1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव 7 मार्च से होगा शुरू, बच्चों के लिए 1500 घंटे का होगा ये खास आयोजन

अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव 7 मार्च से होगा शुरू, बच्चों के लिए 1500 घंटे का होगा ये खास आयोजन

By आराधना शर्मा 
Updated Date

लखनऊ: JKYOG संपूर्ण मानव जाति के लाभ के लिए भव्य ऑनलाइन अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का आयोजन 7 मार्च को ऑनलाइन कर रहा है। इस ऑनलाइन उत्सव में पवित्र भगवद् गीता पर आधारित 20 से अधिक रचनात्मक प्रतियोगिताएं होनी हैं। इस महान भव्य उत्सव के आयोजन का उद्देश्य हर आयु वर्ग के प्रत्येक व्यक्ति को एक मजेदार और रचनात्मक तरीके से भगवद गीता में संलग्न करना, प्रशिक्षित करना है।

पढ़ें :- 1 अक्टूबर का राशिफल: इन 4 राशि के जातकों पर बरसेगी मां की कृपा, जाने अपनी राशि का हाल

प्रतियोगिताओं को एक अनोखे तरीके से डिज़ाइन किया गया है जिससे कि हर आयु का व्यक्ति और बच्चा आसानी से भाग ले सकता है। प्रतियोगिता श्रेणियों में सस्वर पाठ, भगवद गीता प्रश्नोत्तरी, साहित्यिक, भाषा विज्ञान, दृश्य कला, डिजिटल कला शामिल हैं। इस प्रतियोगिता के साथ जुड़ी सबसे अच्छी बात यह है कि “गीता पंडित” अद्वितीय शीर्षक नाम का पुरस्कार है, जिसे उम्मीदवार तीन या अधिक प्रतियोगिताओं में भाग लेने से जीता सकता है।

स्वामी मुकुंदानंद, संस्थापक, योगी, माइंड मैनेजमेंट पर सबसे अधिक प्रसिद्ध लेखक और अंतर्राष्ट्रीय प्राधिकरण, आईआईटी और आईआईएम एलुमनाईस कहते हैं, कि “भगवद गीता एक उदात्त दार्शनिक समझ प्रदान करने के साथ साथ आध्यात्मिक उपदेशों को रोजमर्रा की जिंदगी में लागू करने के स्पष्ट तकनीकों का भी वर्णन करता है।

स्वामी मुकुंदानंद के नेतृत्व और मार्गदर्शन में, जे के योग ने वयस्कों, युवाओं और बच्चों के लिए 1500 से अधिक घंटे का मुफ्त ऑनलाइन सत्र आयोजित किया है।

JKYog के स्वयंसेवक मुकुंद पंडित ने कहा कि “दुनिया भर में कई लोगों से इस त्योहार में शामिल होने के लिए उत्सुक है। यह उत्सव को सभी के लिए एक महान अनुभव बनाने के लिए स्वयंसेवक बहुत प्रयास कर रहे हैं। यह प्रतियोगिता बहुत रचनात्मक हैं जो कि गीता के अनमोल ज्ञान की जागरूकता लाएगी और हमारे जीवन में गीता की शिक्षाओं को लागू करने में हमारी मदद करेगी। ”

पढ़ें :- Aaj ka Panchang: आश्विन शुक्ल पक्ष षष्ठी, जाने अशुभ समय शुभ मुहूर्त और राहुकाल के बारे में...

JKYOG अपने ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम के माध्यम से हर प्रतियोगी को सर्वश्रेष्ठ बनाने के लिए प्रयत्न कर रहा है जो पिछले कुछ हफ्तों से शुरू हो चुका है। यह प्रतियोगिता सभी स्तरों के लिए है चाहे आपने भगवद गीता को पढ़ा हो या न पढ़ा हो। इसका मुख्य उद्देश्य जागरूकता लाना है ।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...