1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. International yoga day 2022 : योगी बोले- मानवता के कल्याण का एकमात्र साधन योग

International yoga day 2022 : योगी बोले- मानवता के कल्याण का एकमात्र साधन योग

International yoga day 2022 : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर मंगलवार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजभवन में योगाभ्यास किया। इस मौके पर उनके साथ राज्यपाल आंनदीबेन पटेल, अन्य मंत्री और शासन के वरिष्ठ अधिकारीगण भी मौजूद रहे। राजभवन में आयोजित योग दिवस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम सब प्रधानमंत्री के ऋणी हैं, जिन्होंने भारत की ऋषि परम्परा को न केवल देश में बल्कि पूरी दुनिया में पहुंचाया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

International yoga day 2022 : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर मंगलवार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजभवन में योगाभ्यास किया। इस मौके पर उनके साथ राज्यपाल आंनदीबेन पटेल, अन्य मंत्री और शासन के वरिष्ठ अधिकारीगण भी मौजूद रहे। राजभवन में आयोजित योग दिवस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम सब प्रधानमंत्री के ऋणी हैं, जिन्होंने भारत की ऋषि परम्परा को न केवल देश में बल्कि पूरी दुनिया में पहुंचाया है। सीएम योगी ने कहा कि आज 200 देशों मे योग मनाया जा रहा है। भारत को अपनी विरासत पर गर्व करना चाहिए। इस बार योग मानवता के लिए मनाया जा रहा है।

पढ़ें :- भाजपा सांसद बोले- गांधी जी ने कराई थी सुभाष चंद्र बोस की हत्या, बढ़ा विवाद तो ये दी सफाई

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2 सालों के बाद पूरे विश्व मे योग दिवस मनाया जा रहा है। जिसकी प्रतिरोधक क्षमता अच्छी है तो वह अपने आप स्वास्थ्य है। अगर आपका शरीर निरोगी है तो आप धर्म में सफलता पा सकेंगे। योग का पहला नियम अनुशासन से जुड़ा है। हम सौभाग्यशाली है जो आजादी के अमृत महोत्सव को मना रहे हैं। हमने आजादी तो नहीं देखी, लेकिन 75वें अमृत महोत्सव के साक्षी है। प्रधानमंत्री के आह्वान पर 25 करोड़ लोग योगा करेंगे। यूपी मे 75 हज़ार से अधिक जगहों पर योगा का कार्यक्रम हो रहा है। 5 करोड़ से अधिक लोग यूपी मे योगा कर रहे हैं। जितना अच्छा कोविड का प्रबंधन भारत मे रहा वो दुनिया में कहीं नहीं दिखा।

पढ़ें :- Uddhav Thackeray ने बागी मंत्रियों के पर कतरे, वापस लिया विभाग

मुख्यमंत्री ने कहा कि योग के माध्यम से भारत ने अपनी ऋषि परंपरा के उपहार से जो कुछ भी अर्जित किया है। वह कोरोना जैसी महामारी को मात देने में भी सफल रहा है। जितना अच्छा कोविड प्रबंधन भारत का रहा, वैसा दुनिया में कहीं कोई अन्य उदाहरण नहीं है। उन्होंने कहा कि ‘न तस्य रोगो न जरा न मृत्युः प्राप्तस्य योगाग्रिमयं शरीरम्’ अर्थात् योगाभ्यास से तपा हुआ शरीर रोग, जरा एवं मृत्यु से मुक्त हो जाता है। हम सभी को योग के इस अभियान के साथ जुड़ना चाहिए। यही मानवता के कल्याण का एकमात्र साधन हो सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि योग हमें अनुशासन में बांधकर आरोग्यता की ओर और हमारे शारीरिक व मानसिक विकास की ओर लेकर जाता है। छोटी सी व्यवस्था से एक बड़े आयाम की ओर हम सभी को ले जाने का कार्य करता है। सीएम योगी ने कहा कि भारतीय मनीषा इसी बात को कहती रही है कि अगर आपका शरीर स्वस्थ है तो धर्म के सभी साधन अपने आप क्रम से सफल होते जाएंगे। जीवन में कोई भी कार्य आप सफलतापूर्वक कर पाएंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...