेंसी और दिल्ली पुलिस की लापरवाही को उजागर होने की बात कह रही है। विपक्ष गृहमंत्री अमित शाह पर भी कई सवाल उठा रहा है।

पढ़ें :- लाल किला हिंसा में शामिल दो आरोपी गिरफ्तार, जम्मू-कश्मीर पुलिस की मदद से इनको दबोचा

वहीं सूत्रों के अनुसार, जनवरी के पहले हफ्ते में विशेष खुफिया निदेशक ब्यूरो की अध्यक्षता में हुई उच्च-स्तरीय समन्वय बैठक में लाल किले पर खालिस्तानी झंडा फहराने के लिए प्रतिबंधित संगठन सिख फॉर जस्टिस (एसएफजे) के इरादों की जानकारी दी गई थी और सभी हितधारकों के साथ इसका जवाब देने के लिए उठाए जाने वाले कदमों पर चर्चा की गई थी।

बताया जा रहा है कि, इस बैठक में, दिल्ली पुलिस के साथ ही खुफिया विभाग के कई अधिकारी मौजूद थे। सूत्रों की माने तो 26 जनवरी को दोपहर 12 बजे के आसपास एजेंसियों को यह भी इनपुट मिला कि ट्रैक्टर रैली निकाल रहे किसान पीएम आवास, गृह मंत्री आवास, राजपथ, इंडिया गेट और लाल किले की तरफ भी बढ़ सकते हैं। यह मेसेज दिल्ली की सुरक्षा में लगे सभी पुलिस अधिकारियों को मिला था।

पुलिस कमिशनर एसएन श्रीवास्तव ने बताया कि ट्रैक्टर रैली के दौरान भड़की हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने अभी तक इस मामले में 19 लोगों को गिरफ्तार किया है और 25 आपराधिक मामले दर्ज किए हैं। प्रदर्शनकारियों बैरिकेड तोड़कर दिल्ली में घुसे और कई इलाकों में हिंसा हुई।

पढ़ें :- ट्रैक्टर रैली के दौरान लाल किले की गुंबद पर चढ़ने वाला आरोपी हुआ गिरफ्तार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...