आईपीएल-10: अमला के शतक पर बटलर, राणा की पारी पड़ी भारी, मुंबई जीता

इंदौर| जोस बटलर (77) के नेतृत्व में अपने बल्लेबाजों के हैरतअंगेज प्रदर्शन के दम पर मुम्बई इंडियंस टीम ने गुरुवार को होल्कर स्टेडियम में खेले गए इंडियन प्रीमियर लीग के 10वें संस्करण के 22वें राउंड रोबिन लीग मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब को आठ विकेट से हरा दिया। पंजाब ने हाशिम अमला (नाबाद 104) के करियर के पहले टी-20 शतक की बदौलत मुम्बई के सामने 199 रनों का विशाल लक्ष्य रखा। मुम्बई ने शानदार शुरुआत की और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा और अपने सामने आए अब तक के सबसे बड़े लक्ष्य को आसानी से हासिल कर लिया।




बटलर के अलावा उसके लिए नितीश राणा ने नाबाद 62 रनों की नायाब पारी खेली। पार्थिव पटेल ने भी 37 रन बनाए। मुम्बई ने जीत के लिए जरूरी रन 15.3 ओवरों में दो विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिए। मुम्बई ने 27 गेंदें शेष रहते विजयश्री हासिल कर ली। पटेल और बटलर ने पहले विकेट के लिए 81 रनों की साझेदार की। पटेल का विकेट मार्कस स्टोइनिस ने लिया। पटेल ने 18 गेंदों पर चार चौके और दो छक्के लगाए। दोनों ने आईपीएल इतिहास में पावरप्ले के दौरान सबसे बड़ी साझेदारी का रिकार्ड अपने नाम किया।

इसके बाद बटलर का साथ देने आए राणा ने एक बेहतरीन पारी खेली और दूसरे विकेट के लिए 42 गेंदों पर 85 रनों की साझेदारी की। राणा ने इस मैच के जरिए एक अनोखा रिकार्ड अपने नाम किया। 56 के कुल योग पर पहुंचने के साथ वह बिना चौके के आईपीएल में सबसे बड़ी पारी खेलने वाले बल्लेबाज बने। तीसरे क्रम पर खेलते हुए बीती चार पारियों में चार अर्धशतक लगाने वाले राणा ने 34 गेंदों का सामना कर सात छक्के लगाए जबकि अपने करियर की अब तक की सबसे बड़ी टी-20 पारी खेलने वाली बटलर 37 गेंदों पर सात चौके और चार छक्के लगाते हुए मुम्बई को आसानी से जीत तक ले गए।

बटलर का विकेट 166 के कुल योग पर गिरा। इंग्लिश खिलाड़ी को मोहित शर्मा ने कप्तान ग्लेन मैक्सवेल के हाथों कैच कराया। बटलर का साथ देने आए हार्दिक पंड्या (नाबाद 15) ने उन्हीं की अंदाज में खेलते हुए राणा के साथ मिलकर अपनी टीम को बड़ी जीत तक पहुंचा दिया। हार्दिक ने 4 गेंदों का सामना कर दो चौके और -एक छक्का लगाया। इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 14 गेंदों पर 33 रन जोड़े। पंजाब की ओर से इशांत शर्मा सबसे महंगे साबित हुए। इशंत ने चार ओवर में 58 रन लुटाए जबकि उनके हाथ एक भी विकेट नहीं लगा।

इससे पहले, हाशिम अमला (नाबाद 104) की शतकीय पारी के दम पर किंग्स इलेवन पंजाब ने 20 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 198 रन बनाए। अमला का यह टी-20 क्रिकेट में पहला शतक है। अमला जिस तरह बल्लेबाजी कर रहे थे उसके आगे मुंबई का मजबूत गेंदबाजी आक्रमण बेबस नजर आया। अमला ने मुंबई के प्रमुख गेंदबाज लसिथ मलिंगा की गेंदों पर अकेले 51 रन बनाए। आखिरी ओवर फेंकने आए मलिंगा की पहली गेंद पर छक्का जड़ते हुए अपना शतक पूरा किया। इसकी अगली गेंद पर भी उन्होंने छह रन बोटरे।

अमला ने अपनी पारी में 60 गेंदें खेलीं और छह छक्के तथा आठ चौके मारे। मलिंगा ने अपने चार ओवरों में 58 रन दिए और उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला। मनन वोहरा के बीमार होने के कारण इस मैच में उतरे शॉन मार्श (26) ने अमला के साथ मिलकर पंजाब को अच्छी शुरुआत दी। दोनों ने मुंबई के आक्रमण का कुशलता से सामना किया और 5.5 ओवरों में 46 रन बनाए। मार्श को मिशेल मैक्लेघन ने केरन पोलार्ड के हाथों कैच कराया। मार्श ने आउट होने से पहले मुंबई के खिलाफ आईपीएल में 500 रन पूरे कर लिए थे। उनसे पहले सिर्फ सुरेश रैना और महेंद्र सिंह धौनी ही ऐसा कर पाए हैं।

मार्श के आउट होने के बाद भी अमला ने अपना खेल जारी रखा। दूसरे छोर पर खड़े रिद्धिमान साहा (11) ने अमला को स्ट्राइक दी और उन्हें तेजी से रन करने दिए। साहा को क्रुणाल पांड्या ने बोल्ड किया। पंजाब का दूसरा विकेट गिर जाने के बाद कप्तान ग्लेन मैक्सवेल ने अमला का साथ दिया और दोनों ने मिलकर तेजी से रन बटोरते हुए महज 5.3 ओवरों में 15.09 की औसत से 83 रनों की साझेदारी की। मैक्सवेल ने अपने अंदाज में बल्लेबाजी की और 18 गेंदों में 40 रनों की पारी खेली जिसमें तीन छक्के और चार चौके शामिल थे।



मैक्सवेल की तूफानी पारी पर अंतिम ओवरों के विशेषज्ञ जसप्रीत बुमराह ने ब्रेक लगाया। मैक्सवेल बुमराह की धीमी गेंद को भांप नहीं पाए और जल्दी शॉट खेलकर बोल्ड हो गए। अगले ओवर में मैक्लेघन ने मार्कस स्टोइनिस (1) को सीमारेखा पर पोलार्ड के हाथों कैच कराया। इसके बाद ज्यादतर गेंदें अमला ने खेलीं और पंजाब को विशाल स्कोर तक पहुंचाया। अक्षर पटेल चार रन पर नाबाद लौटे।