1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. यूपी में नए डीजीपी की रेस में इनका नाम है आगे

यूपी में नए डीजीपी की रेस में इनका नाम है आगे

उत्तर प्रदेश में नए पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) का नाम लगभग तय हो गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश के डीजीपी के तौर आईपीएस अधिकारी देवेन्द्र सिंह चौहान (Devendra Singh Chauhan) का नाम लगभग तय हो गया है। देवेन्द्र सिंह चौहान (Devendra Singh Chauhan) 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और मूलत: उत्तर प्रदेश के मैनपुरी के रहने वाले हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में नए पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) का नाम लगभग तय हो गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश के डीजीपी के तौर आईपीएस अधिकारी देवेन्द्र सिंह चौहान (Devendra Singh Chauhan) का नाम लगभग तय हो गया है। देवेन्द्र सिंह चौहान (Devendra Singh Chauhan) 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और मूलत: उत्तर प्रदेश के मैनपुरी के रहने वाले हैं।

पढ़ें :- Pariksha Pe Charcha-2023 : सीएम योगी ने CMS स्कूल पर साधा निशाना, बोले-जब जगदीश गांधी जैसे संस्थापक होंगे तो बच्चों पर पढ़ाई का दबाव तो बढ़ेगा ही
फिलहाल देवेन्द्र सिंह चौहान (Devendra Singh Chauhan) से लेकर राजकुमार विश्वकर्मा समेत 1987 और 1988 बैच के कई आईपीएस अधिकारियों के नाम सत्ता के गलियारों में तैर रहे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश के डीजीपी के तौर आईपीएस अधिकारी देवेन्द्र सिंह चौहान (IPS Devendra Singh Chauhan)  1988 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और मूलतः उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले के रहने वाले हैं। इस समय देवेन्द्र सिंह चौहान (Devendra Singh Chauhan)  डीजी विजलेंस के पद पर तैनात हैं। उनकी छवि बेहद ईमानदार और साफ सुथरी कही जाती हे। बता दें कि देवेन्द्र सिंह चौहान (Devendra Singh Chauhan) 1988 बैच के डीजी रैंक अधिकारी हैं। वह मेहनती और कुशल अधिकारी माने जाते हैं।
इसी तरह वर्ष 1988 बैच में आरके विश्वकर्मा,  अनिल कुमार अग्रवाल, आनंद कुमार व असित कुमार पंडा भी दावेदार हैं। इसमें आनंद कुमार 2024 में रिटायर होंगे जबकि आरके विश्वकर्मा,देवेन्द्र सिंह चौहान (Devendra Singh Chauhan)  व अनिल कुमार अग्रवाल का सेवाकाल वर्ष 2023 तक है।उत्तर प्रदेश के नए डीजीपी के लिए दावेदारों में वर्ष 1987 और 1988 बैच में ज्यादा दावेदारों में डीजी राजेन्द्र पाल सिंह का 2023 में और डीजी फायर विश्वजीत महापात्रा का रिटायरमेंट 2022 में है।
यूपी की योगी सरकार ने बुधवार को बड़ा फैसला लेते हुए यूपी पुलिस के महानिदेशक मुकुल गोयल को शासकीय कार्यों की अवहेलना करने , विभागीय कार्यों में रुचि न लेने एवं अकर्मण्यता के चलते DGP पद से मुक्त कर करते हुए डीजी नागरिक सुरक्षा के पद पर तबादला कर दिया है । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार डीएस चौहान यूपी पुलिस के नए महानिदेशक बनाए जा सकते हैं।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...