आईपीएल-10: मुंबई ने हैदराबाद को चार विकेट से हराया

मुंबई| गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद नीतीश राणा (45) और क्रुणाल पांड्या (37) की शानदार पारियों के दम पर मुंबई इंडियंस ने इंडियन प्रीमियर लीग के 10वें संस्करण में बुधवार को सनराइजर्स हैदराबाद को चार विकेट से हरा दिया। सनराइजर्स पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 158 रन ही बना सकी थी। मुंबई ने इस लक्ष्य का आठ गेंद शेष रहते हुए छह विकेट खोकर हासिल कर लिया।
यह सनराइजर्स की इस संस्करण की पहली हार है वहीं मुंबई की पहली जीत।




मुंबई की इस जीत में एक बार फिर नीतीश का अहम योगदान रहा। उन्होंने 36 गेंदों में दो चौके और तीन छक्के की मदद से मैच जीताऊ पारी खेली। उनके अलावा क्रुणाल ने अंत में तेजी से 20 गेंदों में तीन चौके और इतने की छक्के लगाकर टीम को जीत की दहलीज पर पहुंचाया। आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई को हालांकि मनमाफिक शुरुआत नहीं मिली। उसके सलामी बल्लेबाज जोस बटलर (14) 28 के कुल स्कोर पर अशीष नेहरा की गेंद पर बोल्ड हो गए। कप्तान रोहित शर्मा (4) 41 के कुल स्कोर पर अफगानिस्तान के स्पिनर राशिद खान की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए।

दूसरे छोर पर खड़े पार्थिव पटेल (39) को पिछले मैच के हीरो नितीश का साथ मिला दोनों ने टीम को अच्छे से संभाला। इसी बीच पार्थिव दीपक हुड्डी की गेंद पर चीप करने गए और भुवनेश्वर कुमार ने उनका शानदार कैच लपक उन्हें पवेलियन लौटा दिया। राणा ने अपने अंदाज में बल्लेबाजी चालू रखी। दूसरे छोर पर केरन पोलार्ड (11) ने उनका साथ देने की कोशिश की, लेकिन वह कुछ खास नहीं कर सके और भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर शिखर धवन को कैच दे बैठे। उनके बाद आए क्रुणाल पांड्या ने पोलार्ड की कमी को पूरा किया और तेजी से रन बटोरे। उन्होंने राणा के साथ पांचवें विकेट के लिए 38 रन की साझेदारी की जिसमें सिर्फ एक रन राणा का था। वह 18वें ओवर की पहली गेंद पर भुवनेश्वर का शिकार बने। इसी ओवर में राणा भी पवेलियन लौट गए थे।

इससे पहले बल्लेबाजी का आमंत्रण मिलने के बाद सनराइजर्स अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा सकी और निर्धारित 20 ओवरों में आठ विकेट खोकर 158 रन ही बना सकी। इसमें मैन ऑफ द मैच जसप्रीत बुमराह का अहम योगदान रहा। उन्होंने अपने कोटे के चार ओवरों में महज 24 रन दिए और तीन विकेट लिए। सनराइजर्स की सलामी जोड़ी धवन (48) और कप्तान डेविड वार्नर (49) ने बड़े स्कोर की नींव रख दी थी, लेकिन दोनों के पवेलियन लौटने के बाद मध्यक्रम और निचले क्रम के बल्लेबाज खास नहीं कर सके और नियमित अंतराल पर अपने विकेट गंवाते रहे।

वार्नर और धवन ने 10.2 ओवरों में टीम का स्कोर 81 रनों तक पहुंचा दिया था। इस मजबूत साझेदारी को मुंबई के अनुभवी गेंदबाज हरभजन सिंह ने तोड़ा। उन्होंने वार्नर को पवेलियन भेजा। यहां से मुंबई के गेंदबाज सनराइजर्स पर हावी हो गए। हरभजन ने ही हुड्डा (9) को पोलार्ड के हाथों कैच करा सनराइजर्स को दूसरा झटका दिया। अर्धशतक की ओर बढ़ रहे धवन दो रन से चूक गए और मिशेल मैक्लेघन की फुलटॉस पर अपने विकेट उखड़वा बैठे। युवराज सिंह (5) को हार्दिक पांड्या ने अपना शिकार बनाते हुए सनराइजर्स को चौथा झटका दिया।




बेन कटिंग ने मध्य में जरूर 10 गेंदों में चार चौकों की मदद से 20 रन बनाकर सनराइजर्स के बड़े स्कोर की उम्मीद जगाई, लेकिन जसप्रीत बुमराह ने बेहतरीन यार्कर फेंक उनकी गिल्लियां बिखेर कटिग को पवेलियन भेज दिया। अपना पहला आईपीएल मैच खेल रहे विजय शंकर (1) सिर्फ दो गेंदों का सामना कर सके। लसिथ मलिंगा ने उन्हें पवेलियन की राह दिखाई। बुमराह ने अंतिम ओवर में नमन ओझा (9) को पोलार्ड के हाथों सीमारेखा पर कैच करा उनकी पारी समाप्त की। इसी ओवर में उन्होंने राशिद खान (2) को आउट कर अपना तीसरा विकेट हासिल किया। मुंबई की तरफ से बुमराह को तीन, हरभजन को दो, मलिंगा, मैक्लेघन और हार्दिक को एक-एक सफलता मिली।

Loading...