1. हिन्दी समाचार
  2. खेल
  3. अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज चंद्रो तोमर का कोरोना से निधन, कुछ दिन पहले रिपोर्ट आई थी पॉजिटिव

अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज चंद्रो तोमर का कोरोना से निधन, कुछ दिन पहले रिपोर्ट आई थी पॉजिटिव

अंतरराष्ट्रीय स्तर और राष्ट्रीय स्तर पर 50 से अधिक पदक जीतकर कामयाबी हासिल करने वाली बागपत के जौहड़ी गांव निवासी अंतरराष्ट्रीय शूटर दादी चंद्रो तोमर का शुक्रवार को निधन हो गया है। कुछ दिन पहले ही उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आ गई थी। उनका मेरठ के आनंद अस्पताल में इलाज चल रहा था। उन्हें सांस लेने में दिक्कत महसूस हो रही थी।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मेरठ । अंतरराष्ट्रीय स्तर और राष्ट्रीय स्तर पर 50 से अधिक पदक जीतकर कामयाबी हासिल करने वाली बागपत के जौहड़ी गांव निवासी अंतरराष्ट्रीय शूटर दादी चंद्रो तोमर का शुक्रवार को निधन हो गया है। कुछ दिन पहले ही उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आ गई थी। उनका मेरठ के आनंद अस्पताल में इलाज चल रहा था। उन्हें सांस लेने में दिक्कत महसूस हो रही थी।

पढ़ें :- International Flight Operations : अंतरराष्ट्रीय उड़ानें 28 फरवरी तक रहेंगी सस्पेंड ,विदेश आना-जाना हुआ मुश्किल

मूलरूप से शामली के गांव मखमूलपुर में शूटर दादी का जन्म एक जनवरी 1932 को हुआ। सोलह साल की उम्र में जौहड़ी के किसान भंवर सिंह से उनकी शादी हो गई। भरे-पूरे परिवार में निशानेबाजी सीखने की दिलचस्प कहानी है।

बता दें कि साल 1998 में जौहड़ी में शूटिंग रेंज की शुरुआत डॉ. राजपाल सिंह ने की। लाडली पौत्री शेफाली तोमर को निशानेबाजी सिखाने के लिए वह रोज घर से शूटिंग रेंज तक जाती थी। शेफाली शूटिंग सीखती और चंद्रो तोमर देखती रहती थी। एक दिन चंद्रो तोमर ने एयर पिस्टल शेफाली से लेकर खुद निशाना लगाया। पहला निशाना दस पर लगा… दादी की निशानेबाजी देख रहे बच्चों ने तालियां बजाई। यहीं से शुरू हुआ चंद्रो तोमर की निशानेबाजी का सफर।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...