11 स्टेट में तैनात रह चुके ये IPS हैं गरीबों के मसीहा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पुलिस विभाग के सम्मान और प्रोत्साहन के लिए 9 से 11 दिसम्बर तक पुलिस वीक मनाया जाएगा। आज हम आपको एक ऐसे आईपीएस के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होने समाज के लोगों को जल संचयन के लिए जागरूक किया है और बुंदेलखंड के कई इलाकों को सूखे की परेशानी से भी राहत दिलाया है। उन्होने समाज की इस समस्याओं के लिए अपनी सैलरी का 5 फीसदी हिस्सा दे दिया।




किस तरह से सैलरी से की दूसरों की मदद

* वर्तमान में एडीजी के पद पर तैनात महेंद्र मोदी ने झांसी के कंचनपुर के 150 गाँव में पानी की समस्याओं को दूर किया है।
* साल 2008 में झांसी में डीआईजी के पद रहे महेंद्र मोदी ने बुंदेलखंड में पानी की समस्याओं के लिए बड़े पैमाने पर काम किया है।
* कंचनपुर के लिए उन्होने 40 हजार के पानी के टैंक और गौशाला के लिए बारिश के पानी से 6300 लीटर पानी। आपको बता दें कि साल भर में गौशाला के लिए करीब 9 लाख 18 हजार लीटर पानी की जरूरत पड़ती है।
* महेंद्र मोदी ने झांसी के कंचनपुर में भारत माता की मंदिर की छत पर 3 चेम्बर बनवाए हैं ये चेम्बर पानी को फ़िल्टर करने में मदद करते हैं।
* इस फ़िल्टर से लगभग 10 हजार लीटर पानी फ़िल्टर होता हैं। सालभर में 1 लाख 43 हजार लीटर पानी पीने लायक मिल जाएगा।
* उन्होने बताया कि यूपी ही नहीं बल्कि 11 राज्यों में 152 रीचार्ज वॉटर टैंक बनवाए गए हैं।
* उन्होने कहा कि यह काम मैंने श्रम दान और अपनी सैलरी से 5% के खर्च तैयार किया है।




कैसे रखे पानी को सुरक्षित

* उन्होंने बताया कि 12 फिट गहरे तालाब में 9 फिट ऊंचे सीमेंट से बने 2 पिलर बनाया जाये, जिससे तलब तीन हिस्से में बात जाएगा। इससे पानी का वाष्पीकरण कम होगा।
* इसके लिए 1-1 हजार लीटर की 2 टंकियां लें और बारिश के पानी को स्टोर करें।
* इस पानी का उपयोग हम घरेलू कामों में करीब 5 महीने तक किया जा सकता है।