INX Media case : सीबीआई ने दाखिल की चार्जशीट, पी. चिदंबरम समेत इन लोगों को बनाया आरोपी

P. Chidambaram
आईएनएक्स मीडिया केस : सीबीआई ने दाखिल की चार्जशीट, पी. चिदंबरम समेत इन लोगों को बनाया आरोपी

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया केस में सीबीआई ने दिल्ली की अदालत में आरोपपत्र (चार्जशीट) दाखिल की है। 21 अक्टूबर को इस मामले में सुनवाई होगी। चार्जशीट में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम समेत 14 लोगों को आरोपी बनाया गया है।

Inx Media Case Cbi Files Charge Sheet Accused Including P Chidambaram :

गुरुवार को अदालत ने ईडी को 24 अक्टूबर तक चिदंबरम से पूछताछ करने की अनुमति दी थी। आईएनएक्स मीडिया केस में सीबीआई की ओर से दायर मामले में इसी तारीख तक चिदंबरम की न्यायिक हिरासत भी बढ़ा दी। बता दें कि, सीबीआई और ईडी ने इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी के बयान पर चिदंबरम पर शिकंजा कसा है।

आईएनएक्स मीडिया के प्रमोटर्स मुखर्जी दंपती के बयान कांग्रेस नेता के खिलाफ जांच एजेंसियों के लिए मजबूत आधार बना हुआ है। सूत्रों के मुताबिक जांच एजेंसी को दिए बयान में इंद्राणी ने कहा है कि आईएनएक्स मीडिया की अर्जी फॉरेन इनवेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (एफआईपीबी) के पास थी।

इंद्राणी ने कहा कि उन्होंने पति पीटर मुखर्जी और कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी के साथ पूर्व वित्त मंत्री के दफ्तर नॉर्थ ब्लॉक में जाकर मुलाकात की थी। इंद्राणी ने ईडी को दिए हुए बयान में बताया कि, चिदंबरम ने पीटर के साथ बातचीत की और एफडीआई वाली आईएनएक्स मीडिया की अर्जी के प्रति पीटर ने उन्हें सौंपी।

एफआईपीबी की मंजूरी के बदले चिदंबरम ने पीटर से कहा कि उनके बेटे कार्ति के बिजनेस में मदद करनी होगी। ईडी ने इस बयान को चार्जशीट में दर्ज किया और इसे कोर्ट में भी सबूत के तौर पर पेश किया।

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया केस में सीबीआई ने दिल्ली की अदालत में आरोपपत्र (चार्जशीट) दाखिल की है। 21 अक्टूबर को इस मामले में सुनवाई होगी। चार्जशीट में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम समेत 14 लोगों को आरोपी बनाया गया है। गुरुवार को अदालत ने ईडी को 24 अक्टूबर तक चिदंबरम से पूछताछ करने की अनुमति दी थी। आईएनएक्स मीडिया केस में सीबीआई की ओर से दायर मामले में इसी तारीख तक चिदंबरम की न्यायिक हिरासत भी बढ़ा दी। बता दें कि, सीबीआई और ईडी ने इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी के बयान पर चिदंबरम पर शिकंजा कसा है। आईएनएक्स मीडिया के प्रमोटर्स मुखर्जी दंपती के बयान कांग्रेस नेता के खिलाफ जांच एजेंसियों के लिए मजबूत आधार बना हुआ है। सूत्रों के मुताबिक जांच एजेंसी को दिए बयान में इंद्राणी ने कहा है कि आईएनएक्स मीडिया की अर्जी फॉरेन इनवेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (एफआईपीबी) के पास थी। इंद्राणी ने कहा कि उन्होंने पति पीटर मुखर्जी और कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी के साथ पूर्व वित्त मंत्री के दफ्तर नॉर्थ ब्लॉक में जाकर मुलाकात की थी। इंद्राणी ने ईडी को दिए हुए बयान में बताया कि, चिदंबरम ने पीटर के साथ बातचीत की और एफडीआई वाली आईएनएक्स मीडिया की अर्जी के प्रति पीटर ने उन्हें सौंपी। एफआईपीबी की मंजूरी के बदले चिदंबरम ने पीटर से कहा कि उनके बेटे कार्ति के बिजनेस में मदद करनी होगी। ईडी ने इस बयान को चार्जशीट में दर्ज किया और इसे कोर्ट में भी सबूत के तौर पर पेश किया।