आईपीएल में सट्टा लगाने वाले चार सटोरियों को एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

Ipl Me Satta Lagane Wale Char Satoriyo Ko Stf Ne Kiya Giraftar

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कानपुर में आईपीएल के मैचों पर सट्टा खिलवाने वाले चार सटोरियों को एसटीएफ की टीम ने जनपद के तीन स्थानों से धर दबोचा हैं। मौके से करीब 19 लाख रुपए, दर्जनों मोबाइल फोन, रजिस्ट्रर व अन्य सामान बरामद हुआ हैं।विगत कुछ समय से आईपीएल क्रिकेट मैचों के दौरान विभिन्न टीमों पर हार जीत की बाजी लगाकर लाभ कमाने के उद्देश्य से सट्टा लगाने वाले संगठित गिरोह के बारे में एसटीएफ को जानकारी मिल रही थी। जिस पर सर्विलांस की मदद से लगातार नजर रखी जा रही थी।




इसी बीच सटीक सुचना मिलने पर एसटीएफ कानपुर इकाई की टीम ने कानपुरनगर में तीन स्थानों पर फ्लैट नंबर-407, थर्ड फ्लोर, सरस्वती एपार्टमेंट, साकेतनगर, थाना किदवईनगर, मकान नंबर 13/4, नटराज एन्क्लेव, सेक्टर-एच, किदवईनगर तथा मकान नंबर 18/263, कुरसवां, थाना फीलखाना, कानपुरनगर में छापेमारी की। इस दौरान एसटीएफ ने आईपीएल क्रिकेट मैचों के दौरान विभिन्न टीमों पर हार जीत की बाजी लगाकर लाभ कमाने के उद्देश्य से सट्टा व्यवसाय संचालित किया जा रहा था। सटीक सूचना पर एसटीएफ ने तीन स्थानों पर छापेमारी करके चार लोगों को धर दबोचा। पकड़े गए अभियुक्तों ने अपने नाम संदीप श्रीवास्तव पुत्र वीके श्रीवास्तव निवासी फ्लैट नं0-407, थर्ड फ्लोर, सरस्वती एपार्टमेंट, साकेतनगर, थाना किदवईनगर, कानपुरनगर, जसमीत पुत्र कुलतार सिंह निवासी 113, नार्थजहानाबाद, छोटीबाजार, रायबरेली, कानपुरनगर के किदवईनगर सेक्टर-एच निवासी दीपक लाम्बा पुत्र गुरुदयाल लॉबा और कानपुर के फीलखाना कुरसवां निवासी राजेश अग्रवाल पुत्र बिहारी लाल बताया।

जिनके पास से करीब साढ़े 19 लाख रुपए की नगदी, 13 मोबाइल फोन, एक रिलायंस का फोन, एक लैपटॉप, टीवी और सट्टे के हिसाब का दो रजिस्ट्रर बरामद हुआ। पकड़े गए संदीप श्रीवास्तव ने पूछताछ पर बताया कि उसने डालीगंज मेन मार्केट से सट्टे का काम सीखा है और वर्ष-2004 से इसी धंधे मेंं है। बताया कि मेरे पास जो प्लेयर खेलते हैं वो मेरे परिचित होते थे या किसी परिचित के माध्यम से आते थे। उसके पास अलग अलग नम्बर होते थे, जिससे वह उनको मैच का भाव बताता व लगाता था। उन प्लेयरों को वह एक कोड देता था, जो वह फोन पर उसे बताकर पैसा लगाते थे। पैसे का हिसाब मैच के दूसरे दिन होता था। वहीं दीपक लाम्बा ने पूछताछ पर बताया कि वह मोबाइल शॉप पर काम करता था। इसी दौरान सट्टे का धंधा करने वाले कुछ व्यक्तियों के सम्पर्क में आने के बाद वह भी इस कार्य में लिप्त हो गया और नेट के जरिये भाव लेकर खुद ही सट्टा खिलाने लगा।




यह भी बताया कि आज आईपीएल में हैदराबाद व पूणे की टीमों के मध्य होने वाले मैच में फेवरिट टीम हैदराबाद थी, जिसका भाव 50 पैसे था तथा दूसरी टीम पूणे पर 1.60 पैसे का भाव था। दीपक लाम्बा ने बताया कि वह प्रत्येक दिन 30 से 35 लाख रूपये का धंधा करता है। आईपीएल के इसी सत्र में वह लगभग 12 करोड़ से ऊपर का सट्टा खिला चुका है। वहीं राजेश अग्रवाल ने पूछताछ पर बताया कि वह सिविल लाइन, कानपुरनगर स्थित पैशन गु्रप ऑफ कंपनीज में कमोडिटी ट्रेडिंग का कार्य करता है। इसके साथ-साथआईपीएल मैचों में सट्टेबाजी भी विगत तीन वर्षो से कर रहा है। अपने मोबाइल फोन में क्रिकलाइन एप के माध्यम से मैच के दौरान भाव लेता व देता है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कानपुर में आईपीएल के मैचों पर सट्टा खिलवाने वाले चार सटोरियों को एसटीएफ की टीम ने जनपद के तीन स्थानों से धर दबोचा हैं। मौके से करीब 19 लाख रुपए, दर्जनों मोबाइल फोन, रजिस्ट्रर व अन्य सामान बरामद हुआ हैं।विगत कुछ समय से आईपीएल क्रिकेट मैचों के दौरान विभिन्न टीमों पर हार जीत की बाजी लगाकर लाभ कमाने के उद्देश्य से सट्टा लगाने वाले संगठित गिरोह के बारे में एसटीएफ को जानकारी मिल रही थी। जिस…