जाने कब से भारत में iPhone X का होगा प्रॉडक्शन

जाने कब से भारत में iPhone X का होगा प्रॉडक्शन
जाने कब से भारत में iPhone X का होगा प्रॉडक्शन

नई दिल्ली। ताइवान की कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरर कंपनी फॉक्सकॉन ऐपल के लिए जुलाई से भारत में प्रॉडक्शन शुरू करने जा रही है। बताया जा रहा है कि कंपनी चेन्नई में 160 एकड़ में फैली फैक्ट्री में iPhone x रेंज के स्मार्टफोन्स बनाएगी। इस बात की जानकारी फॉक्सकॉन के भारतीय प्लान की जानकारी रखने वाले लोगों ने ईटी को दी है। 

Iphone X Production In India From July :

कंपनी ने इस योजना के साथ प्रोडक्शन की शुरुआत की है कि भविष्य में उत्पादन क्षमता बढ़ा सके और दूसरे मॉडल्स के उत्पादन भी हो सके। कंपनी के एक अधिकारी ने इस बारे में बताया कि उत्पादन में वृद्धि अगली सरकार में अनुकूल प्रोत्साहन की निरंतरता सहित अन्य कारकों पर निर्भर होगी। फॉक्सकॉन और ऐपल ने इस मामले में ईमेल से पूछे गए सवालों का जवाब नहीं दिया है। 

बता दें कि कंपनी ने भारत में मैन्युफैक्चरिंग की शुरुआत एक अन्य ताइवानी कंपनी विस्ट्रॉन के साथ की थी। विस्ट्रॉन ने 2 साल पहले यहां iPhone SE का उत्पादन शुरू किया और फिर iPhone 6S मॉडल के फोन भी बनाए गए। विस्ट्रॉन अब आईफोन 7 का निर्माण कर रही है। 

इस बारे में विश्लेषकों का कहना है कि मल्टिनैशनल टैक्नॉलजी कंपनीज भारतीय बाजार के लिए उत्सुक हैं और इस वजह से भी लोकल मैन्युफैक्चरिंग बढ़ाई जाएगी। 2018 में भारत में 29 करोड़ हैंडसेट असेंबल हुए, जबकि 2014 में केवल 5.9 करोड़ फोन यहां असेंबल हुए थे। 

नई दिल्ली। ताइवान की कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरर कंपनी फॉक्सकॉन ऐपल के लिए जुलाई से भारत में प्रॉडक्शन शुरू करने जा रही है। बताया जा रहा है कि कंपनी चेन्नई में 160 एकड़ में फैली फैक्ट्री में iPhone x रेंज के स्मार्टफोन्स बनाएगी। इस बात की जानकारी फॉक्सकॉन के भारतीय प्लान की जानकारी रखने वाले लोगों ने ईटी को दी है। 

कंपनी ने इस योजना के साथ प्रोडक्शन की शुरुआत की है कि भविष्य में उत्पादन क्षमता बढ़ा सके और दूसरे मॉडल्स के उत्पादन भी हो सके। कंपनी के एक अधिकारी ने इस बारे में बताया कि उत्पादन में वृद्धि अगली सरकार में अनुकूल प्रोत्साहन की निरंतरता सहित अन्य कारकों पर निर्भर होगी। फॉक्सकॉन और ऐपल ने इस मामले में ईमेल से पूछे गए सवालों का जवाब नहीं दिया है। 

बता दें कि कंपनी ने भारत में मैन्युफैक्चरिंग की शुरुआत एक अन्य ताइवानी कंपनी विस्ट्रॉन के साथ की थी। विस्ट्रॉन ने 2 साल पहले यहां iPhone SE का उत्पादन शुरू किया और फिर iPhone 6S मॉडल के फोन भी बनाए गए। विस्ट्रॉन अब आईफोन 7 का निर्माण कर रही है। 

इस बारे में विश्लेषकों का कहना है कि मल्टिनैशनल टैक्नॉलजी कंपनीज भारतीय बाजार के लिए उत्सुक हैं और इस वजह से भी लोकल मैन्युफैक्चरिंग बढ़ाई जाएगी। 2018 में भारत में 29 करोड़ हैंडसेट असेंबल हुए, जबकि 2014 में केवल 5.9 करोड़ फोन यहां असेंबल हुए थे।