आईपीएल-10: रोमांचक मुकाबले में मुंबई ने कोलकाता को चार विकेट से हराया

मुंबई| मनीष पांडेय (नाबाद 81) की बेहतरीन बल्लेबाजी के बावजूद खराब क्षेत्ररक्षण के चलते कोलकाता नाइट राइडर्स रविवार को वानखेड़ स्टेडियम में हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 10वें संस्करण के सातवें मैच में मुंबई इंडियंस से चार विकेट से हार गए। कोलकाता से मिले 179 रनों के चुनौतीपूर्ण लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई ने एक गेंद शेष रहते छह विकेट पर 180 रन बना मैच जीत लिया, जिसके नायक नीतीश राणा (50) रहे।




सत्र में मुंबई की दूसरे मैच में यह पहली जीत है, जबकि कोलकाता की दूसरे मैच में पहली हार है। पार्थिव पटेल (30) और जोस बटलर (28) की सलामी जोड़ी ने 7.3 ओवरों में 65 रन जोड़ते हुए मुंबई को सधी शुरुआत दिलाई। लेकिन यहां कोलकाता के गेंदबाजों ने वापसी की और पटेल, बटलर तथा रोहित शर्मा (2) के विकेट लगातार अंतराल पर चटकाते हुए मैच में वापसी के संकेत दिए। इसके बाद मैदान पर आए क्रुणाल पांड्या (11) ने राणा के साथ तेजी से अगली 14 गेंदों में 23 रन बटोरे।

हालांकि अंकित राजपूत ने 13वें ओवर की पहली गेंद पर क्रुणाल को चलता कर कोलकाता की उम्मीद बचाए रखी। क्रुणाल विकेट के पीछे रॉबिन उथप्पा के हाथों लपके गए। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए केरन पोलार्ड (17) ने आने के साथ ही तीसरी गेंद पर छक्का जड़ा, लेकिन 13वें ओवर से 16वें ओवर के बीच चार ओवरों में मुंबई सिर्फ 20 रन जोड़ सकी और उसका आस्किंग रेट 15 पर पहुंच गया।

क्रिस वोक्स ने 119 के कुल योग पर पोलार्ड को पवेलियन की राह दिखाई। पोलार्ड का कैच स्थानापन्न क्षेत्ररक्षक ऋषि धवन ने लपका। पुणे के खिलाफ अपने पिछले मैच में आखिरी ओवर में 30 रन ठोकने वाले हार्दिक पांड्या (नाबाद 29), राणा का साथ देने उतरे। दोनों बल्लेबाजों ने यहां से आतिशी बल्लेबाजी शुरू की और अगली 14 गेंदों में चार चौके और तीन छक्के की मदद से 41 रन जोड़ डाले।

इस बीच राणा ने 28 गेंदों में पांच चौका और तीन छक्के की मदद से अपना अर्धशतक पूरा किया। हालांकि अर्धशतक पूरा करने के बाद वह सिर्फ दो गेंद और खेल सके। राजपूत की गेंद पर सुनील नरेन ने राणा का कैच लपका। राणा ने 29 गेंदों का सामना करते हुए पांच चौके और तीन छक्के लगाए। राणा जब पवेलियन लौटे तो मुंबई को जीत के लिए नौ गेंदों में 19 रनों की दरकार थी। हार्दिक ने इसी ओवर में एक छक्का लगाया और मुंबई आखिरी ओवर में जीत से 11 रन दूर रह गई थी।

कोलकाता ने इस बीच क्षेत्ररक्षण में कई गलतियां कीं, बाउंड्री रोकने में असफल साबित हुए, कैच छोड़े और रन आउट करने के मौके गंवाए। आखिरी ओवर की चौथी गेंद पर हार्दिक का आसान सा कैच धवन ने छोड़ दिया, जिसका खामियाजा कोलकाता को भुगतना पड़ा। हार्दिक ने अगली ही गेंद पर चौका जड़कर अपनी टीम को जीत दिलाई। हार्दिक ने 11 गेंदों की अपनी नाबाद मैच जिताऊ पारी में तीन चौके और दो छक्के जड़े।

कोलकाता के लिए अंकित राजपूत ने सर्वाधिक तीन विकेट लिए। वोक्स, नरेन और कुलदीप यादव को एक-एक विकेट मिला। इससे पहले, टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी कोलकाता ने मनीष की आतिशी पारी की बदौलत निर्धारित 20 ओवरों में सात विकेट 178 रनों का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। कोलकाता ने तेज शुरुआत की, हालांकि कप्तान गौतम गंभीर (19) का विकेट सस्ते में गिर गया। गंभीर पांचवें ओवर की दूसरी गेंद पर 44 के कुल योग पर क्रुणाल पांड्या का शिकार हुए।

रॉबिन उथप्पा (4) भी इसी ओवर की पांचवीं गेंद पर ऊंचा शॉट खेलने के प्रयास में हार्दिक पांड्या के हाथों लपके गए। पिछले मैच में गुजरात लायंस पर शानदार जीत दिलाने वाले क्रिस लिन (32) भी जल्द ही जसप्रीत बुमराह की गेंद पर पगबाधा हो पवेलियन लौट गए। क्रुणाल पांड्या ने अपने अगले ही ओवर में यूसुफ पठान (6) का विकेट चटका कोलकाता को बैकफुट पर धकेल दिया। क्रिस लिन आठवें ओवर में पवेलियन लौटे और अगले पांच ओवरों में कोलकाता सिर्फ 24 रन जोड़ सकी।




कोलकाता बड़े स्कोर की ओर बढ़ती नजर नहीं आ रही थी, लेकिन मिशेल मैक्लेनघन द्वारा लाए गए पारी के आखिरी ओवर में 23 रन जोड़कर मनीष ने अपनी टीम को सम्मानजनक योग दिलाया। मनीष ने 47 गेंदों में पांच चौका और इतने ही छक्के लगाए और अंत तक नाबाद रहे। मुंबई के लिए क्रुणाल ने सर्वाधिक तीन विकेट लिए। क्रुणाल ने सबसे किफायती गेंदबाजी भी की। उन्होंने चार ओवरों के अपने स्पेल में 24 रन दिए। लसिथ मलिंगा को दो और मैक्लेनघन तथा जसप्रीत बुमराह को एक-एक विकेट मिला। हरभजन सिंह कोई विकेट हासिल नहीं कर सके।

Loading...